मुहम्मद स्वयं हिन्दू ही जन्मे थे, होती थी महादेव की पूजा, इसके तथ्य भी हैं मौजूद

107

इराक का एक पुस्तक है जिसे इराकी सरकार ने खुद छपवाया था। इस किताब में 622 ई से पहले के अरब जगत का जिक्र है। आपको बता दें कि ईस्लाम धर्म की स्थापना इसी साल हुई थी। किताब में बताया गया है कि मक्का में पहले शिवजी का एक विशाल मंदिर था जिसके अंदर एक शिवलिंग थी जो आज भी मक्का के काबा में एक काले पत्थर के रूप में मौजूद है। पुस्तक में लिखा है कि मंदिर में कविता पाठ और भजन हुआ करता था।

प्राचीन अरबी काव्य संग्रह गंथ ‘सेअरूल-ओकुल’ के 257वें पृष्ठ पर मोहम्मद से 2300 वर्ष पूर्व एवं ईसा मसीह से 1800 वर्ष पूर्व पैदा हुए लबी-बिन-ए-अरव्तब-बिन-ए-तुरफा ने अपनी सुप्रसिद्ध कविता में भारत भूमि एवं वेदों को जो सम्मान दिया है, वह इस प्रकार है-

“अया मुबारेकल अरज मुशैये नोंहा मिनार हिंदे।
व अरादकल्लाह मज्जोनज्जे जिकरतुन।1।

वह लवज्जलीयतुन ऐनाने सहबी अरवे अतुन जिकरा।
वहाजेही योनज्जेलुर्ररसूल मिनल हिंदतुन।2।

यकूलूनल्लाहः या अहलल अरज आलमीन फुल्लहुम।
फत्तेबेऊ जिकरतुल वेद हुक्कुन मालन योनज्वेलतुन।3।

वहोबा आलमुस्साम वल यजुरमिनल्लाहे तनजीलन।
फऐ नोमा या अरवीयो मुत्तवअन योवसीरीयोनजातुन।4।

जइसनैन हुमारिक अतर नासेहीन का-अ-खुबातुन।
व असनात अलाऊढ़न व होवा मश-ए-रतुन।5।”

अर्थात-(1) हे भारत की पुण्य भूमि (मिनार हिंदे) तू धन्य है, क्योंकि ईश्वर ने अपने ज्ञान के लिए तुझ को चुना। (2) वह ईश्वर का ज्ञान प्रकाश, जो चार प्रकाश स्तम्भों के सदृश्य सम्पूर्ण जगत् को प्रकाशित करता है, यह भारतवर्ष (हिंद तुन) में ऋषियों द्वारा चार रूप में प्रकट हुआ।

(3) और परमात्मा समस्त संसार के मनुष्यों को आज्ञा देता है कि वेद, जो मेरे ज्ञान है, इनकेअनुसार आचरण करो।(4) वह ज्ञान के भण्डार साम और यजुर है, जो ईश्वर ने प्रदान किये। इसलिए, हे मेरे भाइयों! इनको मानो, क्योंकि ये हमें मोक्ष का मार्ग बताते है।

(5) और दो उनमें से रिक्, अतर (ऋग्वेद, अथर्ववेद) जो हमें भ्रातृत्व की शिक्षा देते है, और जो इनकी शरण में आ गया, वह कभी अन्धकार को प्राप्त नहीं होता।

इस्लाम मजहब के प्रवर्तक मोहम्मद स्वयं भी वैदिक परिवार में हिन्दू के रूप में जन्में थे, और जब उन्होंने अपने हिन्दू परिवार की परम्परा और वंश से संबंध तोड़ने और स्वयं को पैगम्बर घोषित करना निश्चित किया, तब संयुक्त हिन्दू परिवार छिन्न-भिन्न हो गया

और काबा में स्थित महाकाय शिवलिंग (संगेअस्वद) के रक्षार्थ हुए युद्ध में पैगम्बर मोहम्मद के चाचा उमर-बिन-ए-हश्शाम को भी अपने प्राण गंवाने पड़े।

उमर-बिन-ए-हश्शाम का अरब में एवं केन्द्र काबा (मक्का) में इतना अधिक सम्मान होता था कि सम्पूर्ण अरबी समाज, जो कि भगवान शिव के भक्त थे एवं वेदों के उत्सुक गायक तथा हिन्दू देवी-देवताओं के अनन्य उपासक थे, उन्हें अबुल हाकम अर्थात ‘ज्ञान का पिता’ कहते थे। बाद में मोहम्मद के नये सम्प्रदाय ने उन्हें ईर्ष्यावश अबुलजिहाल ‘अज्ञान का पिता’ कहकर उनकी निन्दा की।

जब मोहम्मद ने मक्का पर आक्रमण किया, उस समय वहाँ बृहस्पति, मंगल, अश्विनीकुमार, गरूड़, नृसिंह की मूर्तियाँ प्रतिष्ठित थी। साथ ही एक मूर्ति वहाँ विश्वविजेता महाराजा बलि की भी थी, और दानी होने की प्रसिद्धि से उसका एक हाथ सोने का बना था।

‘Holul’ के नाम से अभिहित यह मूर्ति वहां इब्राहम और इस्माइल की मूर्त्तियों के बराबर रखी थी। मोहम्मद ने उन सब मूर्त्तियों को तोड़कर वहां बने कुएं में फेंक दिया, किन्तु तोड़े गये शिवलिंग का एक टुकडा आज भी काबा में सम्मानपूर्वक न केवल प्रतिष्ठित है, वरन् हज करने जाने वाले मुसलमान उस काले (अश्वेत) प्रस्तर खण्ड अर्थात ‘संगे अस्वद’ को आदर मान देते हुए चूमते है।

जबकि इस्लाम में मूर्ति पूजा या अल्लाह के अलावा किसी की भी स्तुति हराम है
प्राचीन अरबों ने सिन्ध को सिन्ध ही कहा तथा भारत वर्ष के अन्य प्रदेशों को हिन्द निश्चित किया। सिन्ध से हिन्द होने की बात बहुत ही अवैज्ञानिक है। इस्लाम मत के प्रवर्तक मोहम्मद के पैदा होने से 2300 वर्ष पूर्व यानि लगभग 1800 ईश्वी पूर्व भी अरब में हिंद एवं हिंदू शब्द का व्यवहार ज्यों कात्यों आज ही के अर्थ में प्रयुक्त होता था।

