शुगर का घरेलू इलाज और आयुर्वेदिक नुस्खा इन्सुलिन लगना भी बंद हो जाएगी

0
शुगर का रामबाण इलाज

शुगर का घरेलू इलाज और आयुर्वेदिक नुस्खा आज हम आपको एक ऐसा दवा का फार्मूला बता रहें हैं जिसके सेवन करने से 1 से 3 महीने में आपकी इन्सुलिन लगना भी बंद हो सकती है. और अगर इन्सुलिन नहीं लग रही है ऐसे ही शूगर बढ़ी हुई है तो आपकी रिपोर्ट बिलकुल सही हो सकती है. Diabetes Composition शुगर का ये घरेलू इलाज इतना कारगर है की कई लोग इससे अपने घर पर ही फायदा उठा चुके हैं और आज उनकी शुगर लगभग खत्म हो गयी है

इन दवाओं के नतीजे देखने के बाद ही हम आपको ये बता रहें हैं आप भी इस फोर्मुले से बेहतर नतीजे ले सकते हैं.

शुगर का घरेलू इलाज

इसके लिए आपको 3 हर्बल दवाएं लेनी होंगी जिनका संक्षिप्त परिचय नीचे दिया गया है.

  • एंटी डायबिटिक
  • त्रिफला
  • नोनी
  • वीट ग्रास जूस

शुगर का आयुर्वेदिक नुस्खा

Trifla Ras 

त्रिफला जो हमने बनाया है वो आयुर्वेद के सही मापदंड के अनुसार 1:2:4 से बनाया है, जिसमे एक भाग हरड, दो भाग बहेड़ा, और चार भाग आंवला है. यह सदियों से आयुर्वेद में बढ़ी हुई शुगर को कम करने के लिए और जिन रोगियों के पेशाब में अधिक शर्करा आती हो उनके लिए सफलता से प्रयोग की गयी औषिधि है. यह ग्लूकोस की मात्रा को कम करने के साथ साथ पैंक्रियास की बीटा कोशिकाओं से इन्सुलिन निकलने की प्रक्रिया को भी बढ़ाती है, जिस से रक्त में इन्सुलिन की कमी नहीं आती. शुगर का घरेलू इलाज से हम अपने पैसों को भी बचा सकते हैं

Wheat Grass Juice

वीट ग्रास जूस को शरीर को Detoxify करता है, रक्त के संचरण को बढाता है जिस से डायबिटीज से होने वाले सुन्नपन में कमी होती है. यह शरीर को एल्कलाइन करता है, जिस से पैंक्रियास सही से काम करता है

शुगर का रामबाण इलाज

Noni Juice

नोनी एक चमत्कारिक फल है, डायबिटीज में कुछ विशेष प्रकार की जटिलताओं का सामना अक्सर सभी डायबिटीज के मरीजो को करना पड़ सकता है जैसे Diabetic Foot, Diabetic foot ulcer, Gangrene, Neuropathy, Retinopathy इत्यादी. डायबिटीज को कण्ट्रोल करने के साथ साथ इन सब समस्याओं में नोनी काफी कारगर है. नोनी इम्यून सिस्टम को तेज करता हैं जिससे पैंक्रियास की बीटा कोशिकाओं की कार्यक्षमता में सुधार आता है और जिससे इन कोशिकाओं से सामान्य Insulin निकलता हैं जो रक्त में ग्लूकोस की मात्र को नियमित करता हैं . नोनी का Glycemic index कम होता हैं जो रक्त में ग्लूकोस की मात्र को नियमित भी करता हैं साथ में Diabetic foot Ulcer के इलाज में भी उपयोगी होता हैं शुगर का घरेलू इलाज से हमारे शरीर पर कोई भी विपरीत प्रभाव नहीं पड़ता है

शुगर की बीमारी में परहेज

एंटी डायबिटिक जूस – इसको सुबह शाम 15 – 15 ml खाना खाने के आधा घंटे के पहले एक कप गुनगुने पानी में.

त्रिफला – इसको सुबह शाम 15 – 15 ml खाली पेट सुबह शौच के बाद और रात को सोते समय एक कप गुनगुने पानी में.

नोनी और वीट ग्रास जूस भोजन के एक घंटे के बाद या एक घंटे के पहले 15 – 15 ml एक साथ एक कप पानी में मिलाकर.

Loading...

Leave a Reply