पाकिस्तान पर हमला कर, पाकिस्तानी जमीनों पर परमानेंट कब्जे का पूरा रोडमैप तैयार बस अब देखना है हमला कब करता है भारत

0

इस वॉर रूम से ही सेना देश के सुरक्षा संबंधी सभी गतिविधियों पर नजर रखती हैं।

जम्मू कश्मीर के उड़ी सेक्टर के आर्मी बेस पर हुए आतंकी हमले के बाद से सरकार पूरी तरह से हरकत में है। आम जनता और सोशल मीडिया द्वारा दुश्मन को उसी की भाषा में जवाब देने का दबाव सरकार पर देखा जा रहा है। इसी सिलसिले में बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी ने पूरे दिन में कई हाई लेवल मीटिंग की।

मंगलवार देर रात को पीएम मोदी ने साउथ ब्लॉक में मिलिट्री ऑपरेशन डारेक्टोरेट में सेना के बड़े अधिकारियों के साथ सुरक्षा से जुड़े सभी पहलुओं पर चर्चा भी की। मिलिट्री ऑपरेशन डारेक्टोरेट रक्षा मंत्रालय का एक बेहद खुफिया दफ्तर है।

यह दफ्तर ही वॉर रूम के तौर पर जाना जाता है। इस वॉर रूम से ही सेना देश के सुरक्षा संबंधी सभी गतिविधियों पर नजर रखती हैं। पीएम मोदी ने अपने कैबिनेट के कुछ साथियों के साथ देश की रक्षात्मक शक्ति को लेकर सेना के अधिकारियों के साथ चर्चा की।

सूत्रों के अनुसार वॉर रूम में पीएम मोदी को सेना द्वारा मानचित्र, पावर प्वाइंट और मॉडल्स के द्वारा सेना के ताकत और सैन्य रणनीति की जानकारी दी गई।

सूत्रों ने बताया है की प्रधानमंत्री को सेना ने ब्रीफ किया है की, पाकिस्तान पर किस तरह से हमला किया जायेगा ताकि नुक्सान भारत का कम हो और इस बार पाकिस्तान की जमीनों पर परमानेंट कब्जा किया जा सके

आपको बता दें की 1965 में भारत की सेना ने लाहौर पर कब्जा किया था जिसके बाद सरकार समझौता कर जीता हुआ युद्ध हार गयी और लाहौर वापस पाकिस्तान को दे दिया गया परंतु इस बार सेना तथा सरकार पाकिस्तानी जमीनों पर परमानेंट कब्जे के मूड में है

Loading...

Leave a Reply