पानी पीने का सही तरीका, रात में इस समय पर भूलकर भी न पिएं पानी

0
पानी पीने का सही तरीका

पानी पीने का सही तरीका जानिए बिना पानी के तो जीवन ही नहीं है, ये बहुत छोटी सी बात है पर इसी बात पर हमारा जीवन टिका है. क्या आप बिना पानी पिए केवल एक दिन रह सकते हैं, नहीं न. अगर बिना पानी पिए आप कुछ देर भी रह सकते हैं तो ये खबर आपके काम की है।

पानी पीने का सही तरीका
पानी पीने का सही तरीका
  • जी हां आज हम आपको पानी पीने के दुष्प्रभाव बातएंगे मगर खाना खाने के बाद। जी हां खाना खाने के बाद अगर आप भी पानी पिते हैं तो अब हो जाएं सावधान। पानी जीतना फायदेमंद है उतना ही नुकसानदेह भी है हमारे शरीर के लिए। हम जानते हैं कि हर चीज का एक समय होता है और जब हम उस चीज का सेवन सही समय पर करते हैं तो उससे हमें बहुत ही फायदा मिलता है, वैसे ही जब हम पानी का सेवन सही समय पर करते हैं तो वो पानी अमृत के समान हो जाता है।

पानी पीने का सही तरीका

कब, कैसे और कितना पानी पीना चाहिए

  • आयुर्वेद में हमें पानी की सही मात्रा के साथ-साथ पानी पीने के सही ढंगों के बारे में भी देखने को मिलता है। पानी पीने के कई फायदे हैं और औसत वयस्क को रोजाना 2 से 3 लीटर पानी जरुर पीना चाहिए। अगर आपका पेट पूरी तरह से खाली है तब आपको पानी पूरी तरह से लाभ पहुंचाएगा।
  • अगर आप रात का सोने से पहले पेट भर कर ढेर सारा पानी पी लेंगे तो आपको काफी सारी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इससे आपके शरीर के कई सारे अंगों पर प्रभाव पड़ सकता ह।।अब इसी बात पर आइये जानते हैं कि रात में सोने से पहले हमें पानी क्‍यूं नहीं पीना चाहिये।

पानी पीने का सही तरीका कैसा होना चाहिए

  • पानी पीने का सही तरीका क्‍या है पानी पीने का एक तरीका होता है, इसे एक दम सही मात्रा में पीना चाहिये और बिल्‍कुल सही समय पर। हर किसी को रात के समय बहुत ही कम पानी पीना चाहिये क्‍योकि इसके कुछ अहम कारण हैं जैसे, क्‍या है अहम कारण रात को सोने से पहले पानी ना पीने का एक अहम कारण ये है कि अगर आप पानी पिएंगे, तो आपको बार बार नींद में उठ कर पानी पीने जाना पड़ेगा. इससे आपकी नींद खराब होगी इसलिये अच्‍छा है कि सोने से एक घंटे पानी पी लिया जाए।
  • किडनियों पर पड़ता है असर सोने से पहले बहुत ज्‍यादा पानी पीने पर आपकी किडनियों पर असर पड़ सकता है. क्‍योंकि इस दौरान आपकी बॉडी बिल्‍कुल भी एक्‍टिव नहीं रहती और इस पानी का कोई उपयोग नहीं होता। इसलिये सोने से पहले ज्‍यादा पानी का सेवन ना करें।
  • यूरिनरी ब्‍लैडर पर पड़ता है असर यूरिनरी ब्‍लैडर प्रकृति में लोचदार होता है और जरुरत के अनुसार फैलता है. रात के दौरान इसे अपने नेचुरल शेप में ही छोड़ दिया जाना चाहिये. अधिक पानी का मतलब होता है कि मूत्राशय पूरी रात विस्तारित रहेगा और पानी शरीर से बाहर पार नहीं कर पाएगा. ऐसा अगर हर रात किया जाए तो मूत्राशय को नुकसान हो सकता है।
  • वॉटर रिटेंशन की समस्‍या हो सकती है सोने से पहले बहुत ज्यादा पानी पीने से शरीर में वॉटर रिटेंशन हो सकता है. यह न केवल गुर्दे की प्रणाली को प्रभावित करेगा बल्कि शरीर के परिसंचरण प्रणाली को भी प्रभावित करेगा. वॉटर रिटेंशन की वजह से आपको मूत्र पथ का संक्रमण भी हो सकता है।

Loading...

Leave a Reply