दांत दर्द से छुटकारा पाएं इस घरेलु उपाय से

0

यदि आप वर्तमान में तीव्र दांत दर्द से परेशान हैं, तब संभव है कि आप जल्द ही और प्रभावी रूप से इस दर्द से छुटकारा पाने के उपाय ढूँढ़ रहे हैं। स्थायी रूप से इस दर्द से छुटकारा पाने के लिए आपको पेशेवर दंत चिकित्सा उपचार की आवश्यकता हो सकती है, परंतु इसी बीच बहुत से प्राथमिक सहायता और बेकल्पिक घरेलू उपचार हैं जिन्हें आप दर्द से राहत पाने के लिए आजमा सकते हैं। अधिक सीखने के लिए पढ़ना जारी रखिए।

बुनियादी बातें

कोई खाद्यांश फंस गया हो तो उसे निकाल लीजिए

अपने मुख के अंदर दर्द कर रहे स्थान पर, दो दाँतों के बीच फंसे हुए खाद्य-कण को सावधानी से डेंटल फ्लौस (dental floss) का उपयोग करते हुए निकाल दीजिए।

  • फ्लौस करने के बाद, अच्छी तरह से कुल्ला कर लीजिए। गरम पानी अपने मुख के अंदर चारों ओर तेजी से घुमाइए जिससे कोई खाद्य-कण हों तो वह ढीले पड़ जाएँ। यह पूरा हो जाए तब पानी को थूक कर निकाल दीजिए।

दर्द कर रहे स्थान से चबाने से बचिए

जब तक आप दाँत दर्द से छुटकारा नहीं पा लेते, तब तक आपको अपने मुख के दूसरे ओर से चबाना चाहिए।

  • अपने मुख के आहत स्थान से बचे रहने के अतिरिक्त, दर्द के लिए उत्तरदायी किन्हीं भी खुले छेदों को ढक दीजिए। यदि आप का दाँत फट गया है या क्षतिग्रस्त हो गया है, तो जब तक आप अपने डेंटिस्ट से मिलने का समय नहीं ले लेते, तब तक आप इसे नरम हो चुके चिविंगम या डेंटल वैक्स (dental wax) से अस्थायी रूप से ढक सकते हैं।

दर्द की दवा लीजिए

ऐस्पिरिन (aspirin), ऐसिटामिनोफेन (acetaminophen), आइबुप्रोफेन (ibuprofen) या नैप्रोक्सेन सोडियम (naproxen sodium) जैसे मेडिकल स्टोर पर मिलने वाले दर्द-शामक का उपयोग कीजिए। सही खुराक निर्धारित करने के लिए लेबल पर दिये हुये निर्देशों का अनुसरण कीजिए।

  • अधिकांश दर्द-शामकों के लिए, आप प्रत्येक चार या छः घंटे पर एक या दो गोली लेंगे। फिर भी, ठीक-ठीक खुराक औषधी और ब्रैंड के अनुसार अलग-अलग हो सकते हैं।

किसी स्थानीय (topical) दर्द की दवा का उपयोग करें

किसी दुकान में मिलने वाले मरहम को, जिसमें बेंजोकेन (benzocaine) हो सीधे उस दाँत पर या दर्द कर रहे मसूड़े पर लगा दीजिए। उचित मात्रा निर्धारित करने और लगाने के लिए लेबल के निर्देशों का अनुसरण करें।

  • दर्द कर रहे मसूड़े ऊतक पर सीधे ऐस्पिरिन या दर्द-शामकों मत रख दीजिए। ऐसा करने पर वहां जल जाएगा और दर्द बढ़ जाएगा।
  • केवल दाँतों पर उपयोग करने के लिए स्वीकृत स्थानीय दर्द-शामकों का प्रयोग करें। अन्य स्थानीय दर्द-शामक यदि निगल लिए जाएँ तो खतरनाक हो सकते हैं।

एक ठंढा सेंक लगाइए

किसी प्लास्टिक थैली में या महीन कपड़े में एक बर्फ का क्यूब लपेट लीजिए और दर्द कर रहे दाँत के आसपास के जबड़े पर 10 से 15 मिनट तक सेंक लगाइए।

  • ठंडे तापमान जिस स्थान पर प्रयोग किए जाते हैं वहां का रक्त प्रवाह कम कर देते हैं। जैसे ही रक्त प्रवाह कम होता है, सूजन और दर्द कम हो जाता है।
  • 10 से 15 मिनट के मध्यांतरों पर अवकाश लीजिए। प्रत्येक अवकाश के बाद, प्रयोजन के अनुसार आहत स्थान पर सेंक लगाना जारी रखिए।

घरेलू उपचार

लौंगों का उपयोग करते हुए उस स्थान को सुन्न कर दीजिए

लौंगों का एक स्वाभाविक सुन्न करने वाला प्रभाव होता है और वे जीवाणुओं को मारने में भी प्रभावी होते हैं। अपने दाँत के दर्द से छुटकारा पाने के लिए आप पूरे लौंग का, लौंग चूर्ण का, या लौंग के तेल का उपयोग कर सकते हैं।

  • यदि लौंग चूर्ण का उपयोग कर रहे हैं, तो दर्द कर रहे मसूड़े और गाल के बीच साफ हाथों से एक चुटकी लौंग लगा दीजिए। जैसे ही लौंग आपकी राल से घुलेगा, सुन्न करने वाला गुण काम करने लगेगा।
  • पूरे लौंगों के लिए, दर्द कर रहे स्थान के पास साफ हाथों से दो या तीन लौंगों को रख दीजिए। जब आपकी राल उन्हें नरम कर देती है, तब लौंगों को हल्के से चबाइए जिससे उनका अधिक तेल निकल सके।
  • लौंग के तेल की कुछ बूँदों को 1/2 चम्मच या (2.5 ml) जैतून के तेल के साथ मिलाइए। एक जीवाणुरहित रूई के गोले को इस मिश्रण में भिंगोइए, तब इसे अपने दाँत या मसूड़े के दर्द कर रहे भाग के साथ लगा कर रखिए।

