मुसलमानो से दस सवाल इनको सुनते ही हर मुसलमान तुरन्त भाग जाता है

90

यह एक कटु सत्य है कि आज भारतीय महाद्वीप में जितने भी मुसलमान हैं, उनके पूर्वज कभी हिन्दू थे, जिनको मुस्लिम बादशाहों ने जबरन मुसलमान बना दिया था। लेकिन दुर्भाग्य की बात है कि विदेशी पैसों के बल पर इस्लाम के एजेंट ऐसे हिन्दुओं का धर्म परिवर्तन कराने में लगे रहते हैं, जो इस्लाम की असलियत से अनभिज्ञ हैं, या जिनको हिन्दू धर्म का आधा अधूरा ज्ञान होता है, और दुर्भाग्य से ऐसे हिन्दू युवक, युवतियां सेकुलर विचार वाले होते हैं, तो इस्लाम के प्रचारक आसानी से उनको इस्लाम जाल में फसा लेते हैं, इसलिए इस्लाम के चक्कर में फसने से बचने का एक ही उपाय है, कि इस्लाम के एजेंटों से तर्कपूर्ण सवाल किये जाएँ। क्योंकि इस्लाम सिर्फ ईमान लाने पर ही जोर देता है, और अगर कोई इस्लाम के दलालों से सवाल करता है, तो यातो वह भड़क जाते हैं, या लड़ने पर उतारू हो जाते हैं।

अक्सर देखा गया है कि कुछ उत्साही हिन्दू इस्लाम के समर्थकों के साथ शाश्त्रार्थ किया करते हैं, इसलिए उनकी सहायता के लिए दस ऐसे सवाल दिए जा रहे हैं, जिनका सटीक, प्रमाण सहित और तर्कपूर्ण जवाब कोई मुल्ला मौलवी नहीं दे सकता।

1. मुसलमानों का दावा है कि कुरान अल्लाह की किताब है, लेकिन कुरान में बच्चों की खतना करने का हुक्म नहीं है, फिर भी मुसलमान खतना क्यों कराते है? क्या अल्लाह में इतनी भी शक्ति नहीं है कि मुसलमानों के खतना वाले बच्चे ही पैदा कर सके? और कुरान के विरद्ध काम करने से मुसलमानों को काफ़िर क्यों नहीं माना जाए?

2. मुसलमान मानते हैं कि अल्लाह ने फ़रिश्ते के हाथो कुरआन की पहली सूरा लिखित रूप में मुहम्मद को दी थी, लेकिन अनपढ़ होने से वह उसे नहीं पढ़ सके, इसके अलावा मुसलमान यह भी दावा करते हैं कि विश्व में कुरान एकमात्र ऐसी किताब है जो पूर्णतयः सुरक्षित है, तो मुसलमान कुरान की वह सूरा पेश क्यों नहीं कर देते जो अल्लाह ने लिख कर भेजी थी, इस से तुरंत पता हो जायेगा कि वह कागज कहाँ बना था? और अल्लाह की राईटिंग कैसी थी? वर्ना हम क्यों नहीं माने कि जैसे अल्लाह फर्जी है वैसे ही कुरान भी फर्जी है।

3. इस्लाम के मुताबिक यदि 3 दिन/माह का बच्चा मर जाये तो उसको कयामत के दिन क्या मिलेगा – जन्नत या जहन्नुम ? और किस आधार पर??

4. मरने के बाद जन्नत में पुरुष को 72 हूरी (अप्सराए) मिलेगी…तो स्त्री को क्या मिलेगा…… 72 हूरा (पुरुष वेश्या) ??और अगर कोई बच्चा पैदा होते ही मर जाये तो क्या उसे भी हूरें मिलेंगी? और वह हूरों का क्या करेगा?

5. यदि मुसलमानों की तरह ईसाई, यहूदी और हिन्दू मिलकर मुसलमानों के विरुद्ध जिहाद करें, तो क्या मुसलमान इसे धार्मिक कार्य मानेंगे या अपराध? और क्यों?

6. यदि कोई गैर मुस्लिम (काफ़िर) यदि अच्छे गुणों वाला हो तो भी, क्या अल्लाह उसको जहन्नुम की आग में झोक देगा….? और क्यों ? और, अगर ऐसा करेगा तो…. क्या ये अन्याय नहीं हुआ??

7. कुरान के अनुसार मुहम्मद सशरीर जन्नत गए थे, और वहां अल्लाह से बात भी की थी, लेकिन जब अल्लाह निराकार है, और उसकी कोई इमेज (छवि) नहीं है तो मुहम्मद ने अल्लाह को कैसे देखा?? और कैसे पहिचाना कि यह अल्लाह है, या शैतान है?

8. मुसलमानों का दावा है कि जन्नत जाते समय मुहम्मद ने येरूसलम की बैतूल मुक़द्दस नामकी मस्जिद में नमाज पढ़ी थी, लेकिन वह मुहम्मद के जन्म से पहले ही रोमन लोगों ने नष्ट कर दी थी। मुहम्मद के समय उसका नामो निशान नहीं था, तो मुहम्मद ने उसमे नमाज कैसे पढ़ी थी? हम मुहम्मद को झूठा क्यों नहीं कहें?