अरब की प्राचीन समृद्ध संस्कृति वैदिक थी तथा उस समय ज्ञान-विज्ञान, कला-कौशल, धर्म-संस्कृति आदि में भारत (हिंद) के साथ उसके प्रगाढ़ संबंध थे। हिंद नाम अरबों को इतना प्यारा लगा कि उन्होंने उस देश के नाम पर अपनी स्त्रियों एवं बच्चों के नाम भी हिंद पर रखे।

अरबी काव्य संग्रह ग्रंथ ‘ से अरूल-ओकुल’ के 253वें पृष्ठ पर हजरत मोहम्मद के चाचा उमर-बिन-ए-हश्शाम की कविता है जिसमें उन्होंने हिन्दे यौमन एवं गबुल हिन्दू का प्रयोग बड़े आदर से किया है। ‘उमर-बिन-ए-हश्शाम’ की कविता नई दिल्ली स्थित मन्दिर मार्ग पर श्री लक्ष्मीनारायण मन्दिर (बिड़लामन्दिर) की वाटिका में यज्ञशाला के लाल पत्थर के स्तम्भ (खम्बे) पर कालीस्याही से लिखी हुई है, जो इस प्रकार है –

” कफविनक जिकरा मिन उलुमिन तब असेक ।
कलुवन अमातातुल हवा व तजक्करू ।1।

न तज खेरोहा उड़न एललवदए लिलवरा ।
वलुकएने जातल्लाहे औम असेरू ।2।

व अहालोलहा अजहू अरानीमन महादेव ओ ।
मनोजेल इलमुद्दीन मीनहुम व सयत्तरू ।3।

व सहबी वे याम फीम कामिल हिन्दे यौमन ।
व यकुलून न लातहजन फइन्नक तवज्जरू ।4।

मअस्सयरे अरव्लाकन हसनन कुल्लहूम ।
नजुमुन अजा अत सुम्मा गबुल हिन्दू ।5।

अर्थात् –(1) वह मनुष्य, जिसने सारा जीवन पाप व अधर्म में बिताया हो, काम, क्रोध में अपने यौवन को नष्ट किया हो। (2) यदि अन्त में उसको पश्चाताप हो, और भलाई की ओर लौटना चाहे, तो क्या उसका कल्याण हो सकता है ?
(3) एक बार भी सच्चे हृदय से वह महादेव जी की पूजा करे, तो धर्म-मार्ग में उच्च से उच्चपद को पा सकता है। (4) हे प्रभु ! मेरा समस्त जीवन लेकर केवल एक दिन भारत (हिंद) के निवास का दे दो, क्योंकि वहां पहुंचकर मनुष्य जीवन-मुक्त हो जाता है।

(5) वहां की यात्रा से सारे शुभ कर्मो की प्राप्ति होती है, और आदर्शगुरूजनों (गबुल हिन्दू) का सत्संग मिलता है।

Loading...

107 COMMENTS

  1. Can i get the e mail id of the author? I have some questions to ask.
    Or he can provide me the name of book where all these are written. which he has mentioned in his first two lines.

  2. Shayad Apko Muslim histry ko padhne ki jarurat he. Apko pata chalega Ki wo pathar hajreaswad kaha se aya or Hamare nabi Kis Khandan se the. Or islam kya he.

    • Bhai koi fayda nahi… these r those bastard who can replace their own father for sake of power to history kya cheez hai… padha to inke baapne b kabhi history nahi hoga…

      • Jaise Pakistan samajhta hai wo keede ki tarah khud paida hua hai, waise he yanha kuch log bhi galat samjah rahe hai. The story is true as in case of Pakistan is actually a Hindustan

      • to tu apne baap ki history bta de….kab mulle bne tumlog or ha agar indian history padhi ho to ye v pta hoga k logo ko musalman kaise bnaya jata tha….agar nhi padhi to Guru govind singh or shivaji ki hi history padh lena utne me hi smjh aa jaega k tumlog kaha se aaye

  3. Mr. Nirale. Tujhe pata h k Mohammad kya tha aur kitna ghatiya tha.. Usne bhagwan(Allah) ke naam par aap sabhi Muslims ko murkh banaya hai. Lekin murkh kaum ho..samjhoge nahi..!!

    • Unhone hume murkh banaya k nahi ye tu ya ye tera feku author bataega…😀😁😂
      beta pahle ye to samajhle k tum logo ko ab tak kaun murkh bana raha hai…

      • अरे भाई आप लोग इतिहास पर बिदक क्यों जाते हो। आप कुरान और हदीश से दुनिया समझते हो लेकिन दुनिया भर के इतिहास कार हमेशा शोध सिर्फ इस बात पर करते है की इस्लाम और ईसाइयत के पहले वह के लोग किश धर्म को मानते थे और फिर किस तरह धर्मान्तरित हुए. तो इसमें बुरा क्या है और क्या ऐसी शोद को रोका जा सकता है ? प्रमाणों को बाद के इतिहास की वजह से जुटलाय जा सकता है ? २० लाख ३० लाख साल पहले के डायनासोर पर अचूक सोध कर ली विद्वानों ने तो क्या २००० साल की शोद में गड़बड़ी कर सकते है ? ज़ाकिर नायक ने भी मोहम्मद के बारे में ‘भविष्य पुराण ‘ भी लिखा गया है ये बतलाया था। तुम किसे किसे और कहा कहा गलत साबित करोंगे और क्या मिल जायेगा।

      • Arabs had a long history of trading with India before Islam. Naturally they used to follow the rituals and traditions of Hinduism. Sair ul Okuz is denied by muslims but this book has nothing to do with muslims as its contents reflect great poetry of pre islamic arabs. Except Madina(Yantrib), the entire present day muslim community consists of descendants of those who were converted by force to islam, that is why muslims are so much intolerant. Even their holy book is just a copy of Old Testament with a few additions. In the chapter Al Nisa of their book it has been revealed by their private limited allah that Women are like your agriculture fields, go to them as you like and then handover them further. Totally uninspiring and unscientific book.

