भारत के रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के स्वागत को बेताब पेंटागन, पाकिस्तान को हुई टेंशन

0

दुनिया में देश की बढ़ती ताकत का अंदाजा अब भारतीय नेताओं के विदेश दौरों के दौरान दिखने लगा है। पीएम मोदी तो जहां जाते हैं वहां वो छा जाते हैं लेकिन अब मंत्रिमंडल के दूसरे मंत्रियों को भी अहसास होने लगा है कि भारत की ताकत कितनी बढ़ गई है। रक्षा मंत्री मनोहर पार्रिकर अमेरिका के दौरे पर जाने वाले हैं। उनके स्वागत के लिए दुनिया के सबसे ताकतवर देश का सबसे अहम विभाग पेंटागन बेताब है।

पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की दोस्ती का असर भी दोनों देशों के संबंधों में दिखने लगा है। जो रिश्ता मोदी और ओबामा का है ठीक कुछ उसी तरह के संबंध अमेरिकी रक्षा मंत्री एश्टन कार्टर और पार्रिकर के बीच भी देखने को मिल रहा है। दोनों देशों के रक्षामंत्री फिर से मिलने वाले हैं। पेंटागन में रक्षा मंत्री पार्रिकर के स्वागत के बाद एशनट कार्टर उनसे मुलाकात करेंगे।

मनोहर पार्रिकर पेंटागन में 9/11 के हमले में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि भी देंगे। रक्षामंत्री का ये दौरा अमेरिका द्वारा भारत को प्रमुख साझेदार देश का दर्जा देने के बाद हो रहा है। अमेरिकी रक्षामंत्री एश्टन कार्टर के साथ रक्षामंत्री की ये छठी मुलाकात होगी। दोनों नेता बैठक के बाद साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस को भी संबोधित करेंगे। इस से पहले एश्टन कार्टर ने भारत की यात्रा के दौरान पार्रिकर से मुलाकात की थी।

पार्रिकर अमेरिकी दौरे पर अहम समझौते कर सकते हैं। वो अमेरिका से ड्रोन विमानों की मांग कर सकते हैं। भारत की इस मांग को अमेरिका पहले ठुकरा चुका है। लेकिन अब भारत MTCR का सदस्य बन चुका है। ऐसे में ड्रोन विमानों के साथ भारत को अमेरिका से अहम रक्षा उपकरण भी मिल सकते हैं। यही बात भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान को खाए जा रही है। जो रक्षामंत्री पार्रिकर के अमेरिका दौरे पर नजर टिकाए बैठा है।

Loading...

Leave a Reply