कांग्रेसी मंत्री से रतन टाटा ने फ़ोन पर कहा – “तुम बेशर्म हो सकते हो मैं नहीं हूँ”, और काट दिया फ़ोन

0

जानना चाहेंगे कि वह बेशरम कांग्रेसी मंत्री कौन था ? सन 2008 की बात है देश के आर्थिक राजधानी मुम्बई पर पाकिस्तान के आतंकवादियों ने हमला किया…उसमें खास कर होटल ताज को निशाना बनाया गया, आतंकवादियो का एक ग्रुप उसके अन्दर घुस गया और चुन चुन कर लोगों को मारा और पूरे होटल को बर्बाद कर दिया ।

2 दिन चले कमांडो ऑपेरशन के बाद सारे आतंकवादियो को मार दिया गया और एक को ज़िन्दा गिरफ्तार किया गया… यहाँ तक का सारा किस्सा आप लोग जानते ही हैं क्योंकि घटना बहुत भयानक थी और कुछ वर्ष पूर्व ही घटी थी।… अब आगे है आज इस घटना को लिखने का कारण….

उस आतंकवादी घटना के बाद ताज होटल के मालिक श्री रतन टाटा ने होटल ताज की मरम्मत के लिये ग्लोबल टेंडर निकाला (ज़िसमे पूरे विश्व के देश हिस्सा ले सकते थे) अब उस टेंडर को पाकिस्तान की कम्पनी ने भी भरने की कोशिश की पर श्री रतन टाटा ने उस पाकिस्तानी कम्पनी को इसकी अनुमति नहीं दी। और उनसे मिलने आये कम्पनी के मालिक पाकिस्तानियों से मिले बिना ही उनको अपने दफ्तर से भगा दिया था। … बात यहीं खत्म हो गयी होती…

 

लेकिन दो दिन के बाद टाटा द्वारा रिजेक्ट हुए कम्पनी के पाकिस्तानी मालिक दिल्ली पहुंच गए …कोंग्रेस की सरकार थी, अतः सीधे काँग्रेस के एक बहुत बड़े नेता के पास गए और उसे सारी बात बताई । उस बड़े नेता ने तुरंत श्री रतन टाटा को फोन लगाया और बोला की यह पाकिस्तान के अच्छे बिजनेसमैंन हैं आप अपना काम इन्ही को दीजिये ।

इतना बोलना था कि श्री रतन टाटा जो बिना गुस्साये हुए बोलते हैं उन्होंने उस कांग्रेसी नेता से कहा कि… YOU COULD BE SHAMELESS, I AM NOT (आप बेशरम और बेगैरत हो सकते हो, मैं नहीं)
और फोन काट दिया ।

जानना चाहेंगे वह कांग्रेसी मंत्री कौन था…??? तो जानिए कि वो कांग्रेसी मंत्री वही आनन्द शर्मा था जो आजकल संसद में देशभक्ति की बड़ी बड़ी बातें कर के राज्यसभा में कांग्रेसियों से भयंकर हंगामा करवाता है। राज्यसभा चलने नहीं देता है। और दावा करता रहता है कि उसको देश की बड़ी चिन्ता है …

इसी आनन्द शर्मा ने श्री रतन टाटा को फोन कर के ताज होटल की मरम्मत का ठेका पाकिस्तानियों को देने की सिफारिश की थी। अब आनंद शर्मा पाकिस्तानी कंपनी से मोटा कमीशन खा रहे थे या क्या कारण थे, ये जांच का विषय है

नोट : आपको याद होगा पिछले दिनों राहुल गाँधी ने चीनी राजदूत से गुपचुप मुलाकात की थी, आनंद शर्मा भी उस मीटिंग में मौजूद था

Loading...

Leave a Reply