जश्न-ए-आजादी पर जानिए देश की ताकत, पाकिस्तान के लिए काल है ये मिसाइल

0

आजादी के जश्न का वक्त आ गया है। आजादी के 70 साल बाद देश ने तरक्की के नए सोपान बनाए हैं, चहुंओर विकास के साथ देश की सैन्य ताकत में भी काफी इजाफा हुआ है। भारत के दो पड़ोसी देश पाकिस्तान और चीन के साथ संबंध तनावपूर्ण हैं। खासतौर पर पाकिस्तान तो लगातार देश के खिलाफ आतंकी साजिशें रचता रहता है। आपको 15 अगस्त के मौके भारत की शक्ति की एक नजीर दिखाते हैं, जिस से पाकिस्तान की रूह कांप जाएगा।

भारत ने परमाणु हथियार ले जाने वाली मिसाइलों के क्षेत्र में बड़ी कामयाबी हासिल की है। K-4 नाम की इस मिसाइल की परीक्षण बंगाल की खाड़ी में अज्ञात जगह पर किया गया था। ये परीक्षण सफल रहा था। इसी के साथ भारत ने उन चुनिंदा देशों में खुद को शुमार कर लिया है जिनके पास इस तरह की मिसाइलें हैं। रूस, अमेरिका, फ्रांस और चीन के बाद भारत पांचवा देश है जिसके पास परमाणु हथियार ले जाने वाली K-4 मिसाइलें हैं।

भारत ने इस मिसाइल का परिक्षण अरिहंत पनडुब्बी से किया। पानी से लॉन्च होने के कारण ये मिसाइलें भारत के लिए काफी अहम है। खास बात ये है कि इस पूरी तरह से भारत में विकसित किया गया है। अरिहंत पनडुब्बी भी पूरी तरह से भारत में निर्मित है। K-4 एक समय में 2 हज़ार किलो तक गोला बारूद अपने साथ ले जाने में सक्षम हैं। इसकी मारक क्षमता 3,500 किलोेमीटर तक की है।

पानी के भीतर से मिसाइल छोड़ने वाला भारत दुनिया का पांचवा देश बन गया है। K-4 के सफल परीक्षण के बाद भारत के परमाणु हथियार कार्यक्रम को और ज्यादा मजबूती मिलेगी। इसी के साथ भारत ने हवा, जमीन और पानी से लंबी दूरी की परमाणु मिसाइल दागने की क्षमता भी विकसित कर ली है। के-4 मिसाइल को पानी के 20 फीट अंदर से भी दागा जा सकता है। इसका नाम पूर्व राष्ट्रपति और मिसाइल मैन कहे जाने वाले एपीजे अब्दुल कलाम के नाम पर रखा गया है।

Loading...

Leave a Reply