हार्ट अटैक और angioplasty का सफल घरेलु उपचार

0

भारत मैं सबसे ज्यादा मौते कोलस्ट्रोल बढ़ने के कारण हार्ट अटैक से होती हैं। आप खुद अपने ही घर मैं ऐसे बहुत से लोगो को जानते होंगे जिनका वजन व कोलस्ट्रोल बढ़ा हुआ हे। अमेरिका की कईं बड़ी बड़ी कंपनिया भारत मैं दिल के रोगियों (heart patients) को अरबों की दवाई बेच रही हैं ! लेकिन अगर आपको कोई तकलीफ हुई तो डॉक्टर कहेगा angioplasty (एन्जीओप्लास्टी) करवाओ। इस ऑपरेशन मे डॉक्टर दिल की नली में एक spring डालते हैं जिसे stent कहते हैं। यह stent अमेरिका में बनता है और इसका cost of production सिर्फ 3 डॉलर (रू.150-180) है। इसी stent को भारत मे लाकर 3-5 लाख रूपए मे बेचा जाता है व आपको लूटा जाता है। डॉक्टरों को लाखों रूपए का commission मिलता है इसलिए व आपसे बार बार कहता है कि angioplasty करवाओ। Cholestrol, BP ya heart attack आने की मुख्य वजह है, Angioplasty ऑपरेशन। यह कभी किसी का सफल नहीं होता। क्यूँकी डॉक्टर, जो spring दिल की नली मे डालता है वह बिलकुल pen की spring की तरह होती है। कुछ ही महीनो में उस spring की दोनों साइडों पर आगे व पीछे blockage (cholestrol व fat) जमा होना शुरू हो जाता है। इसके बाद फिर आता है दूसरा heart attack ( हार्ट अटैक ) डॉक्टर कहता हें फिर से angioplasty करवाओ। आपके लाखो रूपए लुटता है और आपकी जिंदगी इसी में निकल जाती हैं।

हार्ट अटैक का आयुर्वेदिक उपचार

अदरक (ginger juice) – यह खून को पतला करता है। यह दर्द को प्राकृतिक तरीके से 90% तक कम करता हें लहसुन (garlic juice) – इसमें मौजूद allicin तत्व cholesterol व BP को कम करता है। वह हार्ट ब्लॉकेज को खोलता है। नींबू (lemon juice) – इसमें मौजूद antioxidants, vitamin C व potassium खून को साफ़ करते हैं।ये रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity) बढ़ाते हैं। एप्पल साइडर सिरका ( apple cider vinegar) – इसमें 90 प्रकार के तत्व हैं जो शरीर की सारी नसों को खोलते है, पेट साफ़ करते हैं व थकान को मिटाते हैं

कुछ देसी नुस्खे

एक कप नींबू का रस लें; एक कप अदरक का रस लें; एक कप लहसुन का रस लें; एक कप एप्पल का सिरका लें

चारों को मिला कर धीमीं आंच पर गरम करें जब 3 कप रह जाए तो उसे ठण्डा कर लें, उसमें 3 कप शहद मिला लें, रोज इस दवा के 3 चम्मच सुबह खाली पेट लें जिससे सारी ब्लॉकेज खत्म हो जाएंगी।

इसके साथ में अर्जुन की छाल जो की हृदय रोगियों के लिए अमृत सामान हैं, और हृदय की सभी भयंकर बीमारियो के लिए शत प्रतिशत परिणाम देती हैं, इसका एक चम्मच और एक चौथाई चम्मच दाल चीनी का २ गिलास पानी में या (एक गिलास गाय का दूध और एक गिलास पानी मिक्स कर के) इसमें डाले, और इसको आधा रहने तक उबाले, फिर इसको छान कर रात को सोते समय पी ले।

अगर लौकी का मौसम है तो सुबह खाली पेट लौकी का जूस निकाले ५-५ पत्ते तुलसी और पोदीना के डाल कर इसमें स्वादानुसार सेंधा नमक डाल सकते हैं, इसको पीजिये।

तो ये तीनो प्रयोग हृदय रोगी को करने हैं। ३ महीने के बाद डॉक्टर खुद परेशान हो जायेंगे के उन्होंने आपका ही चेक अप किया था क्या ?

Loading...

Leave a Reply