9. अल्लाह ने अनपढ़ मुहम्मद में ऐसी कौनसी विशेषता देखी जो उनको अपना रसूल नियुक्त कर दिया, क्या उस समय पूरे अरब में एकभी ऐसा पढ़ा लिखा व्यक्ति नहीं था, जिसे अल्लाह रसूल बना देता, और जब अल्लाह सचमुच सर्वशक्तिमान है, तो अल्लाह मुहम्मद को 63 साल में भी अरबी लिखने या पढने की बुद्धि क्यों नहीं दे पाया।

10. जो व्यक्ति अपने जिहादियों की गैंग बना कर जगह जगह लूट करवाता हो, और लूट के माल से बाकायदा अपने लिए पाँचवाँ हिस्सा (20 %) रख लेता हो, उसे उसे अल्लाह का रसूल कहने की जगह लुटरों का सरदार क्यों न कहें ?

Loading...

90 COMMENTS

  1. ye saare sawal ab tak kisi naam ke musalman se kiye gae honge… Mere paas in saare sawalo ke written jawab hai…lekin jawab dene se kya faeda..agar koi challenge kare ki in sawalo ke jawab jaanke wo islaam qubool kar lega to milujhse baat kare… In sawalo ka sahi jawab na diya to apna dharam chor doonga..

    • यार अगर जवाब आपको मालूम है तो सीधा सीधा लिख दो न कंडीशन क्यों रखते हो ?

        • Es lie apni beti se hi sambhog karne ke lie Islam me jayaz hai

          Chutiya humare haha 2musalman sage Bhai AIDS se margaye Muhammad jakir
          Muhammad Faisal laash bhi Ghar wale nahi lie

        • abey tere dhara cmein toh ek 6 saal ki bacchi ka rape karna sikhaya hai chutiye jisko mohammad ne 9 saal ki umar mein pail dia tha aisha naam ki bacchi bc Bc Apni hi bhejen se shaadi karna sikhaya hai tere aise dharma mein mohammad mein 30 admiyo ka stamina hai .aur woh har raat sabhi apni 11 biwi se sex kar leta hai Chuki thujh hai aise dhram pe aur quran pe..aur gandu jo tu mahabharat ki baat kar rha hai toh mahabharat ek dhram itihas ki kitaab hai dharm ki kitab nahi ..dharm ki kitab Veda hai . toh tum mulle gaand utha ke asmaan ki taraf namaz padhne waale nahi samaj sakte

    • [email protected]

      Yaha sab mulle chutiye hai bc

    • Panchali ne tapasya ki thi aur bhagwan shiv se 5 bar pati manga tha. shivji ne vardan diya tha Jiski wajah se unko 5 pati mile the. Par mohmmad ne 6 sal ki bachi se 50 Saal se b budha hone k baad b nikah kis bhale man se kiya.
      Bolo

