यूपी वालों यादव सरकार को इसका जवाब देना , ये है घोर सांप्रदायिक जिहादी सरकार

0

2017 में यूपी की जनता को अपने मुख्यमंत्री से हिसाब तो लेना ही चाहिए क्योंकि खुद को सेक्युलर कहने वाले ये लोग घोर सांप्रदायिक और जातिवादी है, और अभी 2 मिनट में ये बाद साबित होगी ऊपर की तस्वीर देखिये, ड्यूटी करता हुआ एक पुलिस अफसर क़त्ल कर दिया गया
इसके परिवार को अखिलेश यादव सरकार ने 20 लाख का मुआवजा दिया, न कोई नौकरी और इसके अलावा कुछ नहीं, इसका नाम संतोष कुमार था अब देखिये, नीचे की तस्वीर इसी यूपी में एक मुस्लिम पुलिस अफसर भी मारा गया था

नाम था जिया उल हक, चूँकि वो मुस्लिम था इसलिए उसके परिवार को 55 लाख और बीवी को अफसर की नौकरी और उसके साले को भी अफसर की नौकरी खुद अखिलेश यादव इसके घर भी गया था

अब ये नीचे की तस्वीर देखिये, ये है मुहम्मद अख़लाक़

यूपी में गौहत्या अपराध है, इस अख़लाक़ ने गौहत्या की, और इस अपराधी को अखिलेश यादव ने दिए 45 लाख, करोडो के 4 फ्लैट और परिवार को कई कई नौकरियां खुद अखिलेश यादव इसके घर भी गए

तो कोई अलखक है, या जिया उल हक उसके लिए अलग मुआवजा, और कोई संतोष कुमार है उसके लिए अलग, ये कैसी घृणित राजनीती है, जहाँ ये सेक्युलर लोग मुवावजा भी धर्म के आधार पर कर रहे है
इसका हिसाब तो यूपी की जनता को अखिलेश से लेना ही होगा

 

Loading...

Leave a Reply