  4. Jo insan post karta hai pahle unke bare me acha se jan le tabhi post kare agar nahi janta hai to khud aapna time kharab karna aur dusron ka time kharab karna uske aisa bewakuf koi nahi hoga

  5. कुरेश वंश की उत्पत्ति मलेच्छ वंश से हुई है और मलेशिया के एक राजा थे जिनके सात पुत्र थे उन्मूलन से एक की संतान कुरैश थे मकूबल नामक भी थे जो कि राज्य की जनता की परेशानी को देखते हुए उन्होंने आत्महत्या करली थी और वह पांच थे उनके जन्म होतै ही मौत हो गई थी कुरैश वंश मै जन्म लिया मोहम्मद ने और अनेक प्रकार के कार्य किए कभी भी सफलता हासिल नही हुई ऊपर पद पाने की चाह मोहम्मद की खाला ने ही उत्पन्न की थी उसकी चाह मै उनके चाची का देहांत हुआ तो जब उसे जलाने जारहै थे लोग तो उन्होंने अपने पिता की मौत के बाद गाड़ने का कहा और यही हुआ

    • अरब-दुबई के अलावा दुनियाँ भर के मुस्लमान् “धर्मांतरित-कौम है जो मात्र जिहाद या दुनियाँ में नियंत्र बनाने के लिए एक-मजदूर सौनिक की तरह हैं। आज अमेरिका ने इस्लाम को दुनियाँ के समक्ष खोलकर रख दिया है। कि मुस्लिम ही आतंकवादी संप्रदाय है अब निश्चित तौर पर “काबा की हज रूपी “जजिया” की दिशा “यरूशलम” की ओर बढेगी। इस्लाम; सनातन-धर्म की विपरित प्रथा है।

  6. Chalo wo apne bhagwan ko hi pooj rhe h,,,ab thik,,,gjb murkho ki jamaat h yr,,,,Hindu or Muslim,, saalo KB ye dharam pr ladna chodoge…yr wo apne ghar m khus hm apne,,,dat is call na true Hindu fir bhi yrrrrrrr ,,,,gjb h

    • Wo apne ghar me khus rahe tab to koi dikkat hi nahi thi . Vo muslim kabhi apne me khus rahta hi nahi hai , hamesa vistaar baad ka pitthoo banaa rahta hai . Jis kisi muslim bhayi ko mere baat pe aetaraaz hai wo kripaya mujhe “GAZVA -E-HIND” ka matlab samjha de . Badi meharbaani hogi .

  7. मुसलमान अपना धर्म तो जानते नही लेकिन काँपी कर हिन्दु से सवाल पुछते रहते है जरा हमारे भी सवालो के जवाब दे दो हिम्मत है तो । 1) इस्लाम बनाने वाले मोहम्मद ने बुढापे मे अपने साथी अबु-बकर की 9 साल की बच्ची आयशा से बलात्कार किया, वो भी 9 साल की बच्ची से। क्या एैसे बलात्कारी की बनाई बातो पे इमान लाना सही है ? 2) मुहम्मद ने अपने बेटे जैद की बीबी जैनब से बलात्कार कर शादी क्यु की जैद हीजडा था ? या मुहम्मद आदत से मजबूर था ? 3) आप बकरा ईद क्यों मनाते हो ? क्योंकि आपके किन्ही साहब ने अल्लाह के आदेश पे अपने बच्चे की क़ुरबानी देनी चाही तब वहा बच्चे की जगह जानवर प्रगट हो गया , तो आप अपने बच्चों की क़ुरबानी दो ना, जानवर की क्यों देते हो अल्लाह सच्चा होगा तो बच्चे की जगह जानवर प्रगट कर देगा और ये अल्लाह है या राक्षस जो खुन खराबे से प्रसंन्न होता है ? 4) एक तरफ तो मुर्ती पुजा की विरोध करते हो दुसरी तरफ मक्का मे हजरे अस्वाद फत्तर को चुमने जाते हो फत्तर मे विश्वास नही बोलते फिर मीना की जगह फत्तर को शैतान समझ फत्तर क्यु मारते ? 5) क्यों जब मुसलमान मक्का जाते हो तो सब मुंडन कर हिन्दू जैसे सफ़ेद वस्त्र पहनते हो ? तवाफ की पुरी प्रक्रिया हिन्दु की नकल करते हो फिर मुर्ती पुजा का क्यु विरोध करते हो ?? मजार दरगाहो पे क्या होता है ? 6) क्यों हिन्दुओँ की तरह उस जगह की परिक्रमा करते हो ? जब अल्लाह सातवे आसमान पे बैठा है तो काबा को क्यु सजदा, नमस्कार करते हो ? 7) इस्लाम तो बहुत शांति का धर्मं है (आपके अनुसार), तो ऐसा क्यों इस्लाम में लिखा है कि जो काफीर (गैर मुसलमान) है उनको मार दो, आपको 72 हूरें मिलेगी ? भाई अपनी हूरों के चक्कर में हमारी जान क्यों लेना चाहते हो, थोड़ी तो इंसानीयत रखो यार! 8) कुरान 2:223 मे लिखा है औरतों को खेती की तरह जैसे चाहे इस्तेमाल करो कुरान 33:33 कहती है औरतें घर मे बच्चे पैदा करती रहे और दिन मे 5 बार नमाज फुकती रहे क्या यही इज्जत है औरत की इस्लाम मे ? औरतों को बुर्के मे एैसे कैद कर के रखते हो औरत न हो कोई आटे की बोरी हो । 9) क्यों इस्लाम में कहा गया कि पृथ्वी चोकोर है, जबकि हिन्दू धर्मं में पृथ्वी को गोल कहा गया है, तथा साइंस प्रूफ कर चूका है । 10) क्यों इस्लाम में कहा गया कि सूरज दलदल में डूब जाता है, जबकी हिन्दू धर्मं में लिखा है कि पृथ्वी सूर्य के चक्कर लगाती है ? साइंस भी प्रूफ कर चूका है हिन्दू धर्मं ने दुनिया को विमान शास्त्र, आयुर्वेद, योग और हजारों चीज़े दी हैं, इस्लाम ने दुनिया को क्या दिया, तबाही और माराकाट के अलावा ? 11) 1400 साल पहले आपका धर्म स्थापित हुआ था, उससे पहले आप क्या थे ? आपकी इबादत का तरीका क्या था ? 12) हमारा हिन्दू धर्मं हजारो साल पुराना है हमारा राम सेतु आपने भी देखा होगा, पानी में डूबी श्री कृष्णा की नगरी भी देख ली है, आपके पास क्या सबूत है कि अल्लाह ने मोहम्मद को ही भेजा था ? 13) मुसलमान जिस भी क्षेत्र मेँ जाते है या दूसरे के या खुद के धर्म वाले के साथ रहते है वहाँ इतनी अशांति क्यो हो जाती है ? 14) कुरान 2:260 मे अल्लाह इब्राहीम को यकीन दिलाने के लिए कहता है चार जानवर लो फिर उनकी मुन्डीया काटकर एक-एक कर पहाड पर रखो फिर उन्हे आवाज लगाओ देखो मुन्डीया कैसे दौडती हुई आयेगी । सवाल उठता है क्या अल्लाह खुद को सिद्ध करने एैसे फिजूल के कारनामे करता रहता है ? क्या एैसा होना संभव है ? इस्से क्या अल्लाह सिद्ध हो जायेगा ? 15) अगर इस्लाम सच्चा धर्म है तो अल्लाह मुसलमानो को खतना करके क्यु नही भेजता ? क्यु मासूम बच्चे का खतना कर उसे हिन्दु से मुसलमान बनाते हो ? 16) काल्पनिक कयामत के दिन कब्र से किसे जिन्दा किया जायेगा हड्डियो को ? क्यु की कब्र मे हड्डियाँ ही बचती है हड्डियाँ जन्नत जाकर क्या हुर्रो के साथ डिस्को करेगी ?

