गठिया का घरेलू इलाज और आयुर्वेदिक नुस्खे

0
gathiya ka gharelu ilaj

गठिया का घरेलू इलाज गठिया को बाय, गाउट और अर्थराइटिस से भी जानते है। इस रोग में जोड़ों, घुटने और हड्डियों में दर्द और सूजन की शिकायत होती है। आइये जानते हैं इस लेख में गठिया का घरेलु नुस्खा और आयुर्वेदिक उपचार सही तरीके से इसका ट्रीटमेंट किया जाये तो आसानी से गठिया के दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है। कुछ लोग घुटने और जोड़ों के दर्द के उपचार के लिए गठिया की दवा (मेडिसिन) लेते है तो कुछ लोग दर्द निवारक तेल और योग से अर्थराइटिस में दर्द के उपाय करते है।

गठिया के कारण

  • शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने पर joints pain और हड्डियो में दर्द की समस्या आने लगती है और अगर समय पर इसका इलाज ना करे तो धीरे धीरे ये गठिया बन जाता है।
  • शारीरिक श्रम ना करने पर भी अर्थराइटिस की समस्या हो सकती है।

गठिया का घरेलू इलाज

गठिया का घरेलू इलाज

  1. घरेलू तरीके से अर्थराइटिस का इलाज में सब से जरुरी है पानी जादा पीना। प्रतिदिन तीन से चार लीटर पानी जरुर पीना चाहिए, इससे शरीर में मौजूद हानिकारक पदार्थ पेशाब के रास्ते शरीर से बाहर निकल जाते है। इसके इलावा इस उपाय से बढ़ा हुआ यूरिक एसिड भी बाहर निकल जाता है। गठिया का घरेलू इलाज ही सबसे कारगर तरीका है गठिया से छुटकारा पाने के लिए

गठिया या जोड़ों के दर्द का घरेलू इलाज और आयुर्वेदिक नुस्खा

  1. इस रोग में 100 एम एल आलू का रस खाना खाने से पहले लेने से फायदा मिलता है।
  2. एक चम्मच मेथी बीज रात को सोने से पूर्व पानी में भिगो कर रखे और सुबह को इन्हें खाली पेट चबा चबा खाए। इस होम रेमेडी से गठिया बाय की समस्या से जल्दी आराम मिलता है।
  3. अर्थराइटिस से छुटकारा पाने के लिए विटामिन सी, कैल्शियम और जिंक प्रयाप्त मात्रा में ले।
  4. गठिया पूरी तरह से ख़तम करने के लिए ककड़ी, खीरा या तरबूज में से कोई भी एक का 1 गिलास जूस रोजाना खाली पेट पिए फिर दिन में कुछ ना खाए पिए। चाहे तो आप शाम को थोड़ा बहुत हल्का खा पी सकते है।

गठिया का इलाज By Rajiv Dixit Ji

  1. एक गिलास गाय के दूध में दस कलियां लहसुन की डाल कर पंद्रह मिनट तक गरम करे फिर ठंडा होने पर पिए। प्रतिदिन इस घरेलू नुस्खे को करने से गठिया की समस्या से जल्दी आराम मिलता है।
  2. संतरे और नींबू का रस शरीर में यूरिक एसिड को कम करने में असरदार है। रोजाना एक गिलास संतरे का जूस पिए। इसके इलावा दो नींबू एक गिलास पानी में निचोड़ कर पिए।
  3. गठिया की दवा घर पर बनाने के लिए थोड़ी सुखी अदरक ले और पीस कर इसका पाउडर बना ले। अब तीन चम्मच काली मिर्च पाउडर, छह चम्मच अदरक पाउडर और छह चम्मच जीरा पाउडर मिलाकर रख ले। अब इस मिश्रण का आधा चम्मच दिन में तीन बार पानी के साथ ले। इसके अतिरिक्त प्रतिदिन अदरक का 1 छोटा सा टुकड़ा चबाना भी फायदेमंद है।

गठिया रोग का रामबाण इलाज

  1. गठिया का अचूक इलाज है हल्दी। जोड़ों और घुटने के दर्द और सूजन को दूर करने में हल्दी इस्तेमाल करना अच्छा उपाय है।
  2. जोड़ों के दर्द का तेल में जैतून का तेल काफी उपयोगी है। जैतून के तेल से जोड़ों की मालिश करने से दर्द, सूजन और गठिया से राहत मिलती है। अदरक का तेल भी जोड़ों के लिए दर्द निवारक तेल है। इस तेल से जोड़ों की मालिश करने से गठिया के दर्द और सूजन से राहत मिलती है। आइये दोस्तों जानते हैं गठिया का घरेलू इलाज आयुर्वेदिक तरीके से

गठिया का आयुर्वेदिक उपचार

  1. गठिया का रामबाण इलाज, बथुआ के पत्तों का रस 50 एम एल की मात्रा में खाली पेट पीने पर अर्थराइटिस में तेज़ी से राहत मिलती है। इसे उपाय को करने के एक घंटा पहले और एक घंटा बाद कुछ न खाए पिए। बथुए के पत्तों को आटे में गूँथ कर इसकी रोटी खाने से भी आराम मिलता है।
  2. गिलोय, देवदारू, अरंड की जड़, सौंठ और लहसुन सब को पचास ग्राम की मात्रा में ले और पीस कर एक शीशी में भर ले। अब आपकी गठिया की आयुर्वेदिक दवा त्यार है। हर रोज सुबह शाम दो चम्मच मिश्रण एक गिलास पानी में डाल कर उबाले और पानी आधा रहने पर इसे छान ले और ठंडा होने पर पिए।
  3. एक छोटा चम्मच दालचीनी और 1 बड़ा चम्मच शहद मिलाकर गरम पानी के साथ रोजाना लेने से गठिया के उपचार में मदद मिलती है।

गठिया के लिए बाबा रामदेव का इलाज

  • गठिया के दर्द का इलाज बाबा रामदेव की दवा से करने के लिए पतंजलि के स्टोर से पीड़ान्तक वटी ले सकते है ये घुटने के दर्द, जोड़ों के दर्द और गठिया से छुटकारा पाने की आयुर्वेदिक मेडिसिन है। इस दवा को लेना का तरीका दवा की डब्बी पर लिखा होता है।
  • योग से भी गठिया और घुटने के दर्द में राहत मिलती है। ध्यान रहे की आप योगा गुरु से सिख कर ही गठिया के योगासन करे। इससे आप योग का सही तरीका जान सकेंगे और किसी भी तरह के नुकसान से बचे रहेंगे।

गठिया रोग में परहेज

दोस्तों गठिया का घरेलू इलाज करते समय हमें कुछ बातों का परहेज रखना चाहिए

  • विटामिन डी हड्डियों के विकास के लिए ज़रूरी है। सूर्य के किरणों में विटामिन डी होता है। एक हफ्ते में कम से कम दो दिन पंद्रह मिनट धूप में बैठा करे।
  • गठिया के रोग से प्रभावित रोगी को ना ही अधिक आराम करना चाहिए और ना ही जादा भाग दौड़ वाला काम करना चाहिए। जादा भाग दौड़ से जोड़ों को नुकसान हो सकता है और जादा आराम करने से जोड़ों में अकड़न आने लगती है।
  • ईमली, दही, पनीर,मक्खन और कच्चा आम खाने से परहेज करे।
  • अपना वजन ना बढ़ने दे।

 

 

Loading...

Leave a Reply