हिन्दू आतंक साबित करने के लिए कांग्रेस ने, निर्दोष सैनिक को बनाया आतंकी अब पाप आया सामने

0

कांग्रेस का एक और पाप सामने आया है, हिन्दू आतंकवाद साबित करने के लिए कांग्रेस ने एक निर्दोष और अपनी ड्यूटी कर रहे सैन्य अफसर को आतंकी बना दिया और उसे जेल में डाल दिया पूरा मामला हम आपको विस्तार से बताते है, 2008 में महाराष्ट्र के मालेगांव में बम विस्फोट हुआ था, जिसे सोनिया मनमोहन सिंह की सरकार ने हिन्दू आतंकवाद बता दिया था, और हिन्दू आतंकवाद साबित करने के लिए हिन्दुओ की गिरफ़्तारी करवाई थी

जिसमे साध्वी प्रज्ञा तो है ही, साथ में सेना के एक अफसर कर्नल पुरोहित को भी कांग्रेसी सरकार ने गिरफ्तार किया था, साध्वी प्रज्ञा पर आजतक चार्जशीट दाखिल नहीं हो पायी क्योंकि उनके खिलाफ कोई सबूत ही नहीं है पिछले दिनों की NIA ने कोर्ट को कहा था की, अगर कोर्ट साध्वी प्रज्ञा को जमानत देती है तो NIA को कोई आपत्ति नहीं है

अब बड़ा खुलासा कर्नल पुरोहित पर हुआ है, आप जानकार चौंक जायेंगे की 2009 में ही महाराष्ट्र ATS ने कहा था की कर्नल पुरोहित के खिलाफ कोई सबूत नहीं है और आजतक कर्नल पुरोहित के खिलाफ FIR तक नहीं हो सकी है, अप्रैल 2016 में रक्षामंत्री पर्रिकर ने कर्नल पुरोहित से जुड़े दस्तावेज सेना से मंगवाए थे जिसमे बेहद चौंकाने वाली बात सामने आयी है

दरअसल सोनिया मनमोहन की सरकार ने सेना के इस अफसर पर आरोप लगाया था की, ये सेना के बारूद को हिन्दुओ को दे रहे थे और उसी से विस्फोट किया गया और साथ ही साथ ये मालेगांव जो की मुस्लिम बाहुल्य इलाका है, वहां भी कई दफा जा चुके थे

अब सेना ने रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर को जो दस्तावेज सौंपे है, उस से साफ़ होता है की, कर्नल पुरोहित मालेगांव जो की मुस्लिम बाहुल्य इलाका है वहां अपनी मर्जी से नहीं बल्कि सेना की ड्यूटी के लिए जाते थे, और सेना ने कर्नल पुरोहित को वहां तैनात किया था, कर्नल पुरोहित सेना के इंटेलिजेंस यानि ख़ुफ़िया विभाग में काम कर रहे थे

पिछली सरकार ने ये दस्तावेज कोर्ट को सौंपने से इनकार कर दिया अब मौजूदा सरकार सेना ने सेना के इस दस्तावेज को कोर्ट को सौंप दिया है, और अब कहा जा सकता है की कर्नल पुरोहित को जल्द ही जेल से मुक्ति भी मिल जाएगी कांग्रेस ने हिन्दू आतंकवाद साबित करने के लिए बहुत बड़ी बड़ी साज़िशें रची, पर धीरे धीरे उन सबसे पर्दा उठ रहा है, अब जल्द ही साध्वी प्रज्ञा और कर्नल पुरोहित बाहर होंगे

Loading...

Leave a Reply