  8. हिन्दु धर्म सत्य हे कई सबुत आज भी हे

    श्री रीम सेतु जिसके राम नाम के पत्थर आज भी तेरते हे
    श्री हनुमान जि द्वारा उठाया पहाड जो आज भी श्री लंका मे हे जिसके पेड पोधे मिट्टी हिमालय से मिलती हे लंका से नहि
    भोले नाथ का दिया सिर गणपती जि को वो स्थान आज भी हे
    देवो के देव महादेव का शिव लिंग धधक्ती ज्वाला का स्वरुप हे
    श्री कृष्ण कि 108 गोपिया आज भी ब्रज मे भगवान के साथ रास रचाती हे इनसान क्या जानवर तक जंगल छोड देते हे के भगवान के पास लिला का समय होने वाला हे

    हिन्दू धर्म था हे ओर रहेगा इसके सबुत हे

    पर मुसलमानों मे मुहम्मद को बच्चा मारना था प्यारा वहि था काटा मेम्ना ओर बनि बकरी इद क्या तालुक हे इन सब का

    हिन्दुओं ने कभी धर्म परीवर्तित करा कर लोगो को नहि हिन्दू बनाया पर मुसलमान एशा करते हे क्युं क्या अल्लाह मुसलमान नहि बना सक्ता हे

  9. Hindu Dharma Kaisa Dharm hi har Kand may Bibi kay ladi Bolta hi hum Hataya nahe kartay Magar sare ladhay may nagany kitnee ko ko mara ho ga krishna ka na jany kitne kuray ko balatkar keya hi pata apnay basuri ki dhum say na janay ktnee aurat ko apnay jal phasay tum Musalman Ki Bat karto ho chalo apne bajhu may jhak kar dheko phaylay

    • Rahim jab kisi chiz ka knowledge nhi ho to baat nhi karna chahiye,aapka 6 saal ka bachcha kitane lady ka balatkar kar sakta h,aapka balak kitani bansuri baja sakta h,kya aapke dharm me koi musalim paida huaa h ya usko hindu se muslim banate ho khatna karke,jis din muslim paida ho tab baat karna abhi faltu baat mat karo,konse dharm me h ki sister ko wife bna lo,sirf aapke me n ki hindu me.

  10. हिन्दू धर्म मै आज भी कई मंदिरों मै चमत्कार होते हे जिनका जबाब आज भी विज्ञानं नहीं दे पाया ।इसका मतलब भगवान हे ।ज्वाला मंदिर अमर नाथ बदरीनाथ रामेश्रम आदि और अनगिनत मंदिर हे। मुसलमानो का कोई चमत्कारिक स्थान नहीं हे।

    • Guys ..don’t fight for religion ,
      Humanity is greatest religion follow it , Creator is don’t send us with relisioues stamp , he don’t stop any one to use natural resources he loves every one . Now days every one is educated and able to use logic behind everything .dont follow everything blindly think logically .

      People around you will give you thousand and thousand different thoughts to believe there mind set They will show you proof in books and story’s (everything will be just words and thoughts and imagination and persepation) and finally your mind will surrender and you will be agree to that .

      Look around you this supernatural power is around us what ever you call it ,he tech us so many thing just need to understand , this supernatural power and there thoughts you have to be nutral . Being part of any relision you will not able to understand it .
      Think how human have servived on earth, how he learn the things .. Then how he divided the work between men and woman how he learned things to get done .

      That’s they why human created rules of living and after experience some one had start writing about it and ever part of earth where ever human lived they set there rules and treditions to follow .. Slowly that treditions become relision and followed by every one of that part of land . And every part of land tredition got the name .

      I can keep telling you this story but I want you to think on this and imagine next what would have happen and how we reached here but think logically and give reasons to your self to belive dont follow anything blindly.

      Being human logically .

      No allah or Bhagwan or Jessu will come to stop your fight or blood only human will help human .

      It’s time to unite and progress not fight .

  11. Zahil se bahes karoge to khud gafil ho jaayoge 56 Muslims country hai world main jabki Islam ko aaye 1450 shaal aas pass huve hai aur aap logo Ka dharam to 6000 shaalo se sirf India main hai aur manne vaale Kam hote ja rahe hai afganistan Pakistan bangla des alag huve India se Muslim ban k aur Jo abhi Ka India hai vaha Muslim badh te Jaa raahe hai jiski tention main ye log Islam k baare main afva felaa rahe hai vo kahete haina Marta kiaa na karta

    • Kyunki humm maar maar ke moosalmaan nahi banate… 56 muslim country hein kyunki musalmaan bina ladai kerke nahi reh sakta. saare muslim country mil ker ek Israel tak se roj pitai khate hein. Jis din India ko gussa aa gaya 56000 muslim mulk ban jayenge.

  12. bhai lekhak… tu achhe se islaam ko samjh aur padh… dekhna tu bhi muslim ban jayega… ye kya bewakufi bhara lekh likhta hai. mahadev and all nonsence in sab ne hi tum logo ka bran wash kr k gawaar mazhab me daal diya hai

  13. Muslim log to etne kamine hote hai ki apni hi behno se Saadi kr lete hai apni hi maa ko sashu maa bna dete hai ..
    Tum log hamari kya barabari kroge tum log humare jute staff karne layak bhi nahi ho ..

