नेहरू के अपराधों की लिस्ट लंबी है, पर देश के लोग नेहरू के ये अपराध अब तक नहीं जानते आप

0

नेहरू के अपराधों की लिस्ट बहुत लंबी है, पर देश के लोग नेहरू के ये अपराध अबतक नहीं जानते जी हाँ, नेहरू के अपराध न मीडिया आपको बताना चाहती है और न ही कोई और ही बताने में दिलचस्बी लेता है

परन्तु देश को ये तो जानना ही चाहिए की आज भी जिस शख्स के नाम पर बाल दिवस मनाया जा रहा है, जिसे किताबों में चचा चचा करके बताया जा रहा है, उसने इस देश के साथ क्या क्या किये थे और नेहरू का एक ऐसा अपराध हम आपको आज बताने जा रहे है, जो आपको आजतक पता नहीं होगा पहले आपको एक “कोको आइलैंड” के बारे में जानकारी देते है
देखें इसका मानचित्र

ये जो लाल घेरे में आप देख रहे है इसे ही कोको आइलैंड कहते है, वहीँ जो हरे घेरे में है वो भारत का अंडमान और निकोबार आइलैंड है बता दें की 1947 में भारत आज़ाद हुआ प्रधानमंत्री बना जवाहर लाल नेहरू वहीँ बर्मा आज़ाद हुआ 1948 में, और नेहरू ने ये कोको आइलैंड बर्मा को उपहार स्वरुप दे दिया और कहा की बड़े भाई की तरफ से छोटे भाई को गिफ्ट

* नोट : गृहमंत्रालय ( पटेल) ने नेहरू को ऐसा न करने की सलाह दी थी (बर्मा 1937 तक भारत में ही था)

अब जानिये इस कोको आइलैंड का बर्मा ने क्या किया, इस आइलैंड को बर्मा ने चीन को सौंप दिया आज भी इस आइलैंड को बर्मा यानि म्यांमार में ही माना जाता है, आधिकारिक रूप से ये बर्मा का ही हिस्सा है पर इसपर अधिकार है चीन का, चीन ने बर्मा को आर्थिक मदद दी और भारत के अंडमान के पास ये कोको आइलैंड बर्मा से अपने इस्तेमाल के लिए ले ली

अब देखिये चीन ने कोको आइलैंड पर क्या बनाया है

चीन ने इस आइलैंड पर अपनी सैनिक छावनी बना ली है, उसने हवाई पट्टी भी बना ली है, जो आप तस्वीर में देख सकते है, गूगल अर्थ भी कर के देख सकते है चीन की नेवी और वायु सेना दोनों ही कोको आइलैंड पर तैनात है

चीन की पूरी तैयारी है कोको आइलैंड पर, उसके लड़ाकू शिप भी तैनात है, लड़ाकू जहाज भी तैनात है चीन जब मन तब भारत के खिलाफ कोको आइलैंड का इस्तेमाल कर सकता है नेहरू ने कोको आइलैंड बर्मा को अपने बाप का माल समझकर गिफ्ट न किया होता तो आज ये स्तिथि न होती

Loading...

Leave a Reply