पाकिस्तानी आतंकियों ने पाक सैनिको से कहा, तुम भी भाग जाओ वरना मार देगा मोदी

0

एक बड़ी ही ख़ुशी की ख़बर आ रही है , भारतीय सेना और मोदी जी की दहशत आतंकवादियों और पाकिस्तानी सेना के माँ में क़हर बनकर टूट पड़ रही है । आतंकी अपने ट्रेनिंग कैम्प छोड़कर भाग रहे हैं और अजीब अजीब बातें कर रहे हैं ।

एक आतंकी से जब एक पाकिस्तानी सैनिक ने कहा कि तुम्हें क़ुरबानी पर 72 हूरें मिलेंगी इसलिए भागो मत तो आतंकी बोला भाई हूरें तुम ही रख लो मुझे जान प्यारी है , मोदी बक्शने वालों में से नहीं है मार देगा मोदी ।

खबर के मुताबिक, बॉर्डर से सटे इलाकों पर कैंप लगाकर ट्रेनिंग कर रहे आतंकी अब वहां नहीं रुकना चाहते। खबर के मुताबिक, सर्जिकल स्ट्राइक के बाद आतंकियों में भारतीय सेना का खौफ इतना ज्यादा है कि वहां ट्रेनिंग ले रहे 500 में से 300 आंतकी भाग खड़े हुए।

वहां पर कुल 24 आतंकी कैंपों से आतंकियों के भागने की खबर है। खबर में बताया गया कि 26/11 जैसे निंदनीय हमले को अंजाम देने वाले आतंकी कसाब को ट्रेनिंग देने वाला कैंप भी खाली हो गया है। वह कैंप मुजफ्फराबाद के मानशेरा में था। कसाब ने खुद उस कैंप में ट्रेनिंग लेने की बात कबूली थी। खबर के मुताबिक, पाकिस्तानी सेना ने बंदूक की नोंक पर आतंकियों को भारतीय सेना का मुकाबला करने के लिए रोकना चाहा, लेकिन वे फिर भी नहीं रुके।

कोंग्रेस की सरकारों ने ना ही कभी देश हित के बारे में सोचा ना पाकिस्तान को कड़ा जवाब देने की बात की मोदी सरकार ने सर्जिकल स्ट्राइक से पाकिस्तान को एक झटका क्या दिया डोनो तरफ़ स्थितियाँ बदलने लगी हैं । पाकिस्तान को कड़ा संदेश गया है कि ये सरकार किसी भी तरह का कोई समझोता नहीं करेगी और ये सरकार वोट बैंक की राजनीति नहीं खेलती इसलिए इसको दबाया नहीं जा सकता ।

मोदी जी सबका साथ सबका विकास की बात करते हैं , इसलिए भारतीय मुस्लिम वर्ग के सही विकास के लिए भाजपा पंचायतों का आयोजन कर रही है । ध्यान रहे मोदी जी ने पिछले दिनों कहा था कि मुस्लिमों को अब तक केवल एक वोट बैंक ही समझा गया है। वैसे भी अगर मुस्लिमों का सही विकास हो तो वे कठमुल्लाओं की बातों में आना छोड़ देंगे और अपने रोज़गार परिवार के बारे में सोचेंगे ।

पर तथाकथित पार्टियाँ उनको वोट समझती रही और उनका उपयोग करती रही , तभी तो केवल टोपी पहनने से कुछ लोग मुस्लिम वोटों के बड़े ठेकेदार बन गये । समझदार मुस्लिम लोग धीरे धीरे उनकी चालों को समझने लगे हैं और उनको लग रहा है कि सही तरक़्क़ी मोदी के साथ ही हो सकती है ।

पाकिस्तान भी ऐसे मुस्लिम युवाओं को ही भड़काकर अपना उल्लू सीधा करता रहा है , वामपंथी मंसूबों ने भी अब तक पाकिस्तान का साथ देने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रखी थी ।पर लोग समझ रहे हैं और स्थितियाँ बदल रही हैं जो भारत के लिए बहुत ही शुभ संकेत हैं । जय हिंद

Loading...

Leave a Reply