  14. Sikh Dharma- before of 500 years ,
    Jain Dharma- before of 1000 years,
    Buddha Dharma- before of 1500 years,
    Christensen dharma-before 2000 years ,
    Islam Dharma- before of 2500 years
    ………………. Aap sab har ek in Dharmo ke Sansthapak(founder) ka Name to Jante honge. Lakin Hindu Dharma ke founder ka pata hai.
    …………………………………………..Aagar nahi to mai bata sakta hu.

    • तुम हिन्दू का धर्म है ही नहीं। तुम ये बताओ राम जी की सीता को रावण उठा के लेकर गया तो राम को बाद में कैसे पता चला।क्या राम भगवान नहीं थे।तुम्हारे धर्म में जानवर को मारना पाप हे तो सीता ने हिरन का शिकार करने का राम को क्यों बोला।जो राम हिरन का शिकार करने गया।राम को इतना टाइम कैसे लगा।सीता को लाने में।राम भगवान थे तो लंका का पता लगाने में इतना टाइम कैसे लगाया।और तो और जब सात समंदर पार लंका का पता चला तो रास्ता बनाने के लिये पत्थर का इस्तेमाल क्यों किया।राम भगवान था और हनुमान को भी पत्थर जुटाने में लगा लिया।क्या दोनों भगवान चूतिये थे।उड़ के नहीं जा सकते थे।संजीवनी बूटी के लिये हनुमान जी लेने गये तो राम भरत को ठीक नही कर सकते थे।जो हनुमान संजीवनी लेने गया।बताओ उल्लू के पट्ठों।राम और हनुमान बेवकूफ़ थे ।अगर राम और हनुमान भगवान होते तो ऐसा सीता कांड नहीं होता।। ये तो तुम्हारे दो 2 भगवान का किस्सा हे।ऐसे कई और भगवान के में किस्से सुना सकता हु।

      • अबे चूतिये बाप भगवान राम मानव औतार में जन्म लिए थे इसलिए सारे काम मनुष्य रुप में कर रहे थे।तुमारा इस्लाम तो हिन्दू धर्म से ही निकला है।तुमको भी पता है मक्का में तुमलोग भगवान शिव की ही पूजा करते हो

      • भगवन राम मनुष्य का अवतार थे और उड़ कर इसलिए नही गए क्योकि उनके साथ पूरी सेना थी की जो उनको लंका तक लेजनी थी और जो तूने हमारे भगवन को chutya शब्द का प्रयोग किया है ये गलत है पहले हमारी किताबे सही से पढाकरो फिर मेरे से तथ्यों पर बात करते हे

      • पूजा राम के गुणों की की जाती है रूप की नहीं . रामजी भी मोहमद की तरह इंसान ही थे. अगर वो सब केकाम दैवीय शक्ति से चमत्कार से कर देते तो लोग क्या सीखते? सीताजी की खोज में उत्तर से ढकसीन तक गए इस तरह लोग को एक सूत्र में पिरोते गए. …..चलो ये बता दो अगर पैगम्बर साहब चमत्कारी थे तो मक्का में अपने दोस्तों को क्यों नही बच पाए? क्यों मक्का छोड़कर छुपते छुपते मदीना गए और जब तक बड़ी सेना न बन गयी वापस मक्का नही आये?

      • अरे बेटी चोद मुहम्मद की औलाद तू हिन्दू बनजा फिर तुझे रामायण समझ में आएगी,
        अभी तू समझेगा नहीं क्योंकि तुझे तो 72चूतें ही नज़र आती होंगी दिन रात, और तुझे वो बिना मुछ की दाढ़ी वाले मुल्ले मौलाना सिखाते भी यही हे हेना, अरे चुतयों स्कूल जाया करो मदरसों में तुम्हारी अम्मी चुदवाने के बजाये अछि शिक्षा लो डॉ बनो इंजीनिअर बनो कबतक ठेला चलाओगे और आतंक वादी बनोगे हरामको, चल अब तेरी मर्जी तू 72 भोसड़ीयों के खाब देख देख के ही कबर में घुस जायगा पर सुनले तेरे बेटी चोद बेटे की बेटी चोद मोहम्मद की गांड,,तुझे किसी हूर की झांट का एक बाल भी मिल जाये तो मेरी गारंटी,,,समझ चूतिये के मूत।

      • #tumhra baap
        Beta tere baap ne Teri ma ko choda tujhy paida karne ke liye to tu agle din hi paida kyun ni ho gaya kyun Teri maa ne tujhy paida karne me 9 mahine laga diye.

  15. you are right Anan sir, they guys have no answer and their forefather Muhammad could not give answer, All Muslim guys first answer to question then talk with us…. if u want to know your originality then go before Islam era.

    • Bhai Saab Hindu Dharam ka koi starting point or koi ending point nhi hai,
      Hindu Dharam Sabse pahle hi aaayaa hai .
      Koi Maika Lal nhi bata Sakta .starting Hindu Dharam hai

  16. Aaj tak sare musalman bheek ki wajh se rah pa rhe hai Warna in ka majhab kab ka khatam ho gya hota..Wo to aaj bheek ki badolat pal rha ye log v orr inki country v..Wo to bhala ho hum Hinduo ka ki hum apni country me rahne de rhe wrna his din gussa aa gya aa sare saaf ho jaoge

  17. All Muslims are idiots, they are big fools made by so called Mohammed, but one day they will realize that they should come back but that would be too late so my Muslim friends don’t be foolish and do become what originally you were, the great Hindu

  18. Dear Muslim Friends………. if u are satisfied by the Article……..pls sue the Saudi Arab COuntry……….. why don’t u do it………… however……… there are proofs also…….. show that the article was wrong…….

  19. Upper Mr.anan ne jo bat kahi . Bahut hi galat baat kahi kisi ke dharm bura kehna yahi sikhaya hai .. aur galat salat apne pas se jod ker bataya . Bade hindu hindu kerte ho ab…
    Ab mai kuch sawal puchta hu uska javab de…
    1-: jiska akaar ho wo bhagvan kaise ho sakta hai?
    2:- kya bhagvan bhi shadi kerte hai?
    3:- ardhangni ka matlab khud ka ansh usse sambhog kaise kar sakta hai?
    4:- Pure duniya me sare bhagvan india me hi kyo aay ?
    5:- 33 Carol devi devta me aap bus 33 devtao ke nam bataao ..
    6:- bhagwan raam ki bivi ko bachane ke ly bandaro ka sahara liya kyo .. kya unme himmat nahi thi ..?
    Ar ha sabse last question hai ?
    Cow tmlogo ki maata hai..? Thek hai chalo
    Papa ka nam batao?
    Sita ke bacho ka nam batao ?
    1 raam
    2 Raven
    Sita ke pita raja janak the ya ravan .?

