मुस्लिम महिला फिर शौहर के साथ रहने के लिए हलाला को भी राजी है, पर सभी मौलवी भाग खड़े हुए

0

गोरखपुर की जैबुनिसा की कहानी बहुत सुर्खियां बंटोर रही है उसके शोहर ने गुस्से में उसे तीन तलाक दे दिया, शोहर 90 साल का है और बुजुर्ग जैबुनिसा 80 साल की अब तलाक दे दिया है, तो बिचारी बुजुर्ग को घर भी छोड़ना पड़ा है, आपको ये जानकार हैरानी होगी की  उसके शोहर को भी पछतावा हुआ है, और दोनों ही फिर से निकाह कर साथ भी रहना चाहते है पर समस्या ये आ रही है की, इस बुजुर्ग का हलाला करने को कोई राजी नहीं है  चूँकि ये 80 साल की बुजुर्ग है

पर यहाँ बड़ा सवाल ये है की, अब मजहब का क्या होगा ? क्यूंकि ये तो मजहब का ही तरीका है की, तलाक के बाद हलाला होगा और फिर निकाह अब ये महिला मजहब के पालन को तैयार है, हलाला करवाकर वापस शोहर के पास जाना चाहती है, पर इस्लाम के ठेकेदार मुल्ला, मौलवी, मौलाना, इमाम सबके सब फरार है

ये क्या ईश्वर (अल्लाह) का बनाया हुआ नियम है ? इतनी कमियां इस हलाला तीन तलाक में, ये किस ईश्वर ने बनाई है, ईश्वर क्या कमियां करता है ?? अगर जैबुनिसा 80 साल की न होकर जवान होती तो क्या मौलवी हलाला नहीं करते
अभी कहाँ मुँह छुपाये भागे हुए है, इस महिला को इन्साफ कौन देगा ?

Loading...

Leave a Reply