मैं प्रेस्सया हूँ, वैश्या भी हूँ, राक्षस भी हूँ, प्रेस्सया होने पर गर्व” : बरखा दत्त

0

देश विरोध, पाकिस्तान समर्थन, हिन्दू विरोध की कथित रूप से पत्रकारिता करने वाली बरखा दत्त लोगों के तंज सुन सुन कर बौखला गयी और बौखलाहट में बरखा दत्त ने सच स्वीकार भी कर लिया और बड़ी बेशर्मी से उसे लिखा देखें

barkha-tweet

बरखा दत्त कहती है की हां मैं प्रेस्सया हूँ, वैश्या भी हूँ, और राक्षसनि भी हूँ और लोगों का खून पीती हूँ साथ ही बरखा दत्त ने ये भी ऐलान किया की उसे प्रेस्सया होने पर गर्व है बरखा दत्त ने बताया की लोग चाहे जो भी कर लें वो हिन्दू विरोध, भारत विरोध, पाकिस्तान समर्थन की तथाकथित पत्रकारिता करती ही रहेगी।

Loading...

Leave a Reply