    • मुसलमान अपना धर्म तो जानते नही लेकिन काँपी कर हिन्दु से सवाल पुछते रहते है जरा हमारे भी सवालो के जवाब दे दो हिम्मत है तो । 1) इस्लाम बनाने वाले मोहम्मद ने बुढापे मे अपने साथी अबु-बकर की 9 साल की बच्ची आयशा से बलात्कार किया, वो भी 9 साल की बच्ची से। क्या एैसे बलात्कारी की बनाई बातो पे इमान लाना सही है ? 2) मुहम्मद ने अपने बेटे जैद की बीबी जैनब से बलात्कार कर शादी क्यु की जैद हीजडा था ? या मुहम्मद आदत से मजबूर था ? 3) आप बकरा ईद क्यों मनाते हो ? क्योंकि आपके किन्ही साहब ने अल्लाह के आदेश पे अपने बच्चे की क़ुरबानी देनी चाही तब वहा बच्चे की जगह जानवर प्रगट हो गया , तो आप अपने बच्चों की क़ुरबानी दो ना, जानवर की क्यों देते हो अल्लाह सच्चा होगा तो बच्चे की जगह जानवर प्रगट कर देगा और ये अल्लाह है या राक्षस जो खुन खराबे से प्रसंन्न होता है ? 4) एक तरफ तो मुर्ती पुजा की विरोध करते हो दुसरी तरफ मक्का मे हजरे अस्वाद फत्तर को चुमने जाते हो फत्तर मे विश्वास नही बोलते फिर मीना की जगह फत्तर को शैतान समझ फत्तर क्यु मारते ? 5) क्यों जब मुसलमान मक्का जाते हो तो सब मुंडन कर हिन्दू जैसे सफ़ेद वस्त्र पहनते हो ? तवाफ की पुरी प्रक्रिया हिन्दु की नकल करते हो फिर मुर्ती पुजा का क्यु विरोध करते हो ?? मजार दरगाहो पे क्या होता है ? 6) क्यों हिन्दुओँ की तरह उस जगह की परिक्रमा करते हो ? जब अल्लाह सातवे आसमान पे बैठा है तो काबा को क्यु सजदा, नमस्कार करते हो ? 7) इस्लाम तो बहुत शांति का धर्मं है (आपके अनुसार), तो ऐसा क्यों इस्लाम में लिखा है कि जो काफीर (गैर मुसलमान) है उनको मार दो, आपको 72 हूरें मिलेगी ? भाई अपनी हूरों के चक्कर में हमारी जान क्यों लेना चाहते हो, थोड़ी तो इंसानीयत रखो यार! 8) कुरान 2:223 मे लिखा है औरतों को खेती की तरह जैसे चाहे इस्तेमाल करो कुरान 33:33 कहती है औरतें घर मे बच्चे पैदा करती रहे और दिन मे 5 बार नमाज फुकती रहे क्या यही इज्जत है औरत की इस्लाम मे ? औरतों को बुर्के मे एैसे कैद कर के रखते हो औरत न हो कोई आटे की बोरी हो । 9) क्यों इस्लाम में कहा गया कि पृथ्वी चोकोर है, जबकि हिन्दू धर्मं में पृथ्वी को गोल कहा गया है, तथा साइंस प्रूफ कर चूका है । 10) क्यों इस्लाम में कहा गया कि सूरज दलदल में डूब जाता है, जबकी हिन्दू धर्मं में लिखा है कि पृथ्वी सूर्य के चक्कर लगाती है ? साइंस भी प्रूफ कर चूका है हिन्दू धर्मं ने दुनिया को विमान शास्त्र, आयुर्वेद, योग और हजारों चीज़े दी हैं, इस्लाम ने दुनिया को क्या दिया, तबाही और माराकाट के अलावा ? 11) 1400 साल पहले आपका धर्म स्थापित हुआ था, उससे पहले आप क्या थे ? आपकी इबादत का तरीका क्या था ? 12) हमारा हिन्दू धर्मं हजारो साल पुराना है हमारा राम सेतु आपने भी देखा होगा, पानी में डूबी श्री कृष्णा की नगरी भी देख ली है, आपके पास क्या सबूत है कि अल्लाह ने मोहम्मद को ही भेजा था ? 13) मुसलमान जिस भी क्षेत्र मेँ जाते है या दूसरे के या खुद के धर्म वाले के साथ रहते है वहाँ इतनी अशांति क्यो हो जाती है ? 14) कुरान 2:260 मे अल्लाह इब्राहीम को यकीन दिलाने के लिए कहता है चार जानवर लो फिर उनकी मुन्डीया काटकर एक-एक कर पहाड पर रखो फिर उन्हे आवाज लगाओ देखो मुन्डीया कैसे दौडती हुई आयेगी । सवाल उठता है क्या अल्लाह खुद को सिद्ध करने एैसे फिजूल के कारनामे करता रहता है ? क्या एैसा होना संभव है ? इस्से क्या अल्लाह सिद्ध हो जायेगा ? 15) अगर इस्लाम सच्चा धर्म है तो अल्लाह मुसलमानो को खतना करके क्यु नही भेजता ? क्यु मासूम बच्चे का खतना कर उसे हिन्दु से मुसलमान बनाते हो ? 16) काल्पनिक कयामत के दिन कब्र से किसे जिन्दा किया जायेगा हड्डियो को ? क्यु की कब्र मे हड्डियाँ ही बचती है हड्डियाँ जन्नत जाकर क्या हुर्रो के साथ डिस्को करेगी ?

  2. Tujhe zyada pata he islam ke baare me…Apni aukat me rehkar baat kiya karo.. Pehle apne mazhab ko sambhal lo hamare upar baad me raay de dena…janwaro ka pesaab peete fir rahe ho tum or humko bura bata rahe ho…Ch__ye

  3. Ha ha ha, Kis bewakuf Hindu ne yeh 10 sawal kiya hai, ? Woh insaan jahiil hai aur yeh sawaal toh itna aasan hai ke thoda sa bhi padha hua Musalmaan ka baccha iska jawab de de ga?

    • Is trh k words use krna hamare Islam k khilaf h bhai, jo words aplog use kr rhe ho.

      Use ilm nhi h in sb ki to kya aplog v jahil ho jo galat word use kr rhe ho.

    • [email protected]

      chutiya bc

  4. Sahih Al Bukhari – Volume 7, Book 71, Number 590:

    Narrated Anas: “The climate of Medina did not suit some people, so the Prophet ordered them to follow his shepherd, i.e. his camels, and drink their milk and urine. So they followed the shepherd that is the camels and drank their milk and urine till their bodies became healthy.

