कैश का भंडार बनाया हुआ था केजरीवाल ने, नोटेबंदी से हुआ था इसे सबसे बड़ा नुकसान

0

नोटबंदी पर मोदी को किस नेता ने सबसे अधिक गालियां दी थी, जी हां कांग्रेस के नेताओं से भी अधिक, यहाँ तक की ममाता बनर्जी से भी अधिक अरविन्द केजरीवाल ने ही दी थी नोटबंदी पर नरेंद्र मोदी को सबसे अधिक गालियां

और आज साफ़ हो गया, की केजरीवाल नोटबंदी का इतना विरोध क्यों कर रहा था बता दें की आज कपिल मिश्रा ने केजरीवाल पर खुलासा किया की, मेरे सामने केजरीवाल ने सत्येंद्र जैन से 2 करोड़ रुपए कैश में लिया, और जब मैंने पूछा की ये क्या है  तो केजरीवाल ने कहा की, अभी नहीं बताऊंगा, राजनीती में लेना देना पड़ता है

उसके बाद कुछ पत्रकारों ने कपिल मिश्रा से पूछा की बताइये की क्या आपके सामने, और सबके सामने ही सत्येंद्र जैन ने केजरीवाल को पैसे दे दिए तो कपिल मिश्रा ने ये कहा की, ऐसा तो आये दिन होता होगा, शर्म मिट चुकी थी, और ऐसे लेनदेन बिना किसी शर्म के खुलेआम मुख्यमंत्री आवास में होते होंगे

यानि साफ़ है की केजरीवाल ने सत्येंद्र जैन से 2 करोड़ लिया, ये अपने आप में इकलौती ऐसी लेनदेन नहीं थी, बल्कि इस से पहले भी केजरीवाल ने ऐसे कई लेनदेन किये यानि केजरीवाल ने करोडो अरबों रुपए पिछले 2 सालों में अलग अलग लोगों से मुख्यमंत्री आवास में लिए

और ये पैसे अवैध थे तो केजरीवाल इनको बैंक में भी नहीं जमा करवा सका, अन्यथा इनकम टैक्स का अलग केस बन जाता, जाहिर है केजरीवाल ने कैश यानि नकद रुपयों को अपने घर में और अन्य नेताओं के घरों में ही रखवाया

और जब नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की तो अचानक से केजरीवाल के ये सारे नोट बर्बादी की ओर पहुँच गए और इसी कारण केजरीवाल ने नरेंद्र मोदी से ये भी मांग करी थी की, नोटेबंदी को 15 दिनों के लिए स्थगित किया जाये, नरेंद्र मोदी ने ऐसी मांग नहीं मानी तो केजरीवाल ने मोदी पर 8 लाख करोड़ के घोटाले का लगाया आरोप, और नोटबंदी पर कई दिनों तक प्रदर्शन किया, मोदी को जमकर गालियाँ दी

Loading...

Leave a Reply