इसरायली सैनिकों ने और उनके बाप ने फिलिस्तीनी बच्चों के साथ जो किया, पूरी दुनिया को देखना होगा

0

विडियो देखकर स्पष्ट हो जाएगा कि कौन कायर है और कौन बहादुर, कौन चरमपंथी है और कौन एक असल फौजी जो अपनी मातृभूमि और अपने लोगों की रक्षा के लिए ड्यूटी पर तैनात है! विडियो देख कर ये भी साफ़ हो जायेगा की किस प्रकार इजराइल और फिलिस्तीन में इस्लामिक कट्टरपंथी, पागलपन और बेहूदापन अपने चरम पर है!

पहले ही बता दे रहे हैं कि मुस्लिम पिता ने अपने बच्चे के साथ किया, वो किसी भी इंसान झकझोर कर रख देगा

विडियो 1

इजराइल में ऐसा एक बार नहीं, अनेक बार हुआ है जब वहां इस्लामिक कट्टरपंथी, बच्चों और किशोर व किशोरियों पर बम बाँध कर, उन्हें इज्रयिली सुरक्षा बलों की तरफ भेज देते हैं! यही कारण है कि बहुत बार, सुरक्षा बलों को भी, परिस्थितियों को देखकर, सामने से बढ़े चले आ रहे निश्चित खतरे से निपटना पड़ता है! कोई भी व्यक्ति, जो किसी सभ्य समाज से सम्बन्ध रखता हो, यह सोचकर भी चकरा जाएगा की उसे आत्म-रक्षा के लिए, बम-विस्पोट से लदे ये या हाथ में राइफल लिए एक minor पर निशाना लगाना पड़ेगा! हम भगवान् से प्रार्थना करते हैं कि वह ऐसा दिन किसी को न दिखाए! लेकिन, प्रार्थना करने से, हमेशा तो स्थितियां नहीं बदलती! हमें कर्म करना पड़ता है और इस्राइली सैनिक इस बात को बखूबी समझते हैं! वो जानते हैं कि उन्हें खतरों से तो निपटाना है लेकिन, साथ ही साथ, एक बच्चे से, बच्चे वाला ही व्यवहार करना है! आइये देखते हैं क्या होता है जब कुछ फिलिस्तीनी मुस्लिम बच्चे, इस्राइली सैनिकों की ओर बढ़े चले आते हैं:

बच्चों के साथ इजराइल के सैनिकों के व्यवहार देखकर क्या लगता है? क्या ये मुसलमानों से नफरत करते हैं? क्या ये किसी पर अकारण गोलियां बरसाएंगे?

विडियो 2

अब चलिए देखते हैं दूसरा विडियो जो आपको हिला कर रख देखा! खुद इजराइल के प्रधानमंत्री ने इस विडियो को देखकर दुःख व्यक्त किया था कि इस घटना ने, उनकी अंतर-आत्मा तक को झकझोर कर रख दिया!

विडियो में, एक फिलिस्तीनी मुस्लिम पिता, अपने चार साल के बच्चे को लेकर आता है! फिर उस बच्चे को जबरदस्ती इसरायली सैनिकों की और लेके जाता है! सैनिकों से अपने चार साल के बच्चे को गोली मारने के लिए कहता है!

देखकर लगा मानों, प्रलय आ जाएगी! मानों, इस धरती से धर्म गायब हो गया है! अरे जानवर भी ऐसा नहीं करते! फिर ये मुस्लिम पिता कौन सी लड़ाई लड़ रहा है जो अपने चार साल के निर्दोष बच्चे को ऐसे लहरा है?

हमें यकीन है कि वहां खड़े इसरायली सैनिक भी इस घटना को अपने सामने देख, आजीवन इस सदमे में रहेंगे कि कैसे कोई पिता इतना निचे गिर सकता है! ये कैसा जिहाद है? ये कैसी लड़ाई है?

जैसा की इजराइल के प्रधानमंत्री ने कहा, फिलिस्तीनी मुस्लिम पिता का नीच से अति-नीच कृत्य, इस बात का गवाह है की इजराइल-फिलिस्तीन में आखिर झगड़ा क्यों है! इस बात का गवाह है की इस्लामिक चरमपंथ के चलते, दुनिया भर में, इस्लामिक चरमपंथियों (+ साइलेंट गुड मुस्लिम्स) और गैर-मुसलमानों की जंग क्यों हमेशा जारी रहेगी!

Loading...

Leave a Reply