इजरायली खुफिया एजेंसी मोसाद की हसीनाएं कुछ भी कर सकती हैं

0
mosad-girls-spy

मोसाद की हसीनाएं : इजराइल की सुरक्षा दुनिया में सबसे अभेद्य मानी जाती है। उसकी सबसे बड़ी वजह है, उसकी खुफिया एजेंसी मोसाद। मोसाद दुनिया की सबसे खतरनाक खुफिया एजेंसी मानी जाती है। पूरी दुनिया इसके एजेंट्स से खौफ खाती है।ये अपने दुश्मन को दुनिया के किसी भी कोने से निकालकर खत्म कर सकते हैं। मोसाद के खतरनाक एजेंट्स ने ऐसे ऐसे कारनामों को अंजाम दिया है कि दुनिया में इसके नाम का खौफ बोलता है। इजरायल की इस खुफिया एजेंसी के बारे में कहते हैं कि एक बार जो मोसाद की हिट लिस्ट में आ गया। उसका बचना नामुमकिन हो जाता है। एक खुफिया एजेंसी के तौर पर इसका जितना नाम है ये अपने काम करने के तरीके को लेकर उतना ही बदनाम है।

mosad-hot-girls-spy mosad-hot-girls-spy mosad-hot-girls-spy

इजरायल की खुफिया ऐजेंसी मोसाद दुनिया की सबसे खूंखार ऐजेंसी में शुमार हैं. मोसाद के एजेंट उसे दुनिया के किसी भी कोने से ढूंढ निकालने का दमखम रखते हैं. एजेंसी में लगभग 1200 लोग काम करते हैं.

मोसाद की महिला जासूस

मोसाद में 40 फीसदी कर्मचारी महिलाएं हैं. स्थानीय मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक़ 24 फ़ीसदी महिलाएं वरिष्ठ पदों पर हैं. इस साल मौसाद ने पहली बार महिला जासूसों के लिए ऐड भी छापा था

फिmosad-hot-girls-spyलिस्तीनी ग्रुप हमास के मिलिट्री विंग के फाउंडर महमूद अल मबूह की हत्या ने काफी सुर्खियां बटोरी थी.इसके पीछे भी मोसाद का हाथ था. साल 2013 में महमूद अल मबूह की हत्या पर किंडोन फिल्म बनी थी. इसमें इजराइल की मशहूर मॉडल बार रफेली ने मोसाद एजेंट का रोल निभाया था

मोसाद की हसीनाएं

19 जनवरी 2010 को दुबई के होटल अल बुस्तान रोताना में अल मबूह का मर्डर कर दिया गया था. इस काम में मोसाद के 33 एजेंट लगे थे.अल मबूह के पैर में सक्सिनीकोलीन का इंजेक्शन दिया गया था. जिससे पैरालाइसिस हो जाता है. फिर उसके मुंह पर तकिया रखकर सफोकेट कर दिया गया था

लेडी ग्लोब्स पत्रिका में इजरायल की गुप्तचर सेवा मोसाद की हसीनाओं की असाधारण जीवनशैली के बारे में बताया गया था. यह हसीनाएं अपनी मादक अदाओं से दुश्मनों से राmosad-hot-girls-spyज उगलवा लेती हैं

मोसाद ने महिला जासूस की सबसे महत्वपूर्ण तैनाती 1986 में की थी. इसकी शुरुआत एक पूर्व परमाणु वैज्ञानिक को इजरायल वापस लाने के लिए इस एजेंट ने उसे अपने हुस्‍न के जाल में फंसाया था. मोसाद के प्रमुख तामिर पार्डो ने पत्रिका को बताया कि उनकी आधी जासूस महिलाएं हैं.

यदि कोई मर्द किसी वर्जित क्षेत्र में घुसना चाहता है तो उसे अनुमति मिलने की संभावना बहुत कम होती है। लेकिन, यदि कोई मुस्कुराती हुई महिला जाना चाहती है तो उसको अनुमति मिलने की संभावना बढ़ जाती है

मोसाद को जिस सबसे बड़ी खूबी के कारण जाना जाता है वो हैं ‘फाल्स फ्लैग ऑपरेशन’(कोवर्ट ऑपरेशन्स). इस काम में मोसाद को महारत हासिल है.मोसाद को इजराइल की किलिंग मशीन कहा जाता है

Loading...

Leave a Reply