    • अरे व्वाह उल्लाह अंग्रेजी भी पढ़ा था , सालो 10 सवालों के जवाब तो देते नहीं बन रहा उपरसे अंग्रेजी की आयतें थोप दी 😂😂😂😂😂

  5. Jisne bhi ye sab likha h sach me vo apne baap ki olaad ni ho sakta agar h to apni ma se apne bagwan ki kasam khilwa kr bulwa ki tu apne hi baap ki olaad h
    Suar ki olaad h teri ma suar k sath soyee hogi chutiye

    • To lo jawab kis bewakoof ne kaha k quraan me ye sab nhi hai sawaal no 1 ka answer quraan pak me khatne ka zikr hai khatna is liye hota hai k aids na ho dunya ka koi ek musalmaan aisa dikha do his ko aids hua ho kabhi aur khuda koi factory nhi chala raha jo had brand ke maal me uska tag lagaye usne dunya me logo ko bheja hai apna kaam khud karne k liye

  6. PEHLE SAWAAL ka Jawaab

    Jis tarah Hindu ki dharmik kitab Ved hai
    lekin dharm gyaan wo geeta se leten hain
    theek usi tarah
    quraan hume raasta batati hai
    aur us raaste pe kaise chalna hai ye hadees bataati hai
    hadis un baaton ko kehten hai jo Huzur-e-pak ke hume bataya hai.
    Quraan me pak rehne ka zikr kiya gya hai
    aur pak rehne ke ek akeedat khatna bhi hai

    DOOSRE SAWAAL KA JAWAAB

    Jis Surah ka aap zikra kar rahen hai wo hai
    “Aikra Bisme RAbbika”
    Haan quraan me allah ne khud farmaya hai ki wo iski hifaazat khud karega
    matlab
    koi bhi shaks quraan ki koi aayat even ek harf bhi badal nahi sakta
    Allah ne Quraan ki hifaazat ki baat ki hai
    ki kaagaz ya lakdi ke tukre ki nahi

    TEESRA SAWAAL

    Wo bacche jo massom hai
    jinka la-shaoor, Yaani adolecence me intekaal ho jaata hai
    unka koi hisaab nahi hota
    yaahi unhe seedhe jannat me daakhil kiya jaata hai

    CHAUTHA SAWAAL

    Isme waise to do sawaal hai
    dono ka jawaab suno
    haan har mard ko 72 hooren di jayenge
    lekin unki biwiyon ko un sab hooron se zyada khoobsoorti milegi
    saath hi
    wo biwiya un hooron ki mallika hogi
    naki wo mard
    jannat me har shaks jo dakhil ho uski umr ek hi hoga
    bachha boodha mard aurat sabki umr 33 hogi
    ek jawaan insaan

    PAANCHWA SAWAAL

    Pehle jihaad ka matlab samjho
    jihaad ka matlab ye nahi ki kisi qaum ke khilaaf saajish karo
    Jihaad ka matlab hai burai ke khilaaf kadam uthana
    so straithen up your fact on islam

    CHATA SAWAAL

    allah bahut bada meherbaan hai
    aur saare log allah ke banden hai
    allah kisi ko bhi apni nemat se nawaaz sakta hai
    to agar allah kisi gair mazhabi se kuch kaam lega
    to alaah use zaroor nawazega
    hum aur aap ye faisla nahi kar sakte ki banda jannati hoga ya jahannami

    SAATWAN SAWAAL

    Pehli baat
    Huzoor Meraj pe gaye the
    aur kahin ye zikr nahi hai ki wo janaat gaye the
    doosri baat
    Quraan aur hadees dono me kahin zikr nahi hai ki unhone Allah ko dekha
    haan guftagoon zaroor hui
    lekin face to face ki baat nahi hui.

    AATHWAN SAWAAL

    Again chek your facts
    Baitul Mukaddas masjid ka naam nahi hai
    baitul Mukaddas jagah ka naam hai
    aur jis masjid me Huzoor ne namaaz padhi thi
    us Masjid ka naam
    Masjid-e-Aqsa hai
    and it still exist
    aur ta quyaamat ye masjid rahegi

    NAUNWAN SAWAAL

    Allah ne Huzoor-e-pak ko jaan boojh kar unpadh rakha tha
    us daur me arab me logon ko apni zubaan pe bahut ghuroor tha
    koi padha likha shaksh agar naboowat ka ailaan karta to log uska yakeen nahi karte
    lekin jab Huzur-e-pak ne naboowat ka ailaan kiya tab logon ko maan na ho pada
    haan logon ke unka inkaar bhi kiya
    lekin jab dekha tab maan

    AB DASWAN SAWAAL

    Phir se Check your facts
    haan se sahi hai
    ki jang me jo kuch milta tha wo baanth liya jaata tha
    lekin
    Jang me
    aisa nahi tha ki loot hooti thi
    aur koi bhi jang bewajah nahi ladi gayi hai
    har jang se pehle har baar huzoor ne mauka diya tha…
    aur jo baat aap keh rahe ho na
    that comes in ethics of wars
    kisi bhi budhe, kamzor pe zulm nahi hota tha
    sirf ethically jang hoti thi

