आज 27 फ़रवरी : 59 रामभक्तों का श्रद्धांजलि दिवस, इनको भूल गया हिन्दू समाज

0

वो बाबरी ढाँचे का मातम आजतक मनाते है, अफ़ज़ल गुरु नाम के आतंकी की वर्षी मनाते है पर हिन्दू समाज…………

27 फ़रवरी आज ही का दिन जब 2002 में कई हिन्दू भगवान् राम की नगरी अयोध्या से वापस गुजरात अपने घरों को जा रहे थे, ट्रैन आती है अहमदाबाद के गोधरा स्टेशन पर जो की सम्पूर्ण मुस्लिम बाहुल्य इलाका था छोटा सा स्टेशन था गोधरा

2000 की जिहादी भीड़ हथियार लेकर पहुँच जाती है, तलवार, डंडे, हिन्दुओ को ट्रैन के कोच में ही बंद कर दिया जाता है, पेट्रोल छिड़का जाता है और कोच में आग लगा दी जाती है  59 हिन्दू जिन्दा जला दिए जाते है

मरने वालो में छोटे बच्चे, महिलाएं भी शामिल होती है, धु धु करती ट्रैन जल जारी है और हिन्दुओ के शव राख बन जाते है, मुख्य साजिशकर्ता होते है “हुसैन सुलेमान मुहमद” और “फारुख बन्ना”

सेक्युलर मीडिया गुजरात दंगा, गुजरात दंगा चिल्लाती है  पर इन 59 हिन्दुओ को जिन्हें जिन्दा जलाकर जिहादियों ने दंगे की शुरूवात की इसपर वही मीडिया कभी चर्चा भी नहीं करती है

हिन्दू समाज भी इन 59 रामभक्तों को भुला चूका है, खैर दैनिक भारत नहीं भुला और न भूलेंगे हम इन 59 रामभक्तो के श्रद्धांजलि दिवस पर दुखी ह्रदय से इन सभी को श्रद्धांजलि देते है, जय श्री राम, राम इनकी आत्मा को शांति दें

नोट : हम आपसे केवल शेयर की याचना करते है, चूँकि आज के दिन तो लोग क्या हुआ था भूल ही चुके है, और न कोई मीडिया वाला बताने वाला है, आपको शेयर करना चाहिए

Loading...

Leave a Reply