बड़ी खुशखबरी : सभी अवैध बांग्लादेशी मुस्लिमो की पहचान कर बाहर करने का दिया गया आदेश

0

मोदी सरकार ने ऐतहासिक कारनामा करके दिखा दिया है ये चीज नोटबंदी से भी कहीं अधिक बड़ी थी, भारत पर जैसे एक उपकार ही नरेंद्र मोदी ने कर दिया है ये मोदी के काम करने का तरीका है

मोदी सरकार बनी थी तभी से बांग्लादेशियों को बाहर करने की मांग तेज हुई थी जिसके बाद सेक्युलर दलों ने इसका विरोध किया था, ममाता बनर्जी ने तो यहाँ तक कहा था की, “मेरे जीते जी मोदी किसी बांग्लादेशी को हाथ नहीं लगा सकता”

नरेंद्र मोदी भी समझ गए की, सेक्युलर तत्व देश में अशांति फैलाएंगे और मोदी फिर क़ानूनी तरीके पर चले गए  अब सुप्रीम कोर्ट से मोदी ने क़ानूनी ठप्पा लगवा लिया है, और अब कोई विरोध करेगा तो वो सुप्रीम कोर्ट का विरोध माना जायेगा

बता दें की सुप्रीम कोर्ट ने 2 जजों की बेंच जिसमे जज रंजन गोगोई और RF नरीमन शामिल थे उन्होंने ऐतहासिक फैसला सुनाया है की, 25 मार्च 1971 के बाद भारत में आये तमाम बांग्लादेशी मुस्लिमो की सरकार पहचान करे और इसी बीच बांग्लादेश के बॉर्डर को सील करे

अवैध बांग्लादेशी मुसलमानो की पहचान करने के बाद सरकार सभी को वापस बांग्लादेश भेजे अब मोदी सरकार बांग्लादेशियों की पहचान करने का काम शुरू करेगी और उसके बाद बांग्लादेशी बाहर खदेड़े जायेंगे, ममाता बनर्जी और उसके जैसे लोग जिन्होंने वोटबैंक बना रखा था वो अब कुछ नहीं कर सकेंगे, क्योंकि इस फैसले पर सुप्रीम कोर्ट का ठप्पा लगा है

बता दें की भारत में 3 करोड़ से अधिक बांग्लादेशी मुसलमान अवैध रूप से घुसे हुए है और इनमे से 1 करोड़ तो अकेले बंगाल और असम में है

अगले कुछ सालों में भारत से ये तमाम बांग्लादेशी खदेड़ दिए जायेंगे, और भारत का बहुत बहुत बहुत भला होगा
मोदी सरकार ने ये अद्भुत काम किया है जिसकी जितनी प्रशंसा की जाये कम है

Loading...

Leave a Reply