नया खुलासा : कांग्रेस राज में क़ानूनी तौर पर बड़ी मात्रा में छापे जा रहे थे नकली भारतीय नोट

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की काले धन पर सर्जिकल स्ट्राइक से कांग्रेस ने बड़ी आपत्ति जताई है! कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी तो लोगों को भड़काने में लगातार कोशिश किये जा रहे हैं और मोदी जी के खिलाफ ब्यान दिए जा रहे हैं!

जब आप आदमी को इससे कोई दिक्कत नहीं तो कांग्रेस का कहां मिर्ची लग रही है! अच्छा, कांग्रेस का नकली नोटों का छापने का कारोबार जो ठप्प हो गया! कांग्रेस ने अपने कार्यकाल में कानूनी तौर पर नकली नोट छापे हैं! जी हाँ, ये कोई आरोप या झूठ नहीं! ये एक काहुनका देने वाला ऐसा सच है जो इस देश के हर एक आम आदमी को जानना चाहिए!

हम आपके सामने कुछ ऐसे तथ्य पेश करने जा रहे हैं, जो CAG रिपोर्ट से लिए गए हैं और कुछ तथ्य अतीत में की गई जांच से लिए गये हैं!

1. करेंसी नोटों को छापने और चढ़ाने का काम करने वाली सिक्यूरिटी प्रिटिंग और मिंटिंग कॉरपोरेशन ने 2014 में RBI गवर्नर सुब्बा राव के हस्ताक्षर के साथ करेंसी नोटों को छापा था, जबकि सुब्बा राव का कार्यकाल 2013 में ही समाप्त हो चुका था! परिणामस्वरुप 36.69 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था! अब अगर ध्यान से इस बात समझा जाए तो इसमें नुक्सान RBI का हुआ, लेकिन नकली नोट बांटने वालों का तो इसमें फायदा हुआ था!

अब ये तो आप अंदाज़ा लगा सकते हैं कि उस वक़्त कौन सी सरकार सत्ता में थी और क्यों इन पैसों को छापा गया और बाज़ार में बांटा गया??

congress-2

इससे पहले 2010 में, कांग्रेस ने सबसे बड़ा खेल खेला और देश के लिए सबसे बड़े खतरे को आमंत्रित किया था! जब लाख करोड़ रुपयों की धुन पर करेंसी नोटों को छापने के लिए अमेरिका,ब्रिटेन एंड जर्मनी से सौदा किया! यह फैसला देश की संप्रभुता के लिए एक खतरा था।

congress-3

ठीक ऐसी घटना 1997-98 में भी दोहराई गई थी, RBI ने I लाख करोड़ रुपयों की प्रिंटिंग से जुड़ा सौदा किया था!

congress-4

CVC ने कई बार वित् मंत्रालय को सप्लायर द्वारा नकली करेंसी के छापने के बारे में शिकायत की थी! लेकिन, वित मंत्रालय ने इस पर अपनी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी!

congress-5

वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार थी, जिन्होंने उच्च मूल्य वर्ग के नोटों को देश बाहर छपवाना बंद करवाया! और निश्चित किया की हर एक नोट देश के अन्दर ही छापा जाए!

congress-6

मोदी सरकार ने न केवल अरबों बचाए लेकिन इससे भी ज़रूरी, नकली मुद्रा के घातक खतरे जो पिछली सरकार की त्रुटिपूर्ण नीतियों के योगदान द्वारा हुआ है, उससे भी देश को बचाया है! और मोदी जी के नोटबंदी फैसले का भी जनता पुरो तरह समर्थन करती है!

अब करेंसी में भारी फेर-बदल से कांग्रेस सरकार चकरा गई है! इतना काला धन छुपा के बैठी है कि समझ नहीं आ रहा करे क्या! अपने हर गलत काम का फल भुगतने की बार है अब कांग्रेस की!!

Loading...

Leave a Reply