भारत की मीडिया तथा भारत के बड़े दिल वाले बुद्धिजीवि मानवाधिकार तत्वों की जबान हो चुकी है बंद

0

इस्लाम न कबूला तो किया गैंगरेप, भाई को बंधक बना सुनाई बहन की चीख पाकिस्तान में अल्पसंख्यक कितने सुरक्षा के अभाव में हैं, जगजाहिर बात है। आए दिन वहां अल्पसंख्यकों पर होते अत्याचार रुकने का नाम नहीं ले रहे।

हाल ही में वहां जबरन इस्लाम कबूलने के मामले में 17 साल की नाबालिग के गैंगरेप का मामला प्रकाश में आया है।

अंग्रेजी अख़बार डेली मेल की खबर अनुसार मिट्टी के घर में रहने वाले एक अल्पसंख्यक परिवार को रस्सियों से बांध दिया गया। इसके बाद आरोपी पीड़िता और उसके भाई को उठाकर घर से कहीं दूर एक बिल्डिंग में ले गए।

जहाँ पर एक कमरे में उसके भाई को बांध दिया गया और उसी कमरे के सामने दूसरे कमरे में उसकी बहन के साथ गैंगरेप किया गया। वहां के अल्पसंख्यकों के लिए खौफनाक माहौल का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि एक लड़की के भाई को उसके गैंगरेप के दौरान चीख सुनने के लिए मजबूर भी किया गया।

इसके बाद पीड़िता के भाई को वहां से भगा दिया गया। मगर उसकी बहन अपनी भी गायब है। खबर अनुसार घटना इसाई परिवार के साथ हुई है और उनके ऊपर लंबे समय से इस्लाम कबूलने का दबाव बनाया जा रहा था।

मगर इस बात के विरोध की कीमत घर की बेटी को चुकानी पड़ी। अल्पसंख्यक समुदाय द्वारा विरोध किया जा रहा है और पाकिस्तानी प्रशासन से इस मामले में न्याय की मांग की जा रही है। इस बीच ये भी बता दें कि पाकिस्तान की इस्लामी पुलिस ने मामले की शिकायत दर्ज करने से भी मना कर दिया है।

Loading...

Leave a Reply