इजराइल सेक्युलर है, पर वो किसी विशेषवर्ग को देश विरोधी हरकतों की ढील नहीं देता

0

दुनिया में कुछ ही ऐसे देश हैं जो आतंकियों को उन्ही की भाषा में जवाब देने के लिए और सख्ती के लिए जाने जाते है और उनमे से ही एक देश है “ताकतवर इजराइल”

हम इजराइल को “ताकतवर इजराइल” इसलिए कहते है क्योंकि वो 55 इस्लामिक देशों पर अकेला ही भारी है और कई कई जंगे हरा चूका है, खैर  इजराइल आतंकियों को जवाब देने और सख्ती के लिए मशहूर है, इसका मतलब ये नहीं है की इजराइल एक कट्टर देश है, या यहूदी देश है, जी नहीं

भारत की ही तरह इजराइल एक सेक्युलर देश है, जहाँ कोई सरकारी धर्म नहीं और जिसे जो धर्म मानना है वो स्वतंत्र है, पूजा पाठ को स्वतंत्र है, पूरी धर्मी आज़ादी है भले इजराइल यहूदी बहुसंख्यक देश है, पर आधिकारिक यहूदी देश नहीं है, वहां हिन्दू भी पूजा पाठ बड़े आराम से कर सकते है, मुस्लिम भी कर सकते है, पर कुछ चीजे ऐसी है जो सेकुलरिज्म के नाम पर इजराइल में बिलकुल नहीं की जाती और इसी कारण इजराइल सच में भी महान देश है

* इजराइल में इस्लामिक आतंकियों के जनाजे में भीड़ नहीं आती, जब नया नया इजराइल बना था तो भीड़ आती थी, 1-2 जनाजों में सरकार ने विस्फोट कर दिया अब भीड़ बिलकुल नहीं आती, चाहे जितना भी बड़ा इस्लामिक आतंकी ढेर किया जाये, जनाजे नहीं निकाले जाते

* इजराइल में विशेषवर्ग को कोई सुविधा नहीं है, मस्जिद पर लाउड स्पीकर बैन है, चूँकि उस से ध्वनि प्रदुषण होता है, वैसे भी लाउड स्पीकर के अविष्कार से पहले उसके बिना ही मस्जिद का काम चलता था

* इजराइल में कोई हज सब्सिडी इत्यादि नहीं है, न ही विशेषवर्ग के लिए कोई आर्थिक
सुविधाएं है, और इसकी मांग भी नहीं होती, अन्यथा फिर इजराइल की सरकार छद्म सेक्युलर नहीं है, वो सख्ती करेगी

नोट : अब भारत का ही हाल देख लीजिये, यहाँ अल्पसंख्यक आयोग है, परन्तु बहुसंख्यक आयोग नहीं है, जबकि हिन्दुओ का हाल कई राज्यों में बद से बत्तर है, परंतु उनकी सुनवाई के लिए कोई विशेष आयोग नहीं

* इजराइल में सैनिक आतंकी को ढेर करने के बाद उसके जन्नत जाने वाले सपने को भी बड़े रोचक ढंग से ख़त्म करती है, अक्सर सैनिक सुवर का मांस पैक में रखे घूमते है
जहाँ आतंकी को ढेर किया या घायल किया, उसके शरीर पर सुवर का मांस रख दिया जाता है, जिस से उसके जन्नत जाने का कोई चांस नहीं बचता

* अगर आप इजराइल में स्वतंत्र जिंदगी जीना चाहते है, व्यापार, काम करना चाहते है तो बड़े आसानी और मजे से कर सकते है, कोई धार्मिक रोकटोक नहीं
बस आपने जिहाद दिखाने की कोशिश करि तो फिर इजराइल भी अपनी सख्ती जरूर दिखाता है
और ये ही चीज इजराइल को एक महान सेक्युलर राष्ट्र बनाती है

Loading...

Leave a Reply