वित्तमंत्री रहा हूँ, दावे से कह सकता हूँ की नोटबंदी से भारत को लाभ ही होगा : राष्ट्रपति मुखर्जी

0

नरेंद्र मोदी के समर्थक तो उनकी तारीफ करते ही है, पर अगर पाकिस्तान और कांग्रेस, और ने सेक्युलर दलों के लोग नरेंद्र मोदी की तारीफ करे तो समझना चाहिए की वो भी अपने आप को मोदी की तारीफ से रोक सके, और मोदी ने जरूर जबरजस्त काम किया है

आपको याद होगा की नोटबंदी का फैसला नरेंद्र मोदी ने नवम्बर में लिया था जिसके बाद तमाम विपक्षी दलों ने इस फैसले का विरोध किया था, जिसका जवाब जनता ने उनको कई चुनावों में भी दे दिया, पर पाकिस्तानी मीडिया ने नोटबंदी के फैसले पर नरेंद्र मोदी की जमकर तारीफ की थी यहाँ तक की पाकिस्तान ने भी मोदी की नक़ल करते हुए अपने यहाँ 5000 के नोटों पर बैन लगा दिया

खैर, आज भारत के राष्ट्रपति जिन्हें कांग्रेस ने राष्ट्रपति बनाया था, जो जीवन भर कांग्रेसी नेता रहे और हमेशा से बीजेपी और मोदी की विचारधारा से उलट विचारधारा के रहे वो भी आज खुद को रोक नहीं सके और उन्होंने नरेंद्र मोदी की जमकर तारीफ की

जैसे जैसे राष्ट्रपति मुखर्जी मोदी की तारीफ करते रहे, वैसे वैसे भारत के सेक्युलर नेताओं को दर्द होता रहा
राष्ट्रपति ने आज नरेंद्र मोदी पर निजी टिप्पणियां भी की और कहा की, “नरेंद्र मोदी मजबूत शख्सियत हैं, और जो मोदी कहते हैं वो उसे करके भी दिखाते है”

नोटबंदी पर राष्ट्रपति मुखर्जी ने कहा की, आज़ाद भारत के सबसे बड़े फैसलों में एक नोटबंदी का फैसला है राष्ट्रपति मुखर्जी ने ये भी कहा की, “मैं खुद वित्तमंत्री रहा हूँ, और जनता हूँ की वित्तीय फैसलों के असर 1-2 दिनों या महीनो में नजर नहीं आते, मुझे इस बात का अनुभव है और मैं दावे से कह सकता हूँ की नोटबंदी के फैसले से आने वाले समय में भारत का लाभ ही होगा”

आपको बता दें की प्रणव मुखर्जी कोई बीजेपी के नेता नहीं है, न ही राष्ट्रपति बनने के बाद बीजेपी ज्वाइन करने वाले है, वो अभी राष्ट्रपति है और निष्पक्ष होकर अपने मन की बात कह रहे थे

Loading...

Leave a Reply