देश के बंटवारे के बाद सबसे पहले कांग्रेस ने लोकतंत्र की हत्या की थी नेहरू को PM बनाकर

0

बीजेपी ने गोवा और मणिपुर दोनों जगह पहले गवर्नर को विधायको की लिस्ट दी है, दोनों जगह विधायको को मिलाकर बीजेपी ने बहुमत पाया है, बहुमत और आंकड़ो के आधार पर बीजेपी ने सरकार बनाई है और यहाँ तक की सुप्रीम कोर्ट ने भी कांग्रेस का मुँह काला कर वापस लौटाया है

इतना सबके बाबजूद कांग्रेस का कहना है की लोकतंत्र की तो हत्या ही हो गयी है वैसे आपको बता दें की कांग्रेस ने इतने कुकर्म किये हुए है, इतने कुकर्म किये हुए है की कांग्रेस 1 शब्द बोलेगी तो हम उसके 2 कुकर्म सामने रख सकते है

याद कीजिये जब अंग्रेज दूसरे विषय युद्ध के बाद कमजोर पड़ गए, और यहाँ भारतीयों ने भी आज़ादी की लड़ाई तेज कर दी, क्रन्तिकारी, सैनिक, किसानों ने आज़ादी के लिए लड़ाई को और बल दिया तो अंग्रेज भारत से भी उखड़ गए

अंग्रेजो ने भारत की सबसे बड़ी पार्टी को बुलाया, उस समय कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी थी
अंग्रेजो ने कांग्रेस से कहा की वो भारत की सत्ता देकर वापस जाना चाहते है, ऐसे में कांग्रेस अपना प्रधानमंत्री चुन ले

कांग्रेस की देश के अलावा उस समय भी हर राज्य में कांग्रेस कमिटियां थी कांग्रेस ने सभी कमेटियों से वोट मंगाया

हज़ारों वोट पड़े, कांग्रेस नेताओं ने, पदाधिकारियों ने अपने अपने वोट डाले  कुल वोट का सरदार पटेल को 95% हिस्सा मिला और जवाहरलाल नेहरू को 5%

और कांग्रेस की कोर टीम में भी सभी ने पटेल को वोट दिया, पर नेहरू ने गाँधी से मिलकर लोकतंत्र की हत्या कर दी, और गाँधी ने अपना वीटो लगाकर, चूँकि कांग्रेस पर गाँधी का कण्ट्रोल था जवाहर लाल नेहरू को हमारे देश पर थोप दिया गया

और इस नेहरू ने क्या क्या किया, ये सब तो आप जानते ही हैं, भारत आज जिन समस्यायों से जूझ रहा है उसमे से अधिकतर नेहरू की ही देन है लोकतंत्र की बर्बरता से हत्या करने वाली कांग्रेस आज दूसरे को नैतिकता का पाठ पढ़ा रही है

Loading...

Leave a Reply