बिहार के उपमुख्यमंत्री ने पेपर से पढ़के दिया भाषण, ठीक से पढ़ भी नहीं पा रहे थे मंत्री जी

0

बिहार का उपमुख्यमंत्री और साथ ही साथ वित्तमंत्री ऐसे है की अगर उनके हाथ से ये पर्ची कहीं छूट जाये, या हवा में उड़ जाये तो ये महाशय  1 शब्द भी बोल नहीं सकेंगे, और हाथ जोड़कर फ़ौरन भाषण छोड़ भाग खड़े होंगे

तेजस्वी यादव बिहार के उपमुख्यमंत्री है और आज वो जनतंत्र दिवस के मौके पर बच्चों और लोगों को बिहार में भाषण दे रहे थे, भाषण के एक एक शब्द वो एक पर्ची से पढ़ रहे है, हालात ये थे की मंत्री जी पर्ची को ठीक से पढ़ भी नहीं पा रहे थे
अटक अटक कर हिंदी पढ़ रहे थे, हिंदी तो बिहारियों की मूल भाषा है पर कदाचित इनको हिंदी भी ठीक से पढ़ना नहीं आता

बिहार वालो ने इनको किसी खास क्वालिटी के कारण चुना है ऐसा बिलकुल नहीं है, ये महाशय तो जाति के कारण चुने गए है, महान बिहारियों ने जातिवाद के कारण ही ऐसा महान उपमुख्यमंत्री और वित्तमंत्री पाया है ऐसे ही थोड़ी बिहार देश का सबसे पिछड़ा इलाका है यही बिहारियों की चॉइस है, और उनको राज्य के बाहर कोई अपमानित करता है तो वो आरोप केवल दूसरों पर लगाते है, जबकि स्वयं उन्होंने बिहार में ये कचरा चुना है

वैसे ये जनाब तो 8वीं तक कैसे न कैसे पढ़े भी हैं, इनकी माता तो पहली तक भी नहीं पढ़ी, ये तो उपमुख्यमंत्री है वो तो मुख्यमंत्री भी रह चुकी है हमे तो ये पोस्ट लिखते हुए बड़ा दुःख का अनुभव हो रहा है क्योंकि ये बिहार वही महान मगध था जिसने इस देश को भारत की शक्ल दी थी, ये बिहार चाणक्य, वाल्मीकि, आर्यभट्ट, चंद्रगुप्त की भूमि और आज किस स्तिथि में है, थू जातिवाद पर

Loading...

Leave a Reply