क्या कट्टरपंथी मुसलमान अपने मेहमान को खाने में थूक कर खिलाते हैं

0

दोस्तों इस बात को पढ़कर जितनी हैरानी आपको हो रही है ठीक इतनी ही हमे भी हुई थी कि मुसलमान घर आए मेहमान को खाने में थूक मिलाकर खाना खिलाते है अब इस बात में कितनी सच्चाई है इसका पता तब चला जब ये बात खुद एक मौलवी के मुंह से सुनने में मिली और आपको यकीन नही होगा लेकिन जो मौलाना सभी मुसलमानों को शिक्षा देते है वह क्यों झूठ कहने लगे .

कितने शर्म कि बात है न मुस्लिम समाज में मेहमानों के साथ किस तरह का व्यवहार किया जाता है खाने में भी थूक मिला देते है घिन्न आती है ये सब सुनकर लेकिन इसके विपरीत हिन्दू समाज में अतिथियों का सत्कार किया जाता है उन्हें भगवान का दर्जा दिया जाता है उनके खाना खाने तक घर के सदस्य खाने को हाथ तक नही लगाते है पर मुस्लिम समाज में ये सब कहाँ होने वाला है

यदि आप सोच रहे हो कि क्या हम सच कह रहे है क्या सचमुच मुसलमान खाने में थूक खिलाते है तो अपने इन सवालों का जवाब पाने के लिए आपको ऐसे बहुत से मुस्लिम मिल जायेंगे जो आपको बताएंगे कि मुस्लिम थूक कर खिलाते है।

मौलवियों से जब थूककर खाना खिलाने के बारे में पूछा गया तो उनका जवाब !

बहुत से मौलवियों से जब इस बारे में पूछा गया तो उनके मुहं से कोई जवाब नही निकल पाया या यूँ कह लें तो कुछ गलत नही होगा हम उन मौलवियों तक पहुँच ही नही पाए जो इसकी हकीकत जानते थे इस बारे में शिया मौलवी से भी पूछा गया और सुन्नी मौलवी से भी लेकिन दोनों ने प्रश्न सुनते ही अपने कान बंद कर लिए हो सकता है उन्हें अपनी सच्चाई सामने आने का डर हो ।

ये बात तो आप सभी भलीभांति जानते ही है कि मुस्लिम समाज में आए दिन मौलाना फतवे जारी कर देते है मुस्लिमों के खाने में थूक मिलाकर खाना खिलाने की बात सुनकर क्या आप भी जाना चाहोगे उनके घर खाना खाने । हम ये नही कहते सभी मुसलमान इस तरह का व्यवहार करते है या नही लेकिन जितना पता चला है उसके मुताबिक़ आपको जानकारी दे रहे है ।

इसके बारे में अगर दो टूक बात करनी हो तो वो ये है कि कुछ लोग शायद ऐसा करते हो सकते हैं लेकिन अधिकतर मुस्लिम ऐसा बिलकुल नहीं करते और खाने में थूकने वाली बात पुराने समय की या फैलायी हुई ज़्यादा लगती है वैसे भी ये शिया मुस्लिमों पर लागू होती है ऐसा कहा जाता है ।

Loading...

Leave a Reply