  20. Kyu dharam ek dusre k dharam pe ladteho Hindu Muslim karke , arre jab pyar hota he ladke ko ladki se tab ladka yeh dekhtahe Ki ladki Muslim he yaa Hindu he ya ladki dekhtihe Ki ladka Hindu ya Muslim he karletehe pyar hojatahe pyaar aur shaadi bhi karlete he to kyu apas me ladhneka

  21. Dekho bhai baat aisi h hr dhrm ko manne wale log jinda h r aage v rhege… Koi aisa dhrm nhi ki josko manne se us dhrm k log hmesa jinda rhege to fir e Sb jaan k v faltu comments kyu krte ho my Bhai r Bahan…? Pdhe likhe ho des r smaj k liye kuchh achha socho r likho…. Jb mrne lgoge to apna v jhuta dstabej bna k jaydaat hrp leys h to fir saare duniya se kyu ladai kr rhe ho Bhai…. Allah r bhwan NE nhi kaha ki mujhe bli r kurbani se khussh kro.. Ye to hmlog unke naam PE khud Khate h…. Aisa hi hota to bli chdha k mndir me patha ko chhod deta bechare grib Khate r kurbani kisi grib muhlle me jaa Mr gribo me hi meat baat dete… Aisa nhi krte kyu ki ab hm schche insaan nhi rhe… Hmlog ek hi God k bchhe h so aapas me miljul k rho r jio r dusro ko v jine do…. Agr koi dhrm ye kahta ho ki agr AAP hmare dhrm ko manoge to hm aapse aapke pariwar, ristedar r dosto se kvi judaa nhi hone denge to ykin mano dosto mai r mere jaisa bahut se dost uss dhrm apna lege….agr kisi dhrm me aisa h to plzzz reply me… Miljul k Bhai chara bnaye rkho dosto… Yhi h hmari aaplogo se request.

  22. Wow! I really appreciate your comments about Hindu religion…really appreciate..the cast system, dowry, sati pratha, bal vivah, vidhva vivah, dahej Ki lalach me jala Dena , girl child sex detection…dalito pe atayachar, road pe gangdi phelana.

  23. ऐसा नहीं है कि थोड़ी बहुत मेहनत कर लें तो इतिहास से वर्तमान तक मुसलमानों में कुछ अच्छे और नेकदिल इंसानों वाले उदाहरण नहीं मिल जाएंगे। इतिहास में औरंगजेब मिलता है तो उसी दौरान दाराशिकोह भी मिलता है। वहीँ वर्तमान में कलाम मिलते हैं तो याकूब भी मिलता है। बड़ा सवाल ये है कि देश का बहुसंख्यक मुसलमान न कलाम को मानने को तैयार है और न दाराशिकोह को। उन्हें तो इतिहास में औरंगजेब को पूजना है और वर्तमान में याकूब को। फिर आप कहते हैं मुसलमान ऐसे क्यों हैं ?

  24. Agar peeche ki history mein jaoge to insan 1 tha, magar logon ne isko anek bana diya, aur koi bhi dharm nafrat nahi phailata hai , ye nafrate bhi log hi dharam ke naam par phailate hai, Har koi janta hai ek unseen power hai jo koi nahi janata kahan hai magar, sab apni, apni power dikhane ke lie hi ye sab karte hai..
    Aajakal to kuchh muslim yahan tak kehte hai, ki Islamic , gair islamic ke saath reh nahi sakte, kyonki Allah nahi chahta, batao public ko bewkaoof banakar ladwane ke shivay aur kya hai,,

    ISIS to isi sidhant par lad rahe hai,, aur khud mar rahe auron ko bhi mar rahe, kya ye possible hai, ki sab mar jayenge aur ISLAM hi bachega.. Ye to kewal public ko bewakoof banakr marne aur marne ka kaam hai.. aur kucch nahi..

    Hindustan mein AZADI se pehle Hindu, MUslim mein Jhagde nahi hote the, jab se PAK bana, usi samay se HINDU MUSLIM ki ladai chalna shuru hui hai.. aur ye badhati ja rahi hai.. Pubic be wakoof bankar mar rahi hai..

  25. Or sbsw bda chutiyapa ye h bhai yaha bhi khuda ki bndgi 72 hooro ko paane ke liye krte h khuda hoga bhi to.ineh.Aajmata h ye.saale apna.sense lgate h ya.ni jo.khuda dekh raha.hoga.saale 72 hooro ke liye.jaan.de rhe ineh laalach de do . Bhai hamara.bhagwan laalach ni deta wo to kehta shi kro kisi ko satao mt kaam krodh mad moh maya se door raho tmhara islam inhi chijo pe aadharit h bhai satta or bhakti allah tmse laalach de kr.krwata.h.72.hooro ka or.hamare dharm me hm log dobara jeevan chakra.me.na pde moksh mil jaaye isliye dharm ko maante h.

  26. Mr human logical
    जिस भाषा में आप बात कर रहे हैं वो एक हिन्दू की ही भाषा हो सकती है। मुस्लिम समाज में बहुत कम ऐसे विचारों वाले लोग मिलेंगे जो आपकी बात से सहमत होंगे।

  27. Pahle ja k history padh bhai makka me kya hal tha insano ka mohemmed pbuh se pahle waha beta apne baap k mar jane k bad apni maa se shadi kar leta tha itna zada jahiliyat tha k koi raja waha raj nhi karna chahtha tha tb mere nabi saw noor ban k aye aur andhere ko mitaya waha se aaj dekho waha har admy ek achi zindagi guzar rha hai ye bat tmhare yahurved me b likha h k mohomada khi pe mahamid ya khi pe ahamid agyan ko mitane gyan wala ayega sari duniya se andhkar khatm karega

  28. ये लेखक है वो पागल है सबको लड़ाना इनका काम अतः आप सभी लोगो से निवेदन है कि इनकी बातों पर ध्यान नहीं दे जिसका जो धर्म है वो अपने धर्म को माने

  29. तुम्हारी माँ की चूत अगर तुम लोग इतने ही पुराने हो तो तुम इतने कम क्यों हो।
    क्यों सिर्फ 3 या 4 देशो में सिमित हो गए हो,
    हमें देखो ऐसा कोई देश नही है जहाँ मुस्लमान न हो,
    हर देश में मुस्लमान है,
    क्योंकि जब से दुनिया बनी है हम तब से है,
    गांडू लोगो।

