नोटबंदी के बाद देशभर के किसानों को प्रधानमंत्री मोदी ने दिया बहुत बड़ा तोहफा, देखता रह गया विपक्ष

0

नोटबंदी को लेकर विपक्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार पर ये आरोप लगा रहा है कि उसने ये फैसला बिना सोचे समझे और बिना पूरी तैयारी के लिया है। जिससे देश की आम जनता हैरान और परेशान हो रही है। विपक्ष इस मसले को लेकर संसद से लेकर सड़क तक हंगामा भी करने में जुटा है। लेकिन, इन सब से अलग केंद्र सरकार नोटबंदी के बाद लगातार लोगों को सहूलियत देने में जुटी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व वाली केंद्र सरकार ने नोटबंदी पर देशभर के किसानों को बहुत बड़ी राहत दी है। सरकार ने एलान कर दिया है कि किसान पांच सौ रुपए के पुराने नोटों से ही बीज खरीद सकते हैं। यानी किसानों की अगली फसल में नोटबंदी का फैसला रोड़ा नहीं बनेगा। सरकार के इस फैसले से किसानों को बड़ी राहत मिलेगी।

दरअसल, सरकार के पास ऐसी रिपोर्टस आ रही थीं कि गांवों के किसान अपनी अगली फसल की बुआई के लिए परेशान हैं। उनका कहना था कि बैंकों में भारी भीड़ है। ऐसे में उन्‍हें नई फसल के लिए बीज कहां से मिलेंगे। किसानों की इस दिक्‍कत को ध्‍यान में रखते हुए सरकार ने फैसला किया कि किसान 500 का पुराना नोट देकर बीज खरीद सकेंगे। केंद्र सरकार के नए निर्देश के मुताबिक किसान अब केंद्र और राज्य सरकार के विभिन्न बीज केंद्रों और सरकारी दुकानों में 500 रुपये के पुराने नोट देकर बीज ले सकते हैं। इतना ही नहीं सरकार ने किसानों की सहूलियत के एक और बड़ा एलान भी किया है। किसानों को अब पीएसयूज, राष्ट्रीय या राज्य बीज निगमों, केंद्रीय बीज भंडार या राज्य कृषि विश्वविद्यालयों और भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद यानी ICAR से भी पुराने नोट देकर बीज खरीद सकेंगे।

हालांकि सरकार ने 500 के पुराने नोटों से बीच खरीदने पर एक नियम भी बनाया है। जो किसान 500 के पुराने नोट पर इन सरकारी केंद्रों से बीज खरीदेंगे। उन्‍हें अपने पहचान पत्र की कॉपी संबंधित संस्‍था में जमा करानी होगी। वहीं इन संस्‍थाओं को भी ये निर्देश दिया गया है कि उन्‍हें पुराने नोटों के आधार पर बीज की बिक्री का पूरा हिसाब किताब एक रजिस्‍टर में दर्ज करना होगा। ताकि नोटबंदी के बाद ब्‍लैक मनी रखने वाला कोई शख्‍स सरकार के फैसले का बेजा इस्‍तेमाल ना कर सके। हालांकि सरकार ने जो नियम बनाया है उसमें किसानों को तो कोई दिक्‍कत नहीं होगी। लेकिन, अगर कोई जरा सी भी गड़बड़ी करने की कोशिश्‍ा करेगा तो उसके लिए बड़ी मुश्किल होगी। क्‍योंकि गड़बड़ी में पकड़े जाने की पूरी गुंजाइश है।

इससे पहले भी सरकार किसानों को राहत देते हुए उन्‍हें बैंकों से 25 हजार रुपए तक की रकम निकालने की इजाजत दे चुकी है। ताकि किसानों को किसी भी तरह की कोई दिक्‍कत ना हो। इसके अलावा सरकार ने नए नोटों को लेकर कई और नियम तय किए हैं। जैसे जिन घरों में शादी-कामकाज है वो लोग बैंक से ढाई लाख रुपए तक की रकम निकाल सकते हैं। सरकार जनता को नोटबंदी के बाद ज्‍यादा से ज्‍यादा सहूलियत देने में जुटी हुई है। लेकिन, विपक्ष लगातार इस मसले पर सरकार को घेरने में जुटा हुआ है। विपक्ष का कहना है कि सरकार आम जनता को बेवकूफ बनाकर उसे परेशान कर रही है। जब कि ब्‍लैक मनी रखने वाले लोगों का पैसा आज भी सुरक्षित है। राहुल गांधी का आरोप है कि आम जनता लाइन में लगी है। जबकि काला धन रखने वाले बैंक के पीछे से अपने नोट बदलवा रहे हैं।

Loading...

Leave a Reply