    AUR KOI SAWAAL JISSE BAKAUL TUMHAARE MUSALMAN BHAAGTA HO

    MAZHAB KO LEKE GALAT BAYANI MAT KARO
    HAR AADMI HAR CHEEZ SAMAJH JAYE YE ZAROORI NAHI
    ISKA MATLAB YE NAHI KI WO CHEEZ HI GALAT HAI
    ISKA MATLAB KE TUMHARA DIMAAG ABHI US CHEEZ KO SAMAJH NAHI SAKTA
    ABHI THODA AUR DEVELOP HONA HAI

    • बिलकुल सही कहा आपने इरफ़ान जी ।।।
      ये सब काफ़िर शैतान की पूजा करने वाले क्या जानेंगे ।।
      अपना तो खुद कंफर्म नही है कि अपना भगवान् है कौन और 72 तरह के शैतानो की पूजा करेंगे और दूसरों को नासिहत देंगे, पहले अपना लोग का कंफर्म करलो की मेरा भगवान् है कौन । साला अगर रात को किसी भी भगवान् को देख लो तो डर जाओ।
      कुछ हिन्दू बच्चे भी आपने ही भगवान् की शक्ल देखकर डर जाते है ।।सही बात ही शैतान को देखकर लोग डरेगा नही तो क्या करेगा।।
      अरे दुसरो को नसीहत देने वालों जाओ पहले ये पता करो की तम्हारा भगवान आखिर है कौन।। जब बोलते हो की भगवान् एक है तो आखिर ये 72 तरह के शैतान कौन है ।।

      • Teri making chut lands sale there allake mume mera bulla sour bol tera alla Kay karega sale there Allah me making chut tum safe musalamanoki making chut yede lavade sallo

      • Hame kaafir kehne walo pehle khud ke karam dekho…..mai ye nhi kehta ki har musalmaan bura hai…..par ye zarur keh sakta hu ki har bura shaksh musalmaan hai…..for example ISIS and other fucking islamic terrorist groups.

  7. Galiya dena aasan hai… if this is so simple that any little child who have studied kuran can give answer than plzzz somebody… gaali dene k bajaay answer de do…

  8. कटवे मुल्लो इस लिंक को भी पढलो थोड़ा नहीं दे सकते इन 10 सवालों के जवाब तो , एक मौलवी को सेगी बहन से भी सम्भोग करने का फतवा या फट्वा निकालता है अब तुम्हारा मुहम्मद जिसे किसी ढोंगी ने कोई किताब थमाई उसने भी उसके मौसी को ठोक दिया क्या जवाब दे सकते हो तुम ।

    http://allindiapost.com/muhmmd-gharelu-roop-se-vyabhichari-the-ye-rha-hadis-me-iska-sabut/

    • Tere sawal ke jawab upar likhe hain aur tu apni maa se jaake puchh tu yaqeenan haraam ki aulaad honga Jo hamare nabee ki guatakhi karta hain WO kabhi apne baap ka halali beta nai ho Santa WO haraami ho hota hain agar yaqeen na aaye tou apni maa se jaake puchh Ke confirm kar de

  9. Abe lodo pahe khud ka dharm deko ramaya me konsi sachai he sita anka me hone ke bavaju lav or kush huve to kya ravan ne sita (bharat ki sab se badi rand) ki bhose me 9 lode dala tha ya fir hanuman ne sita ki chut me gada sa land dal ke uski chut ka kachmbar banaya tha, to kya lav kush ravan or hanuman ki chudai ki aulad thi, ram randva kuch nahi karsaka napunsak ki aulad thu…

  10. En chutiyo ko apne baap ka nhi pta hota …fer enko or kya pta hoga ..apni hi bhn ko chodte h or baat krte h tumhare maaa ki chut mulllooo gand maro mojj lo or india me to hinduo ke lund pe hi tyohar mnate ho … Gànd fadni suru kri na to salo kabar me bhi jgh nhi milegi mc

  11. Jis Jis ne musalmano ke khilaf hath uthaya wo Hindu Bana raha Aur Jis Jis ne pair uthaya wo musalmaan Bana baki to aap sabhi samajhdaar hai

  12. Pishsb pine walon pehle khud ke dharam Ki kitabon ko thik se padh lo ye sare jawab tumhen apne aap mil jayenge…..khud Ki zaat ka pata NA baap ka pata chalen hen duron par ungli uthane..!

  13. Yeh saare bekar aur mangadhanth sawal hai. Saare sawal hi jhoote hain to inka jawab kya hoga. Is bekar ke writer ko jagah kisne de di time barbad karne ke liye doosron ka. Yeh chootiya writer apne aap ko hoshiyar aur baki ko chutiya samajh raha hai balki woh khud chutiya hai.

  14. Kash tumne quraan ko padha or samjha hota to aisi behuda baten kabhi NA likhte…….sari dunya ko challenge he quraan kisi bhi chiz ko scientific tarike se galat sabit karke bata de…….!!!

  15. Abhi is post me likha gya h ki bhart me jinte b Muslim h in sabke purwaj hindu the aur unhe Muslim badshaho ne jabran Muslim bnaya.
    Chaliye maan liya jata h but ek bat aap log btaiye ki sabke purwajo ko jb Muslim badshah jabran Islam qubool krwa rhe the to aap logo k purwaj kaise Bach gye..

