चला योगी जी का डंडा : नमाज़ के नाम पर जबरन सड़क जाम नहीं कर पाएंगे अब मुसलमान

0

यूपी में जिस रफ़्तार से मुख्यमंत्री योगी जी काम करते जा रहे हैं उसे देखते हुए तो लगता है की आने वाले 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले पहले ही उत्तर प्रदेश का कायापलट हो जाएगा. मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के एक सप्ताह के भीतर ही यूपी में बैखोफ गुंडों, माफियाओं, मजनूओं और गौ हत्यारों पर शिकंजा कसते हुए अवैध बूचडखानो को सील कर सभी को सीधा कर दिया है.

सीएम योगी ने सभी प्रशासनिक अधिकारियों को साफ़ निर्देश दे दिए हैं की भ्रष्टाचार और कार्यवाही में जरा भी ढिलाई बर्दाशत नहीं की जायेगी. लिहाजा सभी पुलिस आफिसर भी अपनी ड्यूटी बखूबी निभा रहे हैं.

जहाँ एक और मुस्लिम समाज के कुछ लोग ट्रिपल तलाक, योग- नमाज और बूचडखानो की बंदी को लेकर परेशान दिख रहे हैं तो वहीँ दूसरी और सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है की बहुत जल्द मुसलमानों के खुलेआम सड़कों पर नमाज पढने पर भी पाबंधी लगाई जाने वाली है.

दरअसल खुलेआम सड़कों पर नमाज पढ़ना न तो समाज के लिए हितकारी है न ही यह सम्बेधानिक रूप से जायज है. क्यूंकि सड़कों पर इस तरीके से समूह बनाकर नमाज पढने से यातयात अवरुद्ध होता है. जाम लगने की स्थिति में जाम में किसी एम्बुलेंस के फंसने से कई मरीजों की जान चली जाती है.

इसलिए यह मानवता की दृष्टी से भी सही नहीं है. अत: इसके विरोध में तो बड़े पहले से ही स्वर मुखर होते रहे हैं लेकिन सरकारों की तुष्टिकरण के चलते इन तत्वों का हौंसला बढ़ा है.

लेकिन अब यह फैसला देश के हित और जनकल्याण के लिए अति महत्वपूर्ण होगा. आपको याद हो योगी जी ने सीएम बनाने के बाद दो टूक शब्दों ने साफ़ कर दिया था की विकास सभी का होगा, लेकिन तुष्टिकरण अब किसी का नहीं होगा.

Loading...

Leave a Reply