जापान ने कहा एनएसजी में भारत को हम सपोर्ट करेंगे चाहे जो भी हो

0

चीन ने परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) में भारत को शामिल करने का विरोध किया था, लेकिन जापान ने भारत के प्रति अपना समर्थन दोहराते हुए कहा है कि एनएसजी में भारत की मौजूदगी से परमाणु अप्रसार को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी। जापान की तरफ से आधिकारिक तौर पर पहली बार इस तरह की टिप्पणी की गई है और उसके बयान से चीन को बड़ा झटका लगा है। जापानी विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा है कि वो भारत को एनएसजी का सदस्य बनाने के लिए भारत के साथ मिल कर लगातार काम कर रहे हैं।

जापानी विदेश मंत्रालय में प्रेस एंड पब्लिक डिप्लोमेसी के महानिदेशक यासुकीरा कावमोरा ने कहा कि हम इस मुद्दे पर भारत के साथ काम करते रहना चाहते हैं क्योंकि हमें लगता है कि भारत की सदस्यता से परमाणु अप्रसार व्यवस्ता को मजबूती मिलेगी। उन्होंने कहा कि जापान लगातार भारत की सदस्यता के मुद्दे पर एनएसजी के सदस्य देशों के साथ लगातार बातचीत करता रहेगा।

कावमोरा ने ये भी कहा कि भारत को रोकने के लिए चीन का बर्ताव किसी से छिपा नहीं है, लेकिन जापान एनएसजी के भीतर हुई बातचीत पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता। उन्होंने कहा कि अहम बात ये है कि भारत की सदस्यता के लिए आम राय बनाने को सुनिश्चित करना है और इस दिशा में काम किया जा रहा है। उन्होंने ये बी कहा कि जहां तक एनपीटी पर दस्तखत की बात है तो जापान सामान्य भावना के तहत भारत को इस पर दस्तखत करने को कहता रहेगा।

जापान, भारत की सदस्यता का पक्षधर है, लेकिन पाकिस्तानी दावेदारी के बारे में पूछे जाने पर कावमोरा के साथ-साथ कुछ दूसरे अधिकारियों ने भी कहा कि भारत निर्यात नियंत्रण व्यवस्था की मजबूत कोशिश कर चुका है वहीं कुछ देशों को और ज्यादा कोशिश करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि परमाणु परीक्षण पर भारत की एकतरफा और स्वैच्छिक रोक ऐसी ही एक कोशिश है।

Loading...

Leave a Reply