  30. Doston sab log apni jeghan pe sahi he per hindustan kya he vividhta me ekta hum sab hindustani he ek dusre ko shai galat prove kerne se atcha he milke rahen

  31. dear all brother and sister !!!! if you want to know about islam so please read Quran and hadith ,you will get full satisfaction i guarrenty you … please dont listen anyone because we are very bad we are not able to present islam as it beautiful are >.. please bros and sis read …

  32. dekhiye ye siddh hai ki shiv hi duniya ke parmatma hai lekin kuch logo apne paakhand ke saamne maante nahi hai saudi arab sarkar maan rahi hai to phir aor log kyu niii

  33. जिसका जन्म(उत्पत्ति) होगा ।
    उसका मृत्यु(नष्ट) निश्चित हैं ।
    “श्री भगवत गीत”

    ये बात सब पर लागू होती हैं । चाहे वह धर्म ही क्यों न हो ।

  34. इस्लाम को आंतकवादी बोलते हो। जापान मे तो अमेरिका ने परमाणु बम गिराया लाखो बेगुनाह मारे गये तो क्या अमेरिका आंतकवादी नही है। प्रथम विश्व युध्द मे करोडो लोग मारे गये इनको मारने मे भी कोई मुस्लिम नही था। तो क्या अब भी मुस्लिम आंतकवादी है। दूसरे विश्व युध्द मे भी लाखो करोडो निर्दोषो की जान गयी इनको मारने मे भी कोई मुस्लिम नही था। तो क्या मुस्लिम अब भी आंतकवादी हुए अगर नही तो फिर तुम इस्लाम को आंतकवादी बोलते कैसे हो। बेशक इस्लाम शान्ति का मज़हब है।और हाॅ कुछ हदीस ज़ईफ होती है।ज़ईफ हदीस उनको कहते है जो ईसाइ और यहूदियो ने गढी है। जैसे मुहम्मद साहब ने 9 साल की लडकी से निकाह किया ये ज़ईफ हदीस है। आयशा की उम्र 19 साल थी। ये उलमाओ ने साबित कर दिया है। क्योकि आयशा की बडी बहन आसमा आयशा से 10 साल बडी थी और आसमा का इंतकाल 100 वर्ष की आयु मे 73 हिज़री को हुआ। 100 मे से 73 घटाओ तो 27 साल हुए।आसमा से आयशा 10 साल छोटी थी तो 27-10=17 साल की हुई आयशा और आप सल्ललाहु अलैही वसल्लम ने आयशा से 2 हिज़री को निकाह किया।अब 17+2=19 साल हुए। इस तरह शादी के वक्त आयशा की उम्र 19 आप सल्ललाहु अलैही वसल्लम की 40 साल थी।हिन्दुओ का इतिहास द्रोपती ने 5 पांडवो से शादी की तो क्या ये गलत नही है हम मुसलमान तो 4 औरते से शादी कर सकते है ऐसी औरते जो विधवा हो बेसहारा हो। लेकिन क्या द्रोपती सेक्स की भूखी थी। और शिव की पत्नी पार्वती ने गणेश को जन्म दिया शिव की पीछे। पार्वती ने फिर किस के साथ सेक्स किया ।इसलिए शिव ने उस लडके की गर्दन काट दी क्या भगवान हत्या करता है ।श्री कृष्ण गोपियो को नहाते हुए क्यो देखता था और उनके कपडे चुराता था जबकि कृष्ण तो भगवान था क्या भगवान ऐसा गंदा काम कर सकता है । महाभारत मे लिखा है कृष्ण की 16108 बीविया थी तो फिर हम मुस्लिमो को एक से अधिक शादी करने पर बुरा कहा जाता । महाभारत युध्द मे जब अर्जुन हथियार डाल देता तो क्यो कृष्ण ये कहते है ऐ अर्जुन क्या तुम नपुंसक हो गये हो लडो अगर तुम लडते लडते मरे तो स्वर्ग को जाओगे और अगर जीत गये तो दुनिया का सुख मिलेगा। तो फिर हम मुस्लिमो को क्यो बुरा कहा जाता है हम जिहाद बुराई के खिलाफ लडते है अत्यचारियो और आक्रमणकारियो के विरूध वो अलग बात है कुछ लोग जिहाद के नाम पर बेगुनाहो को मारते है और जो ऐसा करते है वे ना मुस्लिम है और ना ही इन्सान जानवर है। राम और कृष्ण के तो मा बाप थे क्या कोई इन्सान भगवान को जन्म दे सकता है। वेद मे तो लिखा है ईश्वर अजन्मा है और सीता की बात करू तो राम तो भगवान थे क्या उनमे इतनी भी शक्ति नही थी कि वे सीता के अपहरण को रोक सके। राम जब भगवान थे तो रावण की नाभि मे अमृत है ये उनको पहले से ही क्यो नही पता था रावण के भाई ने बताया तब पता चला। क्या तुम्हारे भगवान राम को कुछ पता ही नही कैसा भगवान है ये। और इन्द्र देवता ने साधु का वेश धारण कर अपनी पुत्रवधु का बलात्कार किया फिर भी आप देवता क्यो मानते हो। खुजराहो के मन्दिर मे सेक्सी मानव मूर्तिया है क्या मन्दिर मे सेक्स की शिक्षा दी जाती है मन्दिरो मे नाच गाना डीजे आम है क्या ईश्वर की इबादत की जगह गाने हराम नही है ।राम ने हिरण का शिकार क्यो किया बहुत से हिन्दु कहते है हिरण मे राक्षस था तो क्या आपके राम भगवान मे हिरण और राक्षस को अलग करने की क्षमता नही थी ये कैसा भगवान है।हमे कहते हो जीव हत्या पाप है मै भी मानता हू कुत्ते के बेवजह मारना पाप है । कीडी मकोडो को मारना पाप है पक्षियो को मारना पाप है।

    • मलिक अब तुझे क्या समझाऊ तू तो वैसे ही अनपढ़ हे और तू जो सेक्स ही सेक्स की जो बात कर रहा हे इससे ही पता चलता हे तू उस बेटी चोद बेटे की बेटी चोद मोहम्मद की तक औलाद नहीं सूअर की औलाद हे तू तो अब अगर तेरा ये सल्ललाहु अलैही वसल्लम जो हे ये बेटी चोद नहीं होता तो तू सेक्स के अलावा कुछ और सोचता, मुझे अफ़सोस होता मलिक कही तू भी तो तेरे मोहम्मद की तरह रिश्तों को शर्म सार कर देने वाला बहन बेटी चोद तो नहीं