    Isme to ek hi bat ho sakti ki paida hone k bad aapne apne purwajo k against ja k fir se hindu dharm apna liya ya fir aap logo k purwaj bhartiya mahadveep k the hi nhi.

    In bato me sach kya h ye to aap hi me se koi vidhwaan bta sakta h

    MAI TO NHI JANTA HU

  16. अरे मूर्खों इस दुनिया में कुछ भी सत्य नहीं हैँ एक् सतय हैँ कि पैदा हुवे हो तो मरोगे भी न तुम्हारा अल्ला बचाएगा न तुम्हारा भगवान परउफ चाहिए तो 8600728539

  17. इस्लाम को आंतकवादी बोलते हो। जापान मे तो अमेरिका ने परमाणु बम गिराया लाखो बेगुनाह मारे गये तो क्या अमेरिका आंतकवादी नही है। प्रथम विश्व युध्द मे करोडो लोग मारे गये इनको मारने मे भी कोई मुस्लिम नही था। तो क्या अब भी मुस्लिम आंतकवादी है। दूसरे विश्व युध्द मे भी लाखो करोडो निर्दोषो की जान गयी इनको मारने मे भी कोई मुस्लिम नही था। तो क्या मुस्लिम अब भी आंतकवादी हुए अगर नही तो फिर तुम इस्लाम को आंतकवादी बोलते कैसे हो। बेशक इस्लाम शान्ति का मज़हब है।और हाॅ कुछ हदीस ज़ईफ होती है।ज़ईफ हदीस उनको कहते है जो ईसाइ और यहूदियो ने गढी है। जैसे मुहम्मद साहब ने 9 साल की लडकी से निकाह किया ये ज़ईफ हदीस है। आयशा की उम्र 19 साल थी। ये उलमाओ ने साबित कर दिया है। क्योकि आयशा की बडी बहन आसमा आयशा से 10 साल बडी थी और आसमा का इंतकाल 100 वर्ष की आयु मे 73 हिज़री को हुआ। 100 मे से 73 घटाओ तो 27 साल हुए।आसमा से आयशा 10 साल छोटी थी तो 27-10=17 साल की हुई आयशा और आप सल्ललाहु अलैही वसल्लम ने आयशा से 2 हिज़री को निकाह किया।अब 17+2=19 साल हुए। इस तरह शादी के वक्त आयशा की उम्र 19 आप सल्ललाहु अलैही वसल्लम की 40 साल थी।हिन्दुओ का इतिहास द्रोपती ने 5 पांडवो से शादी की तो क्या ये गलत नही है हम मुसलमान तो 4 औरते से शादी कर सकते है ऐसी औरते जो विधवा हो बेसहारा हो। लेकिन क्या द्रोपती सेक्स की भूखी थी। और शिव की पत्नी पार्वती ने गणेश को जन्म दिया शिव की पीछे। पार्वती ने फिर किस के साथ सेक्स किया ।इसलिए शिव ने उस लडके की गर्दन काट दी क्या भगवान हत्या करता है ।श्री कृष्ण गोपियो को नहाते हुए क्यो देखता था और उनके कपडे चुराता था जबकि कृष्ण तो भगवान था क्या भगवान ऐसा गंदा काम कर सकता है । महाभारत मे लिखा है कृष्ण की 16108 बीविया थी तो फिर हम मुस्लिमो को एक से अधिक शादी करने पर बुरा कहा जाता । महाभारत युध्द मे जब अर्जुन हथियार डाल देता तो क्यो कृष्ण ये कहते है ऐ अर्जुन क्या तुम नपुंसक हो गये हो लडो अगर तुम लडते लडते मरे तो स्वर्ग को जाओगे और अगर जीत गये तो दुनिया का सुख मिलेगा। तो फिर हम मुस्लिमो को क्यो बुरा कहा जाता है हम जिहाद बुराई के खिलाफ लडते है अत्यचारियो और आक्रमणकारियो के विरूध वो अलग बात है कुछ लोग जिहाद के नाम पर बेगुनाहो को मारते है और जो ऐसा करते है वे ना मुस्लिम है और ना ही इन्सान जानवर है। राम और कृष्ण के तो मा बाप थे क्या कोई इन्सान भगवान को जन्म दे सकता है। वेद मे तो लिखा है ईश्वर अजन्मा है और सीता की बात करू तो राम तो भगवान थे क्या उनमे इतनी भी शक्ति नही थी कि वे सीता के अपहरण को रोक सके। राम जब भगवान थे तो रावण की नाभि मे अमृत है ये उनको पहले से ही क्यो नही पता था रावण के भाई ने बताया तब पता चला। क्या तुम्हारे भगवान राम को कुछ पता ही नही कैसा भगवान है ये। और इन्द्र देवता ने साधु का वेश धारण कर अपनी पुत्रवधु का बलात्कार किया फिर भी आप देवता क्यो मानते हो। खुजराहो के मन्दिर मे सेक्सी मानव मूर्तिया है क्या मन्दिर मे सेक्स की शिक्षा दी जाती है मन्दिरो मे नाच गाना डीजे आम है क्या ईश्वर की इबादत की जगह गाने हराम नही है ।राम ने हिरण का शिकार क्यो किया बहुत से हिन्दु कहते है हिरण मे राक्षस था तो क्या आपके राम भगवान मे हिरण और राक्षस को अलग करने की क्षमता नही थी ये कैसा भगवान है।हमे कहते हो जीव हत्या पाप है मै भी मानता हू कुत्ते के बेवजह मारना पाप है । कीडी मकोडो को मारना पाप है पक्षियो को मारना पाप है।

