पीएम मोदी लेने वाले हैं एक और महाफैसला देश में तम्बाकू और गुटखा बैन होने वाला है

0

पीएम मोदी हमेशा से ही अपनी पॉलिसी और अपने फैसलों को लेकर चर्चाओं में रहते हैं। 500 और 1000 के नोट पर जैसे ही देश के प्रधानमंत्री ने बैन लगाया तो इसके बाद से देशभर में हड़कंप मच गया था। अब माना जा रहा है कि एक बार फिर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बड़ी फैसला लेने वाले हैं। माना जा रहा है कि इस फैसले के बाद से सबसे ज्यादा परेशानी उन लोगों को होगी जो सिगरेट के धुएं का छल्ला बनाकर उड़ाते हैं। साथ ही उन कंपनियों को भी खासी परेशानी होने वाली है जो सिगरेट, बीड़ी और तंबाकू का व्यापार करते हैं। बताया जा रहा है कि इस फैसले को मोदी सरकार जल्द ही ले सकती है। कुल मिलाकर एक बार फिर से देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक और बड़ा फैसला लेने वाले हैं और तमाम तंबाकू उत्पाद बनाने वालों के लिए मुश्किल खड़ी हो सकती है।

दरअसल सरकार ने पहले सिगरेट के पकेट पर वॉर्निंग को बड़ा कर दिया था। इसके बाद एक बार फिर से सरकार तंबाकू सेक्टर को बड़ा झटका देने की पूरी तैयारी कर रही है। बताया जा रहा है कि मोदी सरकार सरकार तंबाकू सेक्टर में बहुत ही जल्द फॉरेन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट यानी एफडीआई को पूरी तरह से बैन कर सकती है और इसके लिए सरकार प्रस्ताव लाने भी जा रही है। सूत्रों का कहना है कि कॉमर्स एंड इंडस्ट्री मिनिस्ट्री इसके लिए प्रपोजल भी तैयार कर चुकी है और इस प्रोपोजल को विचार के लिए कैबिनेट के पास भी भेज दिया है। बताया जा रहा है कि कॉमर्स एंड इंडस्ट्री मिनिस्ट्री ने इस प्रपोजल को तैयार करने से पहले संबंधित डिपार्टमेंट के अलावा स्वास्थ्य और वित्त मंत्रालय से भी राय ली है।

आपको यहां ये भी बता दें कि मौजूदा वक्त में तंबाकू सेक्टर में ट्रेडमार्क, फ्रैंचाइजी लाइसेंसिंग, मैनेजमेंट कॉन्ट्रैक्ट और ब्रांड नेम में एफडीआई को मंजूरी दी हुई है। लेकिन अगर इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया जाता है कि तो घरेलू सिगरेट उत्पादकों के लिए ये बड़े खतरे की घंटी साबित हो सकती है। प्रस्ताव के मुताबिक ये भई कहा जा रहा है कि ट्रेडमार्क, फ्रैंचाइजी लाइसेंसिंग, मैनेजमेंट कॉन्ट्रैक्ट और ब्रांड नेम में भी FDI को बैन किया जा सकता है। कुल मिलाकर कहें तो तंबाकू सेक्टर में FDI पर पूरी तरह से बैन लगा दिया जाएगा। अब आप सोच रहे होंगे कि FDI बैन करने से क्या होगा तो ये भई हम आपको बता देते हैं कि इससे इस सेक्टर में विदेशी रुपये का इनडायरेक्ट फ्लो पूरी तरह से बंद हो जाएगा।

असल में पीएम मोदी का प्लान है कि देशभर में तंबाकू की खपत को घटा लिया जाए। आपको यहां इसी बारे में ये भी जानकारी दे दें कि इसी को देखते हुए 1 अप्रैल से तंबाकू के सभी प्रोडक्ट्स पर 85 फीसदी साइज को वैधानिक चेतावनी के तौर पर छापना होगा। बताया जा रहा है कि सरकार तंबाकू के दाम भी बढ़ाने जा रही है। इसके अलावा तमाम तंबाकू बनाने वाली कंपनियों को अपने प्रोडक्ट पर 60 फीसदी इससे होने वाले नुकसानों के बारे में बताना होगा। अब सरकार एक और प्लान तैयार कर रही है और माना जा रहा है कि इससे सिगरेट के धुंए का छल्ला बनाकर उड़ाने वालों को और ज्यादा मुश्किल हो सकती है। आपको बता दें कि इस वक्त देश में तंबाकू से होने वाले कैंसर की वजह से कई लोग मौत के शिकार हो रहे हैं।

 

Loading...

Leave a Reply