म्यांमार ने किया बड़ा फैसला, पूरे देश में 3000 इस्लामिक मस्जिदे गिरा दी जाएँगी

0

म्यांमार ने 3000 मस्जिदों को जमीदोज करने की तैयारी कर ली है। सूत्रों के हवाले से खबर मिली है कि ये मस्जिदें अनाधिकृत तरीके से बनाई गयी थी जिसके कारण प्रसाशन को इन्हें गिराना पड़ रहा है। म्यांमार के रखाइन प्रांत के अधिकारियों के मुताबिक़ कानूनी लाइसेंस नहीं होने की वजह से 3000 से अधिक मस्जिदों व् अन्य धार्मिक केंद्रों को गिरा देने के लिए क़ानून पारित कर दिया गया है। अधिकारियों ने कहा कि जल्दी ही एक सर्कुलर द्वारा लोगों को इस बारे में बता दिया जायेगा।

रखाइन के सिक्यूरिटी और बार्डर अफेयर्स राज्यमंत्री कर्नल तेई लिन ने लोकल मीडिया से बात करते हुए कहा कि अवैध रूप से बनी इमारतों की संख्या काफी बढ़ गयी हैं और अब इन्हें गिराना आवश्यक हो गया है। उन्होंने कहा कि अनाधिकृत रूप से बनी हर इमारत को ढहा दिया जायेगा। कई मस्जिद, मदरसे, स्कूल, मकान व्अ होटल अनाधिकृत तरीके से बनाये गए हैं।

प्रसाशन द्वारा लिए जाने वाले इस फैसले से बड़ा विवाद खड़ा हो गया है क्युकी जितनी भी इमारते गिरायी जाएँगी उनमे से ज्यादातर मुस्लिम बहुल इलाकों में हैं। स्थानीय मुस्लिम लीडर हाजी माउंग बार ने बयां दिया कि वो इमारते 2012 के दंगो से पीड़ित मुस्लिमों की हैं और यदि इन इमारतों को गिरा दिया जायेगा तो इनमे रहने वाले लोग कहा जायेंगे। अगर मस्जिदों को गिरा दिया जायेगा तो यहाँ रहने वाले मुस्लिम नमाज कहा करेंगे।

वाहन के स्थानीय निवासियों से बात करने पर उन्होंने कहा कि प्रसाशन को अवैध निर्माण होने ही नहीं देना चाहिए था। लोगों ने प्रसाशन के इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि प्रसाशन ने ये अच्छा निर्णय लिया है क्युकी यहां मुस्लिमों की आबादी अनियंत्रित रूप से बढ़ रही है।

गौरतलब है कि बौद्ध और मुस्लिमों के बीच अक्सर झड़प होती रहती है। म्यांमार के बौद्ध वहाँ के मुस्लिमों को पसंद नहीं करते और कुछ वक्त पहले भी बौद्धों ने रखाइन प्रांत के एक मस्जिद को आग के हवाले कर दिया था।

Loading...

Leave a Reply