    • Lala teri samajh me naa bethi baat tu abhi balak h. Phle ye bta tera bhagwan kon h. Tune apne bhagwan ko kabhi dekha h. Ya uski tasveer dekhi h. Alla who akbar kyo kahte ho tum log kya akbar se poochte ho tumhara bhagwan kon h. Toe apne bhagwan ki PTO na he be phaltu me gand mr va ro h.

  18. इस्लाम को आंतकवादी बोलते हो। जापान मे तो अमेरिका ने परमाणु बम गिराया लाखो बेगुनाह मारे गये तो क्या अमेरिका आंतकवादी नही है। प्रथम विश्व युध्द मे करोडो लोग मारे गये इनको मारने मे भी कोई मुस्लिम नही था। तो क्या अब भी मुस्लिम आंतकवादी है। दूसरे विश्व युध्द मे भी लाखो करोडो निर्दोषो की जान गयी इनको मारने मे भी कोई मुस्लिम नही था। तो क्या मुस्लिम अब भी आंतकवादी हुए अगर नही तो फिर तुम इस्लाम को आंतकवादी बोलते कैसे हो। बेशक इस्लाम शान्ति का मज़हब है।और हाॅ कुछ हदीस ज़ईफ होती है।ज़ईफ हदीस उनको कहते है जो ईसाइ और यहूदियो ने गढी है। जैसे मुहम्मद साहब ने 9 साल की लडकी से निकाह किया ये ज़ईफ हदीस है। आयशा की उम्र 19 साल थी। ये उलमाओ ने साबित कर दिया है। क्योकि आयशा की बडी बहन आसमा आयशा से 10 साल बडी थी और आसमा का इंतकाल 100 वर्ष की आयु मे 73 हिज़री को हुआ। 100 मे से 73 घटाओ तो 27 साल हुए।आसमा से आयशा 10 साल छोटी थी तो 27-10=17 साल की हुई आयशा और आप सल्ललाहु अलैही वसल्लम ने आयशा से 2 हिज़री को निकाह किया।अब 17+2=19 साल हुए। इस तरह शादी के वक्त आयशा की उम्र 19 आप सल्ललाहु अलैही वसल्लम की 40 साल थी।

    • Pahle ye nafrat jahar chlne se kh du tum ko islam ke bare me kuchh maalum nahi .ye jo tum swal kiye iska jawab parha likha muslman de dega.aur quran me bhi hai .jab tum kucch jante hi nahi ho keyon jahar ghol rha ho .tum log kahte ho islam talwar ke jor pe phika hai tum hi itihas with kar dekh lo ki muslman badshahi ki hukumat thi we chahte to har ek khich kar talwar ke dam pe islam qbulwa lete aur pura hindustan muslman hota par tum log shirf islam aur islam ke manne waalon ko galt samajhte ho par tum dekho apne aap ko hindustaan me jahar kaun faila rah hai.
      Itna yaad rakho is hidustan ke tum diwar ho to ham new.
      Kamine aaj ki bad aise sab sab baat post mat karna .tum keya samjhte insab sawalon ko jab ham nahi de payegen.
      Ye watan hai hamara hamara rehega tumhari bhi khun bhagi hai tio hamari bhi khun bha hai .
      Tum diwar ho to ham iske mere .

  19. kya yaar jati ko lekar ladai kar rhe ho kisi ka bhi kuch glat nhi hai ye sab prabhu ki maya hai kbhi dhop to kbhi chhaya hai…………sbka malik ej hota hai…rup bas anek hai…..

  20. Jo apney mooh se bechpan se sister kehtey aaye or moka mila jawani mai to sex kar liya nikhaa kar liya …… yahi jubban hoti hai…..dhoka dena toh feetrat hai saalo ki

  21. Bhai pehle yeh batao Jise tum Bhagwan bolte ho , woh apna Khud hi kyun nahi hifazat karte. Puja karne k baad tumlog apna hi Bhagwan ko ganr me lat mar kar fek dete toh woh apne ko kyun nahi bachate.

    Bhagwan Vishnu madar chod apna Beti Saraswati ko kyun pela.

    Krishna 16000 shadi kyun ki

  22. Tum log khud hi apna Dhahran pata nahi hai aur dusro k dharma ko bolte ho
    Tum jis cow ko Bhagwan Mante ho, ussi cow ko Mahabharata mein khane ka Adesh diya Gaya hai

  23. Aalaa hu akbar fhir akbar se kese poochte ho ki hamare allaha kon h.jis bhagwan ki tumne abhi tk tasveer tak nhi dekhi vo kesa bhagwan hai .

