योग्यता देखी जाए तो दूर दूर तक कोई तुलना नही फिर भी जिसे जात पात देखना हो, क्या किया जाये

0

एक सभा के दौरान संजय गांधी ने जानबूझ कर अपना जूता पांव से निकाल के फैंका था , उसे उठा के लाने वाले पांचवीं पास ज्ञानी जैल सिंह को बाद में कांग्रेस ने भारत का राष्ट्रपति बनाया l

इंदिरा की रसोइया और अन्य कार्यों की प्रतिभा के कारण श्रीमती पाटिल को कांग्रेस ने बाद में राष्ट्रपति बनाया ।

दूसरी तरफ एनडीए की तरफ से क्या नाम लाये गये – परम आदरणीय डॉक्टर भारत रत्न अब्दुल कलाम साहब और अब राम नाथ कोविंद जी l

* अब्दुल कलाम वैज्ञानिक थे, मिसाइल मैन के नाम से मशहूर थे, परमाणु वैज्ञानिक भी थे, ईमानदार स्वच्छ जितनी तरफ की जाये उतनी कम है

* और रामनाथ कोविंद LLB पास है, सुप्रीम कोर्ट में वकालत कर चुके है, सालों तक बीजेपी के कई विभागों के प्रमुख रहे है, सालों तक बिहार के राज्यपाल रहे है

काबिलियत देखी जाए तो दूर दूर तक कोई तुलना नही की जा सकती । फिर भी जिसे जात मजहब देखना हो उसकी बुद्धिहीनता भी कमाल होगी

Loading...

Leave a Reply