नमक पानी के साथ कुल्ला कीजिए

नमक मुख को बैक्टीरिया से खाली कर सकता है और दर्द कर रहे दाँत के इर्दगिर्द सूजे हुए मसूड़े से नमी सोख सकता है, जिससे उस स्थान पर आराम मिलता है।

  • 1 चम्मच (5 ml) नमक को 8 oz (250 ml) गरम पानी के साथ मिला लीजिए।
  • 30 सेकंड तक कुल्ला करते रहिए उसके बाद थूक दीजिए । जैसी आवश्यकता हो इसे दोहराइए।

लहसुन या प्याज आजमाइए

दोनो सब्जियाँ दाँत दर्द के लिए परंपरागत लोक उपचार हैं और माना जाता है कि इनमें जीवाणु-नाशक गुण हैं जो मुख के जीवाणुओं को मारने में भी सक्षम हैं।

  • लहसुन या प्याज का एक छोटा सा टुकड़ा दर्द करते हुए दाँत या मसूड़े और उसके पास वाले गाल के बीच अटका दीजिए। दर्द कम हो जाने तक इसे वहीं रखिए।

व्हीट ग्रास जूस (wheat grass juice) से कुल्ला कीजिए

माना जाता है कि यह जूस मसूड़ों से टॉक्सिन्स को खींच लेती है, जिसके फलस्वरूप जीवाणुओं का बढ़ना रुक जाता है।

  • गेहूँ की घास का रस किसी हेल्थ फूड दुकान (health food store) से लीजिए और दिन में कई बार कुल्ले करने में इसका उपयोग कीजिए। उपयोग करते समय रस को मुख में दर्द के स्थान इसे हिलाने पर ध्यान रखें।

बेबेरी (bayberry) की लेई बनाएँ

बेबेरी को लेई बनाने के लिए सिरका के साथ मिलाएँ, जो दाँत दर्द से छुटकारा दिलाता है और मसूड़ों को मजबूत बनाता है।

  • 1-inch (2.5-cm) बेबेरी की छाल के टुकड़े को 1/4 tsp (1.25 ml) सिरके के साथ पीस दीजिए। लेई बनाने की आवश्यकता के अनुसार अधिक छाल या सिरका मिलाइए।
  • लेई को अपने मुख के दर्द वाले स्थान पर सीधे लगा दीजिए और दर्द कम होने तक वहीँ रखे रहिए। तब, कुनकुने पानी से कुल्ला करते हुए इसे निकाल दीजिए।

अदरख और तेज लाल मिर्च की लेई बनाइए

यदि आपके दाँत संवेदनशील हैं, तो दर्द से राहत के लिए पिसे हुए अदरख, पीसी गई लाल मिर्च और पानी से बनी लेई को सीधे संवेदनशील स्थान पर लगाया जा सकता है।

  • पीसे हुए अदरख की एक चुटकी को एक कप में रखिए। पानी की कुछ बूँदे तब तक मिलाते जाइए जब तक इन अवयवों को साथ हिला कर लेई बना ली जाए।
  • लेई में एक जीवाणुरहित रूई का गोला डुबाइए। रूई को सीधे दाँत पर रख कर तब तक वहां रखे रहें जब तक दर्द कम न हो जाए।
  • इस उपचार को केवल प्रभावित दाँत पर लगाएँ। इसे मसूड़े के ऊतकों पर नहीं लगाएँ, क्योंकि इससे जलन हो सकती है।

लोबान के टिंचर का उपयोग कीजिए

लोबान के कसैले प्रभाव होते हैं जो दर्द भरे सूजन के कम करते हैं। यह जीवाणुओं को भी मारता है।

  • किसी छोटी डेगची में, 1 चम्मच (5 ml) पीसे हुए लोबान को 2 कप (500 ml) पानी में 30 मिनट तक गर्म कीजिए और तब इसे ठंढा होने दीजिए।
  • इस तरल के 1 चम्मच (5 ml) को 1/2 कप (125 ml) पानी के साथ मिलाइए और इस प्रकार बने घोल से प्रतिदिन पाँच छः बार कुल्ले कीजिए।

दर्द वाले स्थान पर गीली चाय की थैली लगाइए

काली चाय में कसैला टैनिन होता है जो सूजन को कम कर सकता है। पेपरमिंट वाली हरबल चाय में भी हल्का सुन्न करने वाला प्रभाव होता है।

  • चाय की थैली को पानी की एक छोटी तश्तरी में गर्म करने के लिए माइक्रोवेभ करें। अतिरिक्त पानी को निचोड़ कर निकाल दें।
  • दुखते दाँत या मसूड़े पर चाय की थैली को दबाएँ और दाँत से हल्के से काटें जब तक दर्द धीमा न हो जाए।

शराब का उपयोग करें

सीधे लगा देने पर, अल्कोहल में आपके दाँत के दर्द को सुन्न कर देने की क्षमता होती है।

  • एक जीवाणुरहित रूई के गोले को ब्रैन्डी या वोदका में भिंगो लें और दुखते दाँत के ऊपर रखें।
  • आप व्हिस्की की एक घूंट ले कर अपने मुख में दर्द कर रहे स्थान के पास गाल में रख सकते हैं।

 

 

 

Loading...

Leave a Reply