  24. PEHLE SAWAAL ka Jawaab

    Jis tarah Hindu ki dharmik kitab Ved hai
    lekin dharm gyaan wo geeta se leten hain
    theek usi tarah
    quraan hume raasta batati hai
    aur us raaste pe kaise chalna hai ye hadees bataati hai
    hadis un baaton ko kehten hai jo Huzur-e-pak ke hume bataya hai.
    Quraan me pak rehne ka zikr kiya gya hai
    aur pak rehne ke ek akeedat khatna bhi hai

    DOOSRE SAWAAL KA JAWAAB

    Jis Surah ka aap zikra kar rahen hai wo hai
    “Aikra Bisme RAbbika”
    Haan quraan me allah ne khud farmaya hai ki wo iski hifaazat khud karega
    matlab
    koi bhi shaks quraan ki koi aayat even ek harf bhi badal nahi sakta
    Allah ne Quraan ki hifaazat ki baat ki hai
    ki kaagaz ya lakdi ke tukre ki nahi

    TEESRA SAWAAL

    Wo bacche jo massom hai
    jinka la-shaoor, Yaani adolecence me intekaal ho jaata hai
    unka koi hisaab nahi hota
    yaahi unhe seedhe jannat me daakhil kiya jaata hai

    CHAUTHA SAWAAL

    Isme waise to do sawaal hai
    dono ka jawaab suno
    haan har mard ko 72 hooren di jayenge
    lekin unki biwiyon ko un sab hooron se zyada khoobsoorti milegi
    saath hi
    wo biwiya un hooron ki mallika hogi
    naki wo mard
    jannat me har shaks jo dakhil ho uski umr ek hi hoga
    bachha boodha mard aurat sabki umr 33 hogi
    ek jawaan insaan

    PAANCHWA SAWAAL

    Pehle jihaad ka matlab samjho
    jihaad ka matlab ye nahi ki kisi qaum ke khilaaf saajish karo
    Jihaad ka matlab hai burai ke khilaaf kadam uthana
    so straithen up your fact on islam

    CHATA SAWAAL

    allah bahut bada meherbaan hai
    aur saare log allah ke banden hai
    allah kisi ko bhi apni nemat se nawaaz sakta hai
    to agar allah kisi gair mazhabi se kuch kaam lega
    to alaah use zaroor nawazega
    hum aur aap ye faisla nahi kar sakte ki banda jannati hoga ya jahannami

    SAATWAN SAWAAL

    Pehli baat
    Huzoor Meraj pe gaye the
    aur kahin ye zikr nahi hai ki wo janaat gaye the
    doosri baat
    Quraan aur hadees dono me kahin zikr nahi hai ki unhone Allah ko dekha
    haan guftagoon zaroor hui
    lekin face to face ki baat nahi hui.

    AATHWAN SAWAAL

    Again chek your facts
    Baitul Mukaddas masjid ka naam nahi hai
    baitul Mukaddas jagah ka naam hai
    aur jis masjid me Huzoor ne namaaz padhi thi
    us Masjid ka naam
    Masjid-e-Aqsa hai
    and it still exist
    aur ta quyaamat ye masjid rahegi

    NAUNWAN SAWAAL

    Allah ne Huzoor-e-pak ko jaan boojh kar unpadh rakha tha
    us daur me arab me logon ko apni zubaan pe bahut ghuroor tha
    koi padha likha shaksh agar naboowat ka ailaan karta to log uska yakeen nahi karte
    lekin jab Huzur-e-pak ne naboowat ka ailaan kiya tab logon ko maan na ho pada
    haan logon ke unka inkaar bhi kiya
    lekin jab dekha tab maan

    AB DASWAN SAWAAL

    Phir se Check your facts
    haan se sahi hai
    ki jang me jo kuch milta tha wo baanth liya jaata tha
    lekin
    Jang me
    aisa nahi tha ki loot hooti thi
    aur koi bhi jang bewajah nahi ladi gayi hai
    har jang se pehle har baar huzoor ne mauka diya tha…
    aur jo baat aap keh rahe ho na
    that comes in ethics of wars
    kisi bhi budhe, kamzor pe zulm nahi hota tha
    sirf ethically jang hoti thi

    AUR KOI SAWAAL JISSE BAKAUL TUMHAARE MUSALMAN BHAAGTA HO

    MAZHAB KO LEKE GALAT BAYANI MAT KARO
    HAR AADMI HAR CHEEZ SAMAJH JAYE YE ZAROORI NAHI
    ISKA MATLAB YE NAHI KI WO CHEEZ HI GALAT HAI
    ISKA MATLAB KE TUMHARA DIMAAG ABHI US CHEEZ KO SAMAJH NAHI SAKTA
    ABHI THODA AUR DEVELOP HONA HAI

Leave a Reply