नेता बनने से पहले नोटबंदी का समर्थन करते थे केजरीवाल, आज कर रहे विरोध : रोहित सरदाना

0

पत्रकार रोहित सरदाना ने आज दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के आका अरविन्द केजरीवाल की पोल खोलकर रख दी पहले तो आप स्वयं देखें की रोहित सरदाना ने आज क्या कहा

rohit-sardana

आपको या होगा की नेता बनने से पहले अरविन्द केजरीवाल अन्ना हज़ारे के पिछलगू बनकर घुमा करते थे
2011-2012 में जब अन्ना हज़ारे आंदोलन कर रहे थे  तो बाबा रामदेव भी अन्ना हज़ारे के मंच पर भ्रष्टाचार की खिलाफत करते थे, अन्ना हज़ारे और बाबा रामदेव भ्रष्टाचार के खिलाफ मुहीम को आगे बढ़ा रहे थे, केजरीवाल मंच पर पिछलगू रहते थे

बता दें की बाबा रामदेव 2010 से ही बड़े नोटों को बंद करने की मांग कर रहे थे, 2011-2012 में जब अन्ना हज़ारे के मंच से बाबा रामदेव बड़े नोटों को बंद करने की मांग करते थे  तो पिछलगू केजरीवाल भीड़ से तालियां बजवाते थे

आज नरेन्द्र मोदी ने बड़े नोटों को बंद कर जाली नोटों और काले धन पर सर्जिकल स्ट्राइक कर दिया तो
वही केजरीवाल नोटबंदी का विरोध करने लगे है  साफ़ है की नेता बनने से पहले केजरीवाल के पास नोट नहीं थे, पर नेता बनने के बाद केजरीवाल ने हवाला के जरिये बहुत नोट जमा कर लिए है  और अपने नोटों के कचरा हो जाने के कारण आज नोटबंदी का समर्थन करने वाले केजरीवाल नोटबंदी के खिलाफ दिल्ली में जुलुस निकलवा रहे है

Loading...

Leave a Reply