पीएम मोदी ने बढ़ाया बुजुर्गो का सम्मान, पेंशन में की 157 फीसदी की बढ़ोतरी

0

केंद्र की मोदी सरकार ने केंद्रीय कर्मियों को एक और तोहफा दिया है। केंद्र सरकार ने रिटायर्ड कर्मचारियों के पेंशन राशि में 157 फीसदी की बढ़ोतरी की है। इसके बाद केंद्रीय कर्मचारी कम से कम 9 हजार रूपए पेंशन के पाएंगे। इस से पहले केंद्रीय कर्मचारियों को केवल 3500 रूपए की कम से कम पेंशन मिलती थी। कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय ने आयोग की सिफारिश पर रजामंदी का नोटिफिकेशन जारी कर दिया है।

इसके साथ ही मोदी सरकार ने ग्रैच्यूटी की सीमा भी 10 लाख से बढ़ाकर 20 लाख रुपये कर दी है। गई है।वेतन आयोग ने ग्रैच्युटी की सीमा 25 प्रतिशत बढ़ाने के अलावा महंगाई भत्ता में भी 50 फीसदी की बढ़ोतरी की सिफारिश की थी। केंद्र सरकार ने इस सिफारिश को भी हरी झंडी दे दी है। केंद्र सरकार के द्वारा पेंशन वाने वाले कर्मचारियों की संख्या करीब 58 लाख है। इस फैसले से इन सभी को फायदा होगा।

मोदी सरकार के फैसले के मुताबिक पेंशन की रकम कम-से-कम 9,000 रुपये होगी। ये रकम ज्यादा से ज्यादा 1,25,000 रुपये तक हो सकती है। ये रकम केंद्रीय कर्मचारियों के अधिकतम वेतन 2,50,000 रुपये की आधी रकम है। आदेश में कहा गया है कि रिटायरमेंट ग्रैच्यूटी और डेथ ग्रैच्यूटी की मैक्सिमम सीमा 20 रुपये होगी। ग्रैच्यूटी की मौजूदा अधिकतम सीमा में 25 फीसदी की बढ़ोतरी होगी वहीं महंगाई भत्ते में मूल वेतन के 50 फीसदी का इजाफा होगा।

इसके अलावा सिविल और डिफेंस फोर्सेज के कर्मियों के नजदीकी रिश्तेदार को अनुग्रह राशि के रूप में एकमुश्त मुआवजे के भुगतान में भी खासी बढ़ोतरी की गई है। इसके लिए जो फैसला लिया गया है उसके तहत ड्यूटी के दौरान दुर्घटना और आंतकवादियों, असामाजितक तत्वों द्वारा हिंसक वारदातों में मौत होने पर मौजूदा 10 लाख रुपये की जगह अब 25 लाख रुपये की अनुग्रह राशि दी जाएगी।

Loading...

Leave a Reply