  35. इस्लाम को आंतकवादी बोलते हो। जापान मे तो अमेरिका ने परमाणु बम गिराया लाखो बेगुनाह मारे गये तो क्या अमेरिका आंतकवादी नही है। प्रथम विश्व युध्द मे करोडो लोग मारे गये इनको मारने मे भी कोई मुस्लिम नही था। तो क्या अब भी मुस्लिम आंतकवादी है। दूसरे विश्व युध्द मे भी लाखो करोडो निर्दोषो की जान गयी इनको मारने मे भी कोई मुस्लिम नही था। तो क्या मुस्लिम अब भी आंतकवादी हुए अगर नही तो फिर तुम इस्लाम को आंतकवादी बोलते कैसे हो। बेशक इस्लाम शान्ति का मज़हब है।और हाॅ कुछ हदीस ज़ईफ होती है।ज़ईफ हदीस उनको कहते है जो ईसाइ और यहूदियो ने गढी है। जैसे मुहम्मद साहब ने 9 साल की लडकी से निकाह किया ये ज़ईफ हदीस है। आयशा की उम्र 19 साल थी। ये उलमाओ ने साबित कर दिया है। क्योकि आयशा की बडी बहन आसमा आयशा से 10 साल बडी थी और आसमा का इंतकाल 100 वर्ष की आयु मे 73 हिज़री को हुआ। 100 मे से 73 घटाओ तो 27 साल हुए।आसमा से आयशा 10 साल छोटी थी तो 27-10=17 साल की हुई आयशा और आप सल्ललाहु अलैही वसल्लम ने आयशा से 2 हिज़री को निकाह किया।अब 17+2=19 साल हुए। इस तरह शादी के वक्त आयशा की उम्र 19 आप सल्ललाहु अलैही वसल्लम की 40 साल थी।

  36. और राम या हनुमान ने राम सेतु पुल बनाया था सीता को बचा के लाने के लीए । जब भगवान थे तो पुल बनाने की क्या जरुरत थी उड की नही जा सकते थे। ये एक किस्म की चूतियापंती है और हिन्दु क्या बोलते है कि सारे भगवान मनुष्य के रुपे थे इसलिए उड के जाने की ताकत नही थी। ये हिन्दु अपनी ही चट करते है और अपनी ही पट। जब मनुष्य के रुप मे भगवान थे। इसका मतलब ये हुआ वे मनुष्य ही भगवान थे । और भगवान उसे कहते है जो कुछ भी कर सकते है तो फिर वे मनुष्य उड क्यो नही सकते थे क्योकि आप लोग तो उनको एक तरीके से भगवान ही मानते है

  37. Log dharmo k akshar piche lage rahte h kya kabi kisi ne ye socha h k dharm kehte kisey h. Ya fier yuhi ak duosre ko tang kiya krte h.shochney wali baat…hawa h par dekha kisi ne nahi .mehsuoos sabhi kartey h par pakda kisee ne nhi.aag jalti h to roshni har jagha deti h par kis taraf uska muh h ye kisi ko pata nhi. Duodh me pani ko mila do par pata chalta nhi .1 inshaan 2kilo khana khaney k baad b jitna uska wajan whate rahata h badhta kyu nhi…hamare dil ki dhadkan kab band ho jaye ye jaantaa koi b nhi.hm acche karm kr rahe h ya burey ye hme b nhi pata.aaj raat ko hm soygey to subha utna h nahi nhi pata…………dosto jab itnee sharee chijoo ka jawab nhi pata jab k ye sab chije hamaarey saamney h to wo to rab h hm sab ka itni aashanee se kesey samaj shaktey h sab….

    • Are beti chod bete ki bhi beti chod mohammad ki olad 72 chuto ki jhaant ke sapo me jine walo tumhe khud tumhari history ke bare main nahi malum lavdon

  38. एक बार मुस्लिम लडके और हिन्दु लडके मे बहस हुई, मुस्लिम बोला हमारा अल्लाह तुम्हारे पुरे कौम पर भारी पडेगा.

    हिन्दु बोला हमारे भगवान तेरे पुरे ईस्लाम पर भारी पडेंगे.

    दोनो मे काफी देर तक बहस चलती रही…

    तभी मुस्लिम लडका बोला कि हम ये काम अपने अपने भगवान पर छोड देते है,
    हिन्दु बोला ठिक है,
    फिर मुसलमान ने अपने अल्लाह को बुलाया,

    और हिन्दु ने बुलाया अपने हनुमान जी को…
    फिर हनुमान जी ने अल्लाह से कहा, कि हम दोनो एक दुसरे को तीन-तीन लात मारेंगे, जो भारी पडेगा वो जितेगा.

    अल्लाह बोला – ठिक है

    फिर हनुमान जी ने श्री राम का नाम लेकर अल्लाह को जोर से एक लात मारी,अल्लाह जोर से
    चिल्लाया और हवा मे ऊडता हुआ कही गायब हो गया…

    तब से अल्लाह कहाँ गायब हुआ किसी को नही मालुम,
    आज भी मुल्ले जोर जोर से दिन मे पाँच बार गला फाडते है और अल्लाह को बुलाते है, और अल्लाह है की वापिस आने का नाम ही नही ले रहा,

    तो सुन लो मुल्लो, अगर तुम्हारा अल्लाह कही मिल जाये तो शराफत से भेज
    देना हमारे पास , क्योकी उसे अभी और दो लात खानी बाकी है…!!

    बोलो जय श्रीराम…!!

    अगर आप सच्चे हिंदू है तो अधिक से अधिक Forward करें ।

    ।। जय श्री राम ।।rd

  39. All Muslims are borned Hindu, (Sabhi muslim janam se Hindu hai, aaj bhi or Pahle bhi), Abhi bhi use Khatna nar ke dharam change karte hain or muslim main convert karte hain this is the realty. But now, no one will believe…………..bad elements (anti Hindu elements) wanted to rule the world and they started this muslim so called religion, but in realty, Earlier its a form of Anti Hindu group with different name.

  40. bina islam ke bare me kuch jane aise likhna buri baat hai….aur App log islam pe sawal uthauge to usse das gunna jyada sawal aap pe uthenge..aur appke pass iska koi jawaab nhi hoga…

Leave a Reply