पाक के ब्रिटिश वकील को पीटकर हमारे हरीश साल्वे ने बचाया कुलभुषण को, तारीफ तो बनती है

0

2 लोग आज बधाई के सबसे बड़े पात्र है पहले तो भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी, जिन्होंने कुलभूषण के लिए अंतर्राष्ट्रीय कोर्ट जाने का फैसला किया ये फैसला आसान नहीं होता, चूँकि भारत हार भी सकता था और फिर दुनिया में बेइजत्ती बहुत होती

फिर भी मोदी को भरोसा था की हम जीतेंगे तभी भारत ने ये फैसला किया, और ये सफल फैसला साबित भी हुआ

और दूसरे व्यक्ति है भारत के प्राइवेट वकील हरीश साल्वे, जिन्होंने अम्बानी का पिछले केस लड़ने के लिए 15 करोड़ की फीस ली थी, आम तौर पर 2 करोड़ से नीचे की फीस ये लेते नहीं पर भारत सरकार ने इनसे कुलभूषण का केस लड़ने के लिए कहा, भारत सरकार से ये करोडो की फीस ले भी सकते थे, पर इन्होने केवल 1 रुपए की फीस ली

वहीँ देखिये पाकिस्तान ने किस वकील हो ICJ में भेजा इस वकील का नाम है, खवर कुरैशी ये व्यक्ति पाकिस्तानी मूल का जरूर है पर ये पाकिस्तानी नहीं है, ये ब्रिटिश नागरिक है, ये ब्रिटेन में वकील है, वहीँ रहता है और वहीँ वकालत का कार्य करता है

खवर कुरैशी का चैम्बर भी लंदन में ही है, पूरा पता भी देख सकते है 

जाहिल पाकिस्तान में तो कोई ऐसा वकील ही नहीं जो ICJ में जाने के लायक हो, पैरवी के लायक हो भारत ने तो भारतीय वकील भेजा पर पाकिस्तान ने ब्रिटिश वकील भेजा, बड़ी बात बता दें की भारतीय रुपए के मुताबिक खवर कुरैशी ने पाकिस्तान से 40 करोड़ की फीस ली

ICJ में सुनवाई हुई और आज फैसला आ गया खवर कुरैशी की सारी दलीलों को कोर्ट ने ठुकरा दिया और हरीश साल्वे की दलीलों को स्वीकार कर भारत के पक्ष में फैसला सुनाया हमारे हरीश साल्वे ने पाकिस्तान के ब्रिटिश वकील को पीटकर भारत को जीत दिलाई, कुलभूषण जाधव को राहत दिलाई, प्रधानमंत्री मोदी के अलावा हरीश साल्वे की भी तारीफ तो बनती है

Loading...

Leave a Reply