अशांत हालात में क्या करना है ये दूर बैठा कोई नेता नही , ड्यूटी कमांडर तय करेगा : विपिन रावत

0

जबसे मेजर गोगोई को सम्मानित किया गया है देश भर के बहुत से नेता बुद्धिजीवी और मीडिया के पत्रकारों को बड़ी तकलीफ पहुँच रही है ये लोग दर्द से कराह रहे है और आज इनके दर्द पर सेना प्रमुख ने जैसे नमक ही रगड दिया. बता दें ,आज सेना प्रमुख ने सेक्युलर नेताओं को बुरी तरह लताड़ दिया है वैसे इससे ये साबित होता है कि सेना प्रमुख के साथ देश के प्रधानमंत्री भी है तभी सेना प्रमुख इतने कठोर हो सके, सेना के साथ सरकार है

सेना प्रमुख विपिन रावत ने मेजर गोगोई का साथ दिया है और कहा है कि मेजर गोगोई ने बिलकुल सही काम किया, और ऐसा कार्य सम्मान के योग्य है. इसके साथ ही विपिन रावत ने ये भी कहा है कश्मीर के हालात सही नही है, सैनिको को हालात को काबू में लाने की ड्यूटी दी जाती है ताकि वहां पर शांति स्थापित हो सके

सेना टुकडियों में चलती है और हर टुकड़ी का अपना अलग-अलग कमांडर होता है कमांडर के इशारे पर वो टुकड़ी काम करती है . मेजर गोगोई को भी अशांत हालात को काबू में करने का जिम्मा दिया गया है और उन्होंने बिलकुल सही कार्य किया है . अशांत हालात में क्या कार्यवाही करनी चाहिए वो दूर बैठकर कोई नेता नही बता सकता है

 